लिस्टिंग के बाद से 75% घटी Paytm की मार्केट वैल्यू, टूट गया 10 वर्षों का ग्लोबल रिकॉर्ड

By Ritika Singh
November 25, 2022, Updated on : Fri Nov 25 2022 09:04:56 GMT+0000
लिस्टिंग के बाद से 75% घटी Paytm की मार्केट वैल्यू, टूट गया 10 वर्षों का ग्लोबल रिकॉर्ड
Paytm ने नवंबर 2021 में शेयर मार्केट में डेब्यू किया था और तब से लेकर अब तक कंपनी की मार्केट वैल्यू 75 प्रतिशत से ज्यादा नीचे आ चुकी है.
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

Paytm की पेरेंट कंपनी One 97 Communications की मुश्किलें कम होती नजर नहीं आ रही हैं. पहले तो कंपनी का नवंबर 2021 में आया मेगा आईपीओ फ्लॉप रहा. पेटीएम का घाटा बढ़ता जा रहा है और हाल ही में सॉफ्ट बैंक ग्रुप ने कंपनी में अपनी हिस्सेदारी कम कर दी है. पेटीएम ने नवंबर 2021 में शेयर मार्केट में डेब्यू किया था और तब से लेकर अब तक कंपनी की मार्केट वैल्यू 75 प्रतिशत से ज्यादा नीचे आ चुकी है.


ब्लूमबर्ग की एक रिपोर्ट के मुताबिक, वन97 कम्युनिकेशंस के शेयरों में लिस्टिंग के बाद से आई गिरावट, पिछले 10 वर्षों में बड़े IPOs के बीच पहले साल की सबसे खराब गिरावट है. इतना ही नहीं पेटीएम का दर्द और बढ़ने की आशंका है. इसकी वजह बन सकती है रिलायंस इंडस्ट्रीज के स्वामित्व वाली Jio Financial Services (JFS).


हाल ही में मैक्वेरी रिसर्च ने अपनी एक रिपोर्ट में कहा है कि JFS, वित्तीय सेवा देने वाली भारत की पांचवीं सबसे बड़ी कंपनी बन सकती है. मैक्वेरी के विश्लेषकों के अनुसार, मुकेश अंबानी की रिलायंस के पास पहले से ही एक नॉन-बैंकिंग फाइनेंस कंपनी का लाइसेंस है, जिसका उपयोग वह बड़े पैमाने पर उपभोक्ता और मर्चेंट लेंडिंग को किकस्टार्ट करने के लिए कर सकती है. इससे पेटीएम और बजाज फाइनेंस जैसी कंपनियों के लिए ग्रोथ व मार्केट शेयर को लेकर बड़ा रिस्क पैदा हो सकता है.

10 साल पहले किस कंपनी के साथ हुआ था ऐसा

ब्लूमबर्ग की रिपोर्ट में कहा गया है कि पेटीएम की शेयर बाजार में लिस्टिंग से लेकर अब तक कंपनी का मार्केट कैप 75% घट चुका है. यह गोता पिछले 10 साल में IPOs के बीच वैश्विक स्तर पर किसी कंपनी की लिस्टिंग के सबसे पहले वर्ष की सबसे बड़ी गिरावट है. इससे पहले साल 2012 में स्पेन के बांकिया एसए के मामले में ऐसा हुआ था, उस वक्त कंपनी की स्टॉक मार्केट लिस्टिंग के पहले वर्ष के अंदर ही कंपनी का मार्केट कैप 82% घट गया था.

किस प्राइस पर लिस्ट हुआ था शेयर

पेटीएम का शेयर 18 नवंबर 2021 को BSE पर 1955 रुपये यानी 9.07 फीसदी डिस्काउंट के साथ पर लिस्ट हुआ था. वहीं आईपीओ इश्यू प्राइस 2150 रुपये था. यानी एक शेयर पर निवेशक को 195 रुपये प्रति शेयर का घाटा हुआ. NSE पर कंपनी का शेयर 9.3 फीसदी डिस्काउंट के साथ 1,950 रुपये पर लिस्ट हुआ था. इस वक्त पेटीएम का मार्केट कैप बीएसई के मुताबिक 29,780.01 करोड़ रुपये है.