सेंसेक्स 786 अंक उछला, निवेशकों को 3 लाख करोड़ का मुनाफा, इन 4 वजहों से आई ये तेजी

By Anuj Maurya
October 31, 2022, Updated on : Mon Oct 31 2022 10:49:23 GMT+0000
सेंसेक्स 786 अंक उछला, निवेशकों को 3 लाख करोड़ का मुनाफा, इन 4 वजहों से आई ये तेजी
पिछले हफ्ते शेयर बाजार में भारी उतार-चढ़ाव देखने को मिला. हालांकि, इस हफ्ते के पहले ही दिन शेयर बाजार में तगड़ी तेजी देखने को मिली है. सेंसेक्स 786 अंक उछल गया है.
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

इस हफ्ते के पहले ही दिन शेयर बाजार (Share Market) में शानदार तेजी देखने को मिली है. सेंसेक्स 1.31 फीसदी (Sensex) यानी करीब 786 अंक चढ़कर 60,746 अंकों पर बंद हुआ. सुबह सेंसेक्स 60,246 अंकों के स्तर पर खुला था, जो पिछले हफ्ते शुक्रवार को 59,959 अंकों के स्तर बंद हुआ था. वहीं दूसरी ओर निफ्टी (Nifty) में भी शानदार तेजी देखने को मिली है. निफ्टी 1.27 फीसदी यानी करीब 225 अंक चढ़कर 18,012 अंकों के स्तर पर बंद हुआ. सुबह के वक्त निप्टी 17,910 अंकों पर खुला था, जो पिछले हफ्ते शुक्रवार को 18,022 अंकों के स्तर पर बंद हुआ था.

निवेशकों को हुआ 3 लाख करोड़ का मुनाफा

शेयर बाजार में आई इस तेजी की वजह से निवेशकों को करीब 3 लाख करोड़ रुपये का फायदा हुआ है. बीएसई पर लिस्टेड कंपनियों का मार्केट कैप बढ़कर 279.85 लाख करोड़ रुपये हो गया. सवाल ये है कि आखिर किन वजहों से शेयर बाजार में तेजी देखने को मिली है.

1- फेडरल रिजर्व से उम्मीदों का असर

शेयर बाजारों में तेजी की सबसे बड़ी वजह है फेडरल रिजर्व से लगाई गई उम्मीदें. अमेरिकी सरकार के आंकड़े दिखाते हैं कि अमेरिकन वर्कर्स की वेज में बढ़ोतरी हुई है. ऐसे में अब उम्मीद लगाई जा रही है फेडरल रिजर्व अब शायद ब्याज दरें ना बढ़ाए. इसी सप्ताह फेडरल रिजर्व की मीटिंग होने है और अनुमान लगाया जा रहा है कि इसमें 75 बेसिस प्वाइंट की बढ़ोतरी की जा सकती है.

2- वैश्विक संकेतों से संभला बाजार

शेयर बाजार में तेजी की दूसरी बड़ी वजह है वैश्विक संकेत. शुक्रवार को एस एंड पी 500 में करीब 2.5 फीसदी की तेजी देखने को मिली. आज सुबह एशिया के बाजारों में भी तेजी का माहौल दिखा. जापान का निक्केई 1.6 फीसदी ऊपर चढ़ा, चीन का हैंगसैंगि 0.9 फीसदी चढ़ा और कोरिया को कॉस्पी में भी 1 फीसदी की तेजी देखने को मिली. न्यूजीलैंड और दक्षिण पूर्व एशियन बाजारों में तेजी देखी गई है. इन सभी की वजह से भारतीय शेयर बाजार में तेजी देखने को मिली.

3- रुपये में गिरावट का सिलसिला थमा

आज सुबह डॉलर के मुकाबल रुपया भी सपाट कारोबार करता दिखा. रुपये की कमजोरी थमने की वजह से पिछले 5 दिनों में विदेशी निवेशकों की तरफ से की जा रही बिकवाली में कमी देखने को मिली है. आज भी रुपया कमजोर नहीं हुआ, जिसका बाजार पर सकारात्मक असर दिख रहा है.

4- एफआईआई ने शुरू की खरीदारी

पिछले दो महीनों से एफआईआई तेजी से बिकवाली में लगे हुए थे. वहीं अगर पिछले 2 दिनों के ट्रेंड को देखा जाए तो एफआईआई ने तेजी से खरीदारी की है, जिससे शेयर बाजार में तेजी देखने को मिल रही है.