इंटरनेट बैंकिंग के दौरान ट्रांजेक्शन रखना चाहते हैं सेफ तो न करें ये गलतियां

By Ritika Singh
August 14, 2022, Updated on : Fri Aug 26 2022 10:03:11 GMT+0000
इंटरनेट बैंकिंग के दौरान ट्रांजेक्शन रखना चाहते हैं सेफ तो न करें ये गलतियां
आपकी मेहनत की कमाई जालसाजों के पास न जाए, इसके लिए आपको इंटरनेट बैंकिंग के दौरान कुछ गलतियों से बचना चाहिए.
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

इंटरनेट बैंकिंग (Internet Banking) या ऑनलाइन बैंकिंग (Online Banking) का इस्तेमाल आजकल बड़े पैमाने पर हो रहा है. बैंकिंग के इस मोड की मदद से आप ट्रांजेक्शन डिजिटली कभी भी कर सकते हैं और कहीं जाने का झंझट भी नहीं होता. घर से ही काम हो जाता है. इंटरनेट बैंकिंग सुविधाजनक तो है लेकिन इसके जरिए फ्रॉड होने का खतरा भी बना रहता है. आपकी मेहनत की कमाई जालसाजों के पास न जाए, इसके लिए आपको इंटरनेट बैंकिंग के दौरान कुछ गलतियों से बचना चाहिए. आइए जानते हैं कि सुरक्षित इंटरनेट बैंकिंग के लिए क्या करना चाहिए और क्या नहीं...

क्या न करें

  • साइट को एक्सेस करने के लिए किसी भी ई-मेल या SMS में दिए गए किसी भी लिंक पर क्लिक न करें.
  • पब्लिक वाईफाई, फ्री वाईफाई, साइबर कैफे या शेयर्ड पीसी से इंटरनेट बैंकिंग एक्सेस करने से बचें.
  • अगर आपके पास कोई ऐसा फोन, मैसेज या ईमेल आती है, जिसमें व्यक्तिगत इनफॉरमेशन देने के बदले या बैंक की वेबसाइट पर अकाउंट डिटेल्स अपडेट कर इनाम या रिवॉर्ड देने की बात की जा रही हो तो इस झांसे में न आएं.
  • बैंक या इसका कोई भी प्रतिनिधि, कस्टमर को ऐसा कोई मैसेज, ईमेल या कॉल नहीं करता, जिसमें व्यक्तिगत जानकारी, पासवर्ड या ओटीपी मांगा जाए. इस तरह की ई-मेल, SMS या फोन कॉल आपके बैंक अकाउंट से इंटरनेट बैंकिंग के जरिए धोखे से पैसे निकालने की कोशिश होती हैं. लिहाजा ऐसी ईमेल, SMS या फोन कॉल पर प्रतिक्रिया न दें. अगर कॉल, SMS या ईमेल पर डिटेल साझा कर दी हैं तो अपनी यूजर एक्सेस को तुरंत लॉक करें.
  • बैंक की साइट पर एक बार लॉग इन करने के बाद बैंक कस्टमर से दोबारा यूजरनेम व पासवर्ड नहीं मांगता. न ही उनसे इंटरनेट बैंकिंग इस्तेमाल करते वक्त क्रेडिट या डेबिट कार्ड डिटेल्स मांगी जाती हैं. अगर आपके पास ऐसी किसी मांग का मैसेज पॉपअप के जरिए आए तो कोई भी सूचना न दें, चाहे पेज कितना ही वास्तविक क्यों न लगता हो.

क्या करें

  • बैंक की वेबसाइट को हमेशा ब्राउजर के एड्रेस बार में URL टाइप करके ही एक्सेस करें.
  • पोस्ट लॉग-इन पेज पर हमेशा आखिरी लॉग-इन की तारीख व समय चेक करें.
  • कंप्यूटर को नियमित तौर पर एंटीवायरस के साथ स्कैन करें.
  • गूगल प्लेस्टोर, एप्पल ऐप स्टोर, विंडोज मार्केटप्लेस आदि जैसे मोबाइल ऐप्लीकेशन स्टोर से ऑनलाइन बैंकिंग की पेशकश करने वाले मैलिशियस ऐप से सावधान रहें.
  • बैंक के ऐप डाउनलोड करने से पहले उनकी ऑथेंटिसिटी जांच लें.
  • वक्त-वक्त पर इंटरनेट बैंकिंग पासवर्ड बदलें.