क्रिकेट के 'भगवान' कहे जाने वाले सचिन तेंडुलकर करते हैं ये बिजनस, जानिए कहां-कहां लगाए हैं पैसे

By Anuj Maurya
October 31, 2022, Updated on : Mon Oct 31 2022 12:30:33 GMT+0000
क्रिकेट के 'भगवान' कहे जाने वाले सचिन तेंडुलकर करते हैं ये बिजनस, जानिए कहां-कहां लगाए हैं पैसे
क्रिकेट से संन्यास लेने के बाद सचिन तेंडुलकर बिजनेस की पिच पर चौके-छक्के लगा रहे हैं. उन्होंने सिर्फ स्पोर्ट्स से जुड़े स्टार्टअप में ही निवेश नहीं किया है, बल्कि तमाम फील्ड में पैसे लगाए हैं.
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

क्रिकेट की दुनिया में सचिन तेंडुलकर (Sachin Tendulkar) को क्रिकेट का भगवान कहा जाता है. उनकी बल्लेबाजी का हर हिंदुस्तानी कायल रहा है. अब सचिन तेंडुलकर ने क्रिकेट से तो संन्यास ले लिया है, लेकिन अब वह बिजनेस की पिच पर आए दिन चौके-छक्के लगाते हैं. सचिन तेंडुलकर ने कई क्रिकेट टीमों पर भी दाव लगाया है, लेकिन उनकी रुचि सिर्फ क्रिकेट या स्पोर्ट्स तक सीमित नहीं है. इससे बाहर निकलकर भी उन्होंने कई फील्ड में तमाम बिजनेस में पैसे लगाए हैं, जहां से वह तगड़ी कमाई करते हैं. सचिन तेंडुलकर ने साल 2002 में अपनी बिजनेस (Business) लाइफ की शुरुआत की थी. आइए जानते हैं सचिन ने कहां-कहां लगाए हैं पैसे.

रेस्टोरेंट बिजनस में आजमाया हाथ

सचिन तेंडुलकर ने क्रिकेट से रिटायर होने के बाद मुंबई में उन्होंने होटल चेन मालिक संजय नारंग के साथ मिलकर अपना पहला रेस्त्रां खोला, जिसका नाम 'तेंडुलकर्स' रखा. इसके बाद उन्होंने मुंबई और बेंगलुरु में 'सचिन्स' नाम से एक और रेस्त्रां शुरू किया. हालांकि, यह दोनों ही रेस्त्रां साल 2007 में बंद हो गए.

Smartron India में लगाए हैं पैसे

सचिन तेंडुलकर मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंडुलकर ने बेंगलुरु के इंटरनेट ऑफ थिंग्स के स्टार्टअप Smartron India में निवेश किया है और साथ ही इसके ब्रांड अंबेसडर भी हैं. सचिन तेंडुलकर और स्मार्टरोन फोन्स ने मिलकर 2017 में एक एसआरटी फोन लॉन्च किया था. यह फोन सिर्फ ग्रे कलर में आया था और इसके दो वैरिएंट थे. 32 जीबी वैरिएंट की कीमत 12,999 रुपये थी, जबकि 64 जीबी वैरिएंट की कीमत 13,999 रुपये थी.

Spinny में भी किया है निवेश

राज्य सभा के सांसद रह चुके सचिन तेंडुलकर ने पुरानी कारें बेचने वाले स्टार्टअप Spinny में भी निवेश किया हुआ है. कंपनी ने कहा था- सचिन कंपनी में रणनीतिक निवेशक हैं और ब्रांड के प्रमुख प्रचारक (एंडोर्सर) भी हैं. वहीं तेंडुलकर बोले- हमारा देश युवा हो रहा है और महत्वाकांक्षाएं बड़ी हो रही हैं. आज के उद्यमी इस आकांक्षा को पूरा करने के लिए समाधान तैयार कर रहे हैं. Spinny के साथ जुड़कर मुझे बहुत प्रसन्नता हो रही है. बता दें कि मशहूर बैडमिंटन खिलाड़ी पीवी सिंधु भी इससे जुड़ी हैं.

JetSynthesys में भी लगा है सचिन का पैसा

उन्होंने JetSynthesys में जुलाई 2012 में करीब 2 मिलियन डॉलर का निवेश किया था. इस कंपनी के साथ सचिन का बहुत ही पुराना रिश्ता है और इसके साथ उनका ज्वाइंट वेंचर भी है. इस कंपनी के तहत इमर्सिव क्रिकेट गेम जैसे Sachin Saga Cricket Champions और Sachin Saga VR ऑफर किए जाते हैं. इतना ही नहीं, दोनों ने मिलकर क्रिकेट से जुड़ी डिजिटल डेस्टिनेशन 100MB की भी शुरुआत की है. बता दें कि अदार पूनावाला और क्रिस गोपालकृष्णन जैसे लोगों ने भी इस कंपनी में पैसे लगाए हैं. ये कंपनी भारत के अलावा जापान, ब्रिटेन, यूरोपीय संघ और अमेरिका में भी उपस्थित है.

Unacademy में भी हैं निवेशक

फरवरी 2021 में वह बेंगलुरु के एडटेक स्टार्टअप Unacademy के ब्रांड अंबेसडर बने, जिसमें उन्होंने निवेश भी किया हुआ है. यह एक एडटेक प्लेटफॉर्म है, जो ऑनलाइन लर्निंग की फील्ड में काम करता है. भारत में करीब 5000 शहरों तक यह स्टार्टअप 14 भाषाओं में पहुंच रखता है.

Smaaash Entertainment में भी किया है निवेश

2013 में उन्होंने Smaaash Entertainment में भी निवेश किया था. यह कंपनी साल 2009 में शुरू हुई थी, जो क्रिकेट, फुटबॉल, रेसिंग और अन्य खेलों की सेवाएं देती है. सचिन तेंडुलकर इस कंपनी के सबसे बड़े हिस्सेदार हैं. इस कंपनी की शुरुआत श्रीपाल मोराखिया ने की थी, जो शेयरखान से भी जुड़े हुए हैं.

True Blue नाम का ज्वाइंट वेंचर किया शुरू

सचिन तेंडुलकर ने 2016 में अरविंद फैशन ब्रांड के साथ ज्वाइंट वेंचर के तहत True Blue  की शुरुआत की थी. कपड़ों के इस बिजनस में सचिन की मदद उनके बेटे अर्जुन भी किया करते थे.

मुसाफिर में भी लगाए थे पैसे

सचिन तेंडुलकर ने संयुक्त अरब अमीरात के ट्रैवल पोर्टल मुसाफिर में भी 7.5 फीसदी हिस्सेदारी खरीदी हुई है. साथ ही वह इसके ब्रांड एम्बेसडर भी हैं. हालांकि, सचिन का ये निवेश कुछ खास कमाल नहीं कर पाया और बिजनस फेल हो गया और सचिन को इससे बाहर निकलना पड़ा.

हमारे दैनिक समाचार पत्र के लिए साइन अप करें