Instagram, Facebook को क्यों हटाने पड़े गर्भपात की गोलियों की पेशकश करने वाले विज्ञापन पोस्ट

By रविकांत पारीक
June 28, 2022, Updated on : Tue Jun 28 2022 11:16:51 GMT+0000
Instagram, Facebook को क्यों हटाने पड़े गर्भपात की गोलियों की पेशकश करने वाले विज्ञापन पोस्ट
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

सोशल मीडिया की दिग्गज कंपनियों फेसबुक (Facebook) और इंस्टाग्राम (Instagram) ने उन पोस्ट को तुरंत हटाना शुरू कर दिया है जो महिलाओं को गर्भपात की गोलियों की पेशकश करते हैं.


अमेरिका के सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) के एक फैसले के बाद महिलाओं की गर्भपात की गोलियों तक पहुंच खत्म हो सकती है. कोर्ट के इस फैसले से महिलाओं को गर्भपात के मामले में मिला संवैधानिक अधिकार छिन गया है.


इस तरह के सोशल मीडिया पोस्ट (social media post) का उद्देश्य उन राज्यों में रहने वाली महिलाओं की मदद करना था, जहां गर्भपात पर प्रतिबंध लगाने वाले कानून शुक्रवार को अचानक से लागू हो गए. इसी के साथ सुप्रीम कोर्ट ने रो बनाम वेड के मामले में 1973 के अपने फैसले को खारिज कर दिया, जिसमें गर्भपात तक पहुंच को संवैधानिक अधिकार घोषित किया गया था.


सोशल मीडिया पर मीम और स्टेटस अपडेट बताते हैं कि कैसे महिलाएं कानूनी रूप से मेल के जरिए गर्भपात की गोलियां प्राप्त कर सकती हैं. इनमें से कुछ में इन राज्यों में रहने वाली महिलाओं को नुस्खे भी मेल करने की भी पेशकश की गई थी.


हालांकि, फैसला आने के लगभग तुरंत बाद फेसबुक और इंस्टाग्राम ने इनमें से कुछ पोस्ट को हटाना शुरू कर दिया. मीडिया इंटेलिजेंस फर्म जिग्नल लैब्स के एक विश्लेषण के अनुसार, गर्भपात की गोलियों के सामान्य उल्लेख वाले तथा मिफेप्रिस्टोन और मिसोप्रोस्टोल (गर्भपात की गोली का चिकित्सकीय नाम) जैसे विशिष्ट संस्करणों का उल्लेख करने वाले पोस्ट ट्विटर, फेसबुक, रेडिट और टीवी प्रसारणों में शुक्रवार सुबह अचानक बढ़ गए. जिग्नल ने रविवार तक ऐसे 250,000 से अधिक उल्लेखों को दर्ज किया.


रिपोर्ट्स के मुताबिक, अदालत द्वारा गर्भपात के संवैधानिक अधिकार को खत्म करने के फैसले के कुछ मिनट बाद, मेल के माध्यम से गर्भपात की गोलियाँ खरीदने या अग्रेषित करने की पेशकश करने वाली एक महिला से शुक्रवार को एक इंस्टाग्राम पोस्ट का स्क्रीनशॉट प्राप्त किया.


इंस्टाग्राम पर पोस्ट में लिखा है, “अगर आप गर्भपात की गोलियां ऑर्डर करना चाहते हैं तो मुझे डीएम करें, लेकिन चाहते हैं कि वे आपके पते के बजाय मेरे पते पर भेजी जाएं.”


इंस्टाग्राम ने इसे कुछ ही पलों में हटा लिया. वाइस मीडिया ने पहली बार सोमवार को सूचना दी कि फेसबुक और इंस्टाग्राम दोनों की जनक मेटा गर्भपात की गोलियों के बारे में पोस्ट हटा रही थी.


रिपोर्ट्स के मुताबिक, मेटा के प्रवक्ता ने कंपनी की नीतियों की ओर इशारा किया जो बंदूक, शराब, ड्रग्स और फार्मास्यूटिकल्स सहित कुछ वस्तुओं की बिक्री पर रोक लगाती हैं. कंपनी ने उस नीति को लागू करने में स्पष्ट विसंगतियों की व्याख्या नहीं की।.