प्राकृतिक आपदाओं से बचा लेगा ये स्टार्टअप, GalaxEye की सैटेलाइट तस्वीरें करेगी अलर्ट

GalaxEye आई.आई.टी मद्रास से निकला एक स्पेसटेक स्टार्टअप है, जो स्पेस से मीनिंगफुल इमेजरी डेटा उपलब्ध करवाने का काम कर रहा है.

प्राकृतिक आपदाओं से बचा लेगा ये स्टार्टअप, GalaxEye की सैटेलाइट तस्वीरें करेगी अलर्ट

Saturday February 11, 2023,

3 min Read

केदारनाथ में आई आपदा को भला कौन भुला पाया है, सैकड़ों लोगों की जान चली गई. मगर अगर इस वेदर डिस्टर्बेंस के बारे में पहले से पता होता तो शायद ना ही किसी की जान जाती और सरकार और आमजन भी इससे बचने के लिए बेहतर तैयारी कर सकते.

मगर एक स्टार्टअप है जो हमारे स्पेस से जुड़ी सारी जानकारी हम तक ला रहा है. ख़राब मौसम के बारे में बताने के साथ-साथ और भी अन्य जरुरी जानकारियों को जरुरत के लोगों तक पहुंचाने का काम कर रहा है.

यहां हम आपको बता रहे हैं स्टार्टअप गैलेक्सआई स्पेस (GalaxEye Space) के बारे में.

GalaxEye आई.आई.टी मद्रास (IIT Madras) से निकला एक स्पेसटेक स्टार्टअप (SpaceTech Startup) है, जो स्पेस से मीनिंगफुल इमेजरी डेटा उपलब्ध करवाने का काम कर रहा है. एक बेहतर अर्थ ऑब्जरवेशन सॅटॅलाइट के ग्रुप के साथ, स्पेसटेक फर्म बिज्नेसेस और सरकारों को डेटा-आधारित फैसले लेने में मदद करने के लिए सॅटॅलाइट इमेजेज प्रोवाइड करवाता है.

कंपनी डेटा-एज-सर्विस मॉडल पर काम करती है और जरुरत के अनुसार ऑल टाइम वेदर मोनिटरिंग या कहें मौसम से जुडी जरुरी जानकारियों की हाई रिज़ॉल्यूशन इमेजेज प्रोवाइड करवाता है. साल 2023 के अंत तक कंपनीअपनी पहली सॅटॅलाइट लॉन्च की कोशिश में हैं. कंपनी का कहना है कि इस सॅटॅलाइट से वह 7 दिनों की फ्रीक्वेंसी के साथ पूरे ग्लोब से जुडी जानकारी सर्व कर सकेगी.

गैलेक्सआई की स्मार्ट अर्थ ऑब्जर्वेशन सॅटॅलाइट में नोवेल दृष्टि सेंसर लगा होगा जो एक ही प्लेटफार्म के लिए सिंथेटिक अपर्चर रडार और ऑप्टिकल स्पेक्ट्रा को सेन्स कर सकेगा.स्टार्टअप अपने कस्टमर्स को बेहतर जानकारी देने के लिए एज कंप्यूटर के साथ एक सेंसर को तेयार कर रहा है, जिससे इनफार्मेशन को समझना और उसका इन्स्तेमाल करना आसान हो जाएगा.

फाउंडर्स का कहना है कि हमारा डेटाबेस डिजास्टर मैनेजमेंट, डिफेन्स और मिनरल एक्सप्लोरेशन के सेक्टर में खासा उपयोगी है. हमारे स्टार्टअप के पास रिमोट सेंसिंग, अर्थ ऑब्जर्वेशन, आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस, इमेज प्रोसेसिंग, जियोस्पेशियल एनालिटिक्स, जियोग्राफिक इनफार्मेशन सिस्टम ,एज कंप्यूटिंग और डेटा फ्यूजन में विशेषज्ञता है.

स्टार्टअप की शुरुआत सुयश सिंह और डेनिल चावड़ा ने की थी। सुयश और डेनिल दोनों ने ही आईआईटी मद्रास से एयरोस्पेस इंजीनियरिंग में मास्टर किया है. गैलेक्सआई शुरू करने से पहले, सुयश ने टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज (TCS) रिसर्च में काम किया, और उनके पास मशीन लर्निंग में पांच साल से अधिक का अनुभव है. गैलेक्सआई शुरू करने से पहले डेनिल National Centre for Combustion Research & Development और Reliance Industries Limited में काम कर चुके हैं. डेनिल के पास पांच साल से ज्यादा का अनुभव है.

यह स्टार्टअप YourStory की साल 2022 की Tech30 लिस्ट का हिस्सा है.

YourStory हर साल अपने सिग्नेचर इवेंट TechSparks में आपके लिए कई हज़ारों में से चुनकर लाता है Tech30 लिस्ट में ऐसे 30 स्टार्टअप जो देश को बदल देने के साथ साथ अरबों की कंपनियां बनने की ताकत रखते हैं.

Tech30 ने बीते 11 साल में 330 से ज्यादा स्टार्टअप्स को प्रोफाइल कर उनके बारे में दुनिया को बताया है, 35,000 से ज्यादा नौकरियां देने में मदद की है, 300 करोड़ डॉलर से भी ज्यादा की फंडिंग इसकी मदद से आई है और 675 से भी ज्यादा युवा फाउंडर्स को हमने कुछ कर दिखाने की ताकत दी है. Tech30 लिस्ट का हिस्सा रहे 5 ऐसे स्टार्टअप हैं जो यूनिकॉर्न बन चुके हैं. यानी उनका वैल्यूएशन 100 करोड़ डॉलर से ज्यादा है और ये सिलसिला अभी रुका नहीं है.


Edited by Prateeksha Pandey