रतन टाटा चुने गए PM-Cares फंड के चेयरमैन, ये मशहूर हस्तियां बनीं ट्रस्टी

By रविकांत पारीक
September 21, 2022, Updated on : Wed Sep 21 2022 10:14:44 GMT+0000
रतन टाटा चुने गए PM-Cares फंड के चेयरमैन, ये मशहूर हस्तियां बनीं ट्रस्टी
पीएम नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में हुई बैठक में केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह, केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण और नए नामित ट्रस्टी शामिल हुए है. प्रधानमंत्री कार्यालय ने एक बयान में कहा कि पीएम मोदी ने पीएम केयर्स फंड का अभिन्न अंग बनने के लिए ट्रस्टियों का स्वागत किया है.
Clap Icon0 claps
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Clap Icon0 claps
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

देश के सबसे सम्मानित उद्योगपति और टाटा संस (Tata Sons) के मानद चेयरमैन रतन टाटा (Ratan Tata) को पीएम केयर्स फंड (PM Cares Fund) का चेयरमैन चुना गया है. उनके साथ सुप्रीम कोर्ट के पूर्व न्यायाधीश केटी थॉमस और पूर्व डिप्टी लोकसभा स्पीकर करिया मुंडा समेत प्रमुख हस्तियों को पीएम केयर्स फंड (PM Cares Fund) का ट्रस्टी बनाया गया है. केंद्र सरकार ने बुधवार को एक आधिकारिक बयान जारी कर इसकी जानकारी दी है.


पीएम केयर्स फंड बोर्ड ऑफ ट्रस्टीज में नए सदस्यों को शामिल किया गया है. मंगलवार को उद्योगपति रतन टाटा समेत कई लोगों को ट्रस्टी बनाया गया. वहीं, सुधा मूर्ति को सलाहकार समूह में शामिल किया गया है. प्रधानमंत्री कार्यालय की तरफ से गुरुवार को यह जानकारी दी गई है. पीएम नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में हुई बैठक में केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह, केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण और नए नामित ट्रस्टी शामिल हुए है. प्रधानमंत्री कार्यालय ने एक बयान में कहा कि पीएम मोदी ने पीएम केयर्स फंड का अभिन्न अंग बनने के लिए ट्रस्टियों का स्वागत किया है.


बैठक के दौरान पीएम मोदी ने केयर्स फंड में योगदान के लिए भारतीयों का तारीफ की है. बैठक के दौरान फंड की मदद से चलाए गईं पहलों की जानकारी दी गई. इसमें पीएम केयर्स फॉर चिल्ड्रन स्कीम भी शामिल रही, जिसके जरिए 4 हजार 345 बच्चों की सहायता की जा रही है. पीएम का कहना है कि नई ट्रस्टी और सलाहकारों के आने से पीएम केयर्स फंड के काम को नया नजरिया मिलेगा.


इस बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि नए ट्रस्टी और एडवाइजर्स के जुड़ने से पीएम केयर्स फंड की कामकाज पर और व्यापक दृष्टिकोण मिलेगा. उन्होंने कहा कि इन लोगों का सार्वजनिक जीवन में अनुभव इस ट्रस्ट को सार्वजनिक जरूरतों के लिए और अधिक उत्तरदायी बनाने में मदद करेगा.


सुप्रीम कोर्ट के पूर्व जज जस्टिस केटी थॉमस, पूर्व डिप्टी स्पीकर करिया मुंडा और उद्योगपति रतन टाटा ट्रस्टी के तौर पर पीएम केयर्स फंड में शामिल हुए हैं. बैठक के बाद ट्रस्ट की तरफ से सलाहकार समूह में सदस्यों को नामित किया गया. इनमें पूर्व कैग राजीव महर्षि, इन्फोसिस फाउंडेशन की पूर्व चेयरपर्सन सुधा मूर्ति, इंडिकॉर्प्स और पिरामल फाउंडेशन के पूर्व सीईओ आनंद शाह का नाम शामिल है.


पीएम मोदी की अध्यक्षता में पीएम केयर्स फंड यानी (Prime Minister’s Citizen Assistance and Relief in Emergency Situation Fund) की शुरुआत 27 मार्च 2020 में की गई थी. इस फंड के जरिए सरकार का मकसद कोविड-19 जैसी आपातकाल और संकट की स्थिति में राहत मुहैया कराना है. यह फंड पूरी तरह से लोगों या संगठनों की तरफ से मिलने वाले ऐच्छिक सहयोग से काम करता है.


इस फंड में किसी भी शख्स या संस्थान द्वारा स्वैच्छिक रूप से दान किया जा सकता था. इसमें किए गए डोनेशन पर आप टैक्स छूट भी क्लेम कर सकते हैं. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, वित्त वर्ष 2020-21 में पीएम केयर्स फंड में करीब 7032 करोड़ रुपये जुटाए गए थे.

हमारे दैनिक समाचार पत्र के लिए साइन अप करें