ShareChat ने एक साथ 420 कर्मचारियों को नौकरी से निकाला, बताई ये वजह...

By रविकांत पारीक
January 16, 2023, Updated on : Mon Jan 16 2023 08:40:21 GMT+0000
ShareChat ने एक साथ 420 कर्मचारियों को नौकरी से निकाला, बताई ये वजह...
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

स्वदेशी सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म ShareChatने अपने 20 फीसदी कर्मचारियों को बाहर का रास्ता दिखाया है. कंपनी से निकाले गए कर्मचारियों की संख्या लगभग 420 है. इस छंटनी से पहले कंपनी में लगभग 2,100 कर्मचारियों की टीम थी. ShareChat की पैरेंट कंपनी Mohalla Tech Pvt. Ltd. है जो शॉर्ट-वीडियो प्लेटफॉर्म Mojभी चलाती है.


ET की रिपोर्ट में कंपनी के सीईओ, अंकुश सचदेवा (Ankush Sachdeva) द्वारा कर्मचारियों के साथ साझा किए गए के ‘इंटरनल नोट’ का हवाला देते हुए इस छंटनी की जानकारी दी गई है.


रिपोर्ट के अनुसार, अंकुश सचदेवा के अपने कर्मचारियों से कहा, “अर्थव्यवस्था की मौजूदा अनिश्चित स्थिति को देखते हुए, कंपनी को वित्तीय रूप से सक्षम व लंबे समय तक के संचालन को सुनिश्चित करने के लिए हमने लगभग 20% प्रतिभाशाली पूर्णकालिक कर्मचारियों को निकालने का कठिन निर्णय लिया है.”


Parent Mohalla Tech ने 255 मिलियन डॉलर की फंडिंग जुटाने के सिर्फ 6 महीने बाद यह छंटनी की है. फंडिंग के मामले में सबसे बड़े स्टार्टअप्स की सूची में शामिल होने के बावजूद बिजनेस और फंडिंग प्रभावित होने की आशंका में लागत कम करने के लिए कंपनी छंटनी कर रही है.


इस छंटनी में नौकरी से निकाले गए कर्मचारियों को दिसंबर 2022 तक वेरिएबल सैलरी की 100 प्रतिशत राशि मिलेगी. कंपनी नोटिस अवधि के लिए कुल वेतन का भुगतान भी करेगी और प्रत्येक वर्ष के लिए अनुग्रह राशि के रूप में 2 सप्ताह का वेतन देगी.


Sharechat जून 2023 तक प्रभावित कर्मचारियों के लिए अपनी हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी भी जारी रखेगी और कर्मचारियों को अपने लैपटॉप जैसी कार्य संपत्तियों को बनाए रखने की अनुमति होगी. इसके अलावा, कर्मचारी मौजूदा सकल वेतन के अनुसार 45 दिनों तक की अप्रयुक्त छुट्टी को भुना सकते हैं. कर्मचारियों के स्टॉक विकल्प भी 30 अप्रैल 2023 तक जारी रहेंगे और कर्मचारी बने रहेंगे.


फिलहाल यह साफ नहीं हुआ है कि कौनसे डिपार्टमेंट में यह छंटनी की गई है. पिछले महीने भी मोहल्ला टेक ने फैंटेसी गेमिंग प्लेटफॉर्म Jeet11 को बंद करते हुए 100 कर्मचारियों को नौकरी से निकाल दिया था. कुछ ही दिनों बाद, कंपनी के मुख्य वाणिज्यिक अधिकारी अजीत वर्गीज ने कंपनी में शामिल होने के कुछ साल बाद इस्तीफा दे दिया.


आपको बता दें कि ShareChat की शुरुआत साल 2015 में अंकुश सचदेवा, भानू प्रताप सिंह और फरीद अहसान ने मिलकर की थी. भारत में इसके मंथली एक्टिव यूजर्स की संख्या 40 करोड़ है. अपनी पैरेंट कंपनी के तहत यह Moj नामक एक शॉर्ट वीडियो प्लेटफॉर्म का भी संचालन करती है, जो भारत में TikTok बैन होने के बाद से काफी लोकप्रियता अर्जित कर चुका है.