Sony PS VR2 के लिए उत्साहित प्लेयर्स हेडसेट के इन फीचर्स से हो सकते हैं निराश

VR हेडसेट के लिए 2023 एक टेस्टिंग ईयर होने वाला है और PlayStation VR2 इसका पहला लिटमस टेस्ट हो सकता है. ये हेडसेट 22 फरवरी को लॉन्च होने वाला है.

Sony PS VR2 के लिए उत्साहित प्लेयर्स हेडसेट के इन फीचर्स से हो सकते हैं निराश

Sunday February 12, 2023,

4 min Read

VR हेडसेट के लिए 2023 एक टेस्टिंग ईयर होने वाला है और PlayStation VR2 इसका पहला लिटमस टेस्ट हो सकता है. ये हेडसेट 22 फरवरी को लॉन्च होने वाला है.

इस बीच ये खबर आ रही है कि रिपोर्ट सोनी ने प्री-ऑर्डर नंबर्स की वजह से शिपमेंट को बीच में ही रोक दिया गया है. हालांकि सोनी ने इस दावे को गलत बताया है.

मगर हमारा ध्यान इस खबर ने नहीं बल्कि सोनी पीसए वीआ2 को लेकर आ रहे कुछ अन्य फीडबैक ने खींचा है. जब इसकी प्राइस का ऐलान किया गया कि यह 549 डॉलर में बिकेगा तो हर गेमर की आंखें तन गई थीं कि ऐसा क्या खास मिलने वाला है इसमें.

लेकिन कुछ एक्सपर्ट्स ने कहा कि ग्राफिकल परफॉर्मेंस में बूस्ट के लिए ये कीमत पचाई जा सकती है. इसके अलावा कुछ और चीजें हैं जो मार्केट में PS VR2 को लेकर बनी हुई एक्साइटमेंट पर पानी फेरती दिख सकती हैं.

पीएस वीआर2 के लॉन्च के साथ एक छोटी सी दिक्कत ये है कि इसे पीएस5 के साथ जो केबल जोड़ती है उसे हेडसेट के साथ डिटैच नहीं किया जा सकता है. अगर बहुत जिद्दी प्लेयर हुआ तो वो बिल्कुल केबल को अलग कर सकता है लेकिन हेडसेट के पुर्जे पुर्जे अलग करने के बाद ही ये मुमकिन होगा.

जैसा कि मालूम है कि PS VR2 हेडसेट को तभी चलाया जा सकता है जब इसे PS5 के साथ कनेक्ट किया जाए ये बात कई मायनों में इस हेडसेट के लिए परेशानी की वजह बन सकती है.

सबसे बड़ी दिक्कत इसे रिपेयरिंग और प्लेयर की सेफ्टी को लेकर है. इसे रिपेयर कराने के लिए जब आप केबल को अलग करने के लिए रास्ता निकालेंगे तो आपको निराशा हो सकती है क्योंकि ये अलग नहीं हो सकता.

PS VR2 के साथ कुछ मुश्किलें भी निकल कर आ रही हैं. सबसे बड़ी दिक्कत इसे रिपेयरिंग और प्लेयर की सेफ्टी को लेकर है. इसे रिपेयर कराने के लिए जब आप केबल को अलग करने के लिए रास्ता निकालेंगे तो आपको निराशा हो सकती है क्योंकि ये अलग नहीं हो सकता.

PS VR2 को पीएस5 के साथ टेदर किए बिना चलाया नहीं जा सकता. इसलिए अगर आपका केबल गलती से भी खराब होता है तो पूरा का पूरा 549 डॉलर का हेडसेट कुछ नहीं बस एक शोपीस बनकर रह जाएगा.

सेफ्टी की बात करें तो अलग करने वाला केबल किसी इमरजेंसी स्थिति में प्लेयर की सेफ्टी सुनिश्चित करता है. लेकिन यहां तो केबल अलग ही नहीं हो सकता है. इसलिए इमरजेंसी में केबल भी डिटैच नहीं होगी और तो और इसमें उलझ कर गिरने की भी संभावना होगी.

पीएस5 में केबल तो डीटैच कर सकते हैं लेकिन हां अगर बीच एक और डीटैचमेंट पॉइंट जोड़ देंगे तो सेफ्टी और मजबूत हो जाएगी.

कुल मिलाकर केबल को डीटैच नहीं करने की संभावना PS VR2 हेडसेट की सबसे बड़ी खामी बन जाती है. इस खामी की वजह से भविष्य में पीएस वीआर2 और पीएस5 के बीच वायरलेस कनेक्शन की उम्मीद काफी दूर नजर आती है.

साथ में अगर आप पीएस5 से पीएस वीआर2 को कनेक्ट करते हुए अगर आप स्टॉक केबल को बड़ी केबल से बदलना चाहते हैं तो भी आपके लिए मुश्किल हो सकती है.

देखने में एक बार को ये मसले छोटे लग सकते हैं, लेकिन ये ऐसी मुश्किल है जिसे सोनी बड़े आराम से हटा सकती थी. सोनी USB-A टू USB-C या USB-C टू USB-C केबल देना जिसे हेडसेट और कंसोल कनेक्ट किया जा सके कुछ ऐसा दे सकती थी.

अभी तक इसका कोई लॉजिकल रीजन नहीं समझ आता कि सोनी ने ऐसा क्यों नहीं किया. वैसे शायद ही कोई ऐसा प्लेयर हो जो इस खामी की वजह से पीएस वीआर2 को नहीं खरीदे, लेकिन इतना तो तय है कि हर प्लेयर को ये दिक्कत जरूरी परेशान करेगी.


Edited by Upasana