इस बैंक में अब 8% से शुरू हो रही है होम लोन ब्याज दर, पर्सनल लोन की दरों में भी कटौती

बैंक ने पहले ही 'दिवाली धमाका' के तहत घर और कार ऋण के लिए प्रोसेसिंग शुल्क माफ कर दिया है.

इस बैंक में अब 8% से शुरू हो रही है होम लोन ब्याज दर, पर्सनल लोन की दरों में भी कटौती

Monday October 17, 2022,

3 min Read

सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक ऑफ महाराष्ट्र (Bank of Maharashtra) ने दिवाली से पहले ग्राहकों को तोहफा दिया है. बैंक ने त्योहारी छूट के तहत होम लोन (Home Loan) पर ब्याज दर को घटाकर 8 प्रतिशत कर दिया है. बैंक अभी 8.3 प्रतिशत से शुरू होने वाली दर पर होम लोन देता है. लोन लेने वाले के क्रेडिट स्कोर के आधार पर दरों में भिन्नता रहती है. इसके साथ ही बैंक ऑफ महाराष्ट्र ने व्यक्तिगत ऋण (Personal Loan) पर ब्याज दर को मौजूदा 11.35 प्रतिशत से घटाकर 8.9 प्रतिशत करने की भी घोषणा की है. नई दरें सोमवार (17 अक्टूबर, 2022) से लागू हो जाएंगी.

बैंक ने पहले ही 'दिवाली धमाका' के तहत घर और कार ऋण के लिए प्रोसेसिंग शुल्क माफ कर दिया है. अब 30 साल की अवधि वाले होम लोन पर बैंक ऑफ महाराष्ट्र 8 प्रतिशत ब्याज दर ऑफर कर रहा है, जबकि स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (SBI) और पंजाब नेशनल बैंक (PNB) इसी अवधि के होम लोन पर 8.40 प्रतिशत ब्याज दर ऑफर कर रहे हैं. वहीं LIC हाउसिंग फाइनेंस 8.25 प्रतिशत ब्याज दर ऑफर कर रहा है.

इससे पहले MCLR में की थी वृद्धि

बैंक ऑफ महाराष्ट्र ने एक सप्ताह पहले ही एमसीएलआर में 0.20 प्रतिशत की वृद्धि की थी. बैंक की 10 अक्टूबर से एक साल की एमसीएलआर दर 7.80 प्रतिशत है. पहले यह 7.60 प्रतिशत थी. एक साल की एमसीएलआर के आधार पर ही वाहन, व्यक्तिगत और आवास ऋण की दरें तय की जाती हैं. एक दिन से लेकर छह महीने तक की एमसीएलआर को भी 0.20 प्रतिशत बढ़ाकर 7.30 से 7.70 प्रतिशत किया गया है.

Q3 में मुनाफा दोगुना होकर 535 करोड़ रुपये

बैंक ऑफ महाराष्ट्र का शुद्ध लाभ चालू वित्त वर्ष 2022-23 की जुलाई-सितंबर तिमाही में दोगुना होकर 535 करोड़ रुपये हो गया. बैंक ने कहा है कि फंसे हुए कर्ज में कमी आने से बैंक का मुनाफा बढ़ा है. बीओएम ने जुलाई-सितंबर, 2021 में 264 करोड़ रुपये का एकीकृत शुद्ध लाभ कमाया था. आलोच्य तिमाही में बैंक की कुल आय भी बढ़कर 4,317 करोड़ रुपये पर पहुंच गई. एक साल पहले समान अवधि में यह आंकड़ा 4,039 करोड़ रुपये था. बैंक का सकल एनपीए (नॉन-परफॉर्मिंग एसेट्स) 30 सितंबर तक सकल ऋण के मुकाबले 3.40 प्रतिशत था. एक साल पहले समान अवधि में यह 5.56 प्रतिशत था. इसी तरह शुद्ध एनपीए बीती तिमाही में 1.73 प्रतिशत से घटकर 0.68 प्रतिशत रह गया.

SBI और HDFC की त्योहारी पेशकश

भारतीय स्टेट बैंक (SBI) और HDFC ने त्योहारी पेशकश के तहत रियायती 8.40 प्रतिशत की शुरुआती दर पर आवास ऋण देने की पेशकश की है. आवास ऋण लेने वालों के लिए त्योहारी छूट की पेशकश के तहत SBI ब्याज में 0.25 प्रतिशत की छूट देगा. इस तरह शुरुआती स्तर के कर्ज के लिए ब्याज दर 8.40 प्रतिशत बैठेगी. यह पेशकश 31 जनवरी, 2023 तक उपलब्ध होगी. बैंक के अनुसार, त्योहारी पेशकश के तहत आवास ऋण पर 0.25 प्रतिशत, आवास ऋण के ऊपर दिए जाने वाले ऋण (टॉप-लाइन) पर 0.15 प्रतिशत और संपत्ति के एवज में ऋण पर 0.30 प्रतिशत तक की छूट दी जायेगी.

वहीं, HDFC ने होम लोन के नए कर्जदारों को 0.20 प्रतिशत की छूट या 8.40 प्रतिशत पर रियायती ब्याज दरों की पेशकश की है. HDFC की वेबसाइट के अनुसार, त्योहारी छूट की पेशकश 30 नवंबर तक वैध है. साथ ही कम दर उन कर्जदारों पर लागू होगी, जिनका ‘क्रेडिट स्कोर’ कम से कम 750 है.