टेनिस स्टार सानिया मिर्जा होबार्ट इंटरनेशनल महिला युगल सेमीफाइनल में, अमेरिका की वानिया किंग और क्रिस्टिना मैकहेल को दी करारी मात

By भाषा पीटीआई
January 17, 2020, Updated on : Fri Jan 17 2020 06:12:30 GMT+0000
टेनिस स्टार सानिया मिर्जा होबार्ट इंटरनेशनल महिला युगल सेमीफाइनल में, अमेरिका की वानिया किंग और क्रिस्टिना मैकहेल को दी करारी मात
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

भारतीय टेनिस स्टार सानिया मिर्जा ने की शानदार वापसी। होबार्ट इंटरनेशनल महिला युगल सेमीफाइनल में किया प्रवेश। अमेरिका की वानिया किंग और क्रिस्टिना मैकहेल को एक घंटे 24 मिनट तक चले मैच में 6.2, 4.6, 10.4 से मात दी


k

फाइल फोटो



होबार्ट, भारतीय टेनिस स्टार सानिया मिर्जा ने मां बनने के बाद कोर्ट पर शानदार वापसी करते हुए उक्रेन की नादिया किचेनोक के साथ मिलकर गुरूवार को होबार्ट इंटरनेशनल महिला युगल सेमीफाइनल में प्रवेश कर लिया ।


किचेनोक के साथ सानिया ने अमेरिका की वानिया किंग और क्रिस्टिना मैकहेल को एक घंटे 24 मिनट तक चले मैच में 6 . 2, 4 .6 , 10 . 4 से मात दी।


एक समय स्कोर 1 . 1 से बराबर था। पांचवीं वरीयता प्राप्त सानिया और किचेनोक ने टाइब्रेकर में शानदार प्रदर्शन किया।


अब उनका सामना स्लोवेनिया की जमारा जिदांसेक और चेक गणराज्य की मारी बूजकोवा से होगा। उन्होंने कनाडा की शेरोन फिचमैन और उक्रेन की कैटरीना बोंडारेंको को 6 . 3, 3 . 6, 10 . 4 से हराया।


सानिया और किचेनोक ने शानदार शुरूआत करके अपने विरोधियों की सर्विस दो बार तोड़ी। उन्होंने पहले सेट में चार ब्रेक प्वाइंट भी बचाये। दूसरा सेट आठवें गेम तक खिंचा जिसमें किंग और मैकहेल ने सानिया और किचेनोक की सर्विस तोड़कर मैच को टाइब्रेकर तक खिंचा।


तीसरे सेट में हालांकि वे सानिया और किचेनोक के सामने टिक नहीं सके।


सानिया मां बनने के बाद दो साल टेनिस से दूर थी। पाकिस्तानी क्रिकेटर शोएब मलिक से निकाह करने वाली सानिया ने 2018 में इजहान को जन्म दिया। उसने अक्टूबर 2017 में आखिरी टूर्नामेंट खेला था।


भारतीय टेनिस को नयी बुलंदियों तक ले जाने वाली सानिया युगल में नंबर एक रह चुकी है और छह बार की ग्रैंडस्लैम विजेता है। उन्होंने 2013 में एकल टेनिस खेलना छोड़ दिया था। वह 2007 में डब्ल्यूटीए एकल रैंकिंग में 27वें स्थान तक पहुंची थी।


अपने कैरियर में वह लगातार कलाई और घुटने की चोट से जूझती रही है।