SBI ने बचत खाते के ब्याज में किया बदलाव, अब ये हैं नई दरें

By Ritika Singh
October 18, 2022, Updated on : Tue Oct 18 2022 06:14:26 GMT+0000
SBI ने बचत खाते के ब्याज में किया बदलाव, अब ये हैं नई दरें
बैंक की वेबसाइट पर मौजूद जानकारी के अनुसार, नयी दरें 15 अक्टूबर से प्रभावी हैं.
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

देश के सबसे बड़े बैंक भारतीय स्टेट बैंक (SBI or State Bank of India) ने बचत खाते (Savings Account) में जमा पर मिलने वाली ब्याज दर में बदलाव किया है. बैंक की वेबसाइट पर मौजूद जानकारी के अनुसार, नयी दरें 15 अक्टूबर से प्रभावी हैं. अभी तक बैंक में सेविंग्स अकाउंट पर ब्याज दर 2.70 प्रतिशत सालाना थी. लेकिन 15 अक्टूबर से बचत खाते में 10 करोड़ रुपये से कम के बैलेंस पर ब्याज दर 2.70 प्रतिशत सालाना है. वहीं 10 करोड़ रुपये और उससे ज्यादा के बैलेंस पर ब्याज दर अब 3 प्रतिशत सालाना होगी.


SBI में कभी बचत खाते पर 4 प्रतिशत सालाना तक का ब्याज भी हुआ करता था. अप्रैल 2000 से लेकर मई 2020 के बीच SBI में बचत खाते पर किस दर से ब्याज दिया गया, उसकी डिटेल इस तरह है...

sbi-modifies-savings-account-interest-rates-before-diwali-sbi-savings-account-interest-rates-state-bank-of-india

SBI की त्योहारी पेशकश

भारतीय स्टेट बैंक (SBI) ने त्योहारी पेशकश के तहत रियायती 8.40 प्रतिशत की शुरुआती दर पर आवास ऋण देने की पेशकश की है. आवास ऋण लेने वालों के लिए त्योहारी छूट की पेशकश के तहत SBI ब्याज में 0.25 प्रतिशत की छूट देगा. इस तरह शुरुआती स्तर के कर्ज के लिए ब्याज दर 8.40 प्रतिशत बैठेगी. यह पेशकश 31 जनवरी, 2023 तक उपलब्ध होगी. बैंक के अनुसार, त्योहारी पेशकश के तहत आवास ऋण पर 0.25 प्रतिशत, आवास ऋण के ऊपर दिए जाने वाले ऋण (टॉप-लाइन) पर 0.15 प्रतिशत और संपत्ति के एवज में ऋण पर 0.30 प्रतिशत तक की छूट दी जायेगी.

SBI BPLR और बेस रेट में इजाफा

हाल ही में SBI ने एक बार फिर बेंचमार्क प्राइम लेंडिंग रेट (BPLR) और बेस रेट (Base Rate) में इजाफा किया था. SBI ने BPLR को 0.7 प्रतिशत बढ़ाकर 13.45 प्रतिशत सालाना कर दिया. नई दर 15 सितंबर 2022 से प्रभावी है. इसके अलावा 15 सितंबर से बेस रेट को रिवाइज कर 8.70 प्रतिशत सालाना कर दिया गया. ये दोनों लोन के लिए पुरानी बेंचमार्क दरें हैं. अब ज्यादातर बैंक एक्सटर्नल बेंचमार्क बेस्ड लेंडिंग रेट (EBLR) या रेपो लिंक्ड लेंडिंग रेट (RLLR) और MCLR के आधार पर लोन देते हैं. इससे पहले SBI ने जून 2022 में BPLR में बढ़ोतरी की थी. बैंक तिमाही आधार पर BPLR और बेस रेट को रिवाइज करता है.

बैंक ऑफ बड़ौदा का दिवाली गिफ्ट

बैंक ऑफ बड़ौदा ने विभिन्न मुद्राओं और मैच्योरिटी पीरियड्स में विदेशी मुद्रा प्रवासी (एफसीएनआर) जमा पर ब्याज दरों में 1.35 प्रतिशत तक की बढ़ोतरी की है. बैंक की ओर से जारी एक बयान में कहा गया कि नयी जमा दरें 16 अक्टूबर, 2022 से प्रभावी हैं और 15 नवंबर, 2022 तक लागू रहेंगी.