Shark Tank के इस जज की कंपनी ने टाला IPO, बाजार की खस्ता हालत देख लिया फैसला

साल 2022 में यूनिकॉर्न का दर्जा हासिल करने वाली पहली कंपनी बनने वाली Mamaearth की पैरेंट कंपनी Honasa Consumer Private Ltd. ने नए शेयरों और मौजूदा शेयरों की बिक्री से 2400-3000 करोड़ रुपये जुटाने की योजना बनाई थी.

Shark Tank के इस जज की कंपनी ने टाला IPO, बाजार की खस्ता हालत देख लिया फैसला

Monday March 27, 2023,

3 min Read

भारतीय बिजनेस रियलिटी शो शार्क टैंक इंडिया (Shark Tank India) की शार्क गजल अलघ (Ghazal Alagh) की स्किनकेयर कंपनी Mamaearthने बाजार की खस्ता हालत को देखते हुए अपने आईपीओ (IPO) लाने की योजना को ठंडे बस्ते में डाल दिया है. समाचार एजेंसी रॉयटर्स ने मामले की जानकारी रखने वाले दो सोर्सेज के हवाले से इसकी जानकारी दी है.

साल 2022 में यूनिकॉर्न का दर्जा हासिल करने वाली पहली कंपनी बनने वाली Mamaearth की पैरेंट कंपनी Honasa Consumer Private Ltd. ने नए शेयरों और मौजूदा शेयरों की बिक्री से 2400-3000 करोड़ रुपये जुटाने की योजना बनाई थी.

आईपीओ के तहत 400 करोड़ रुपये के नए शेयर जारी होने थे. इसके अलावा 4,68,19,635 इक्विटी शेयरों की OFS विंडो के तहत बिक्री होनी थी. ऐसा माना जा रहा था कि इसके बाद कंपनी की कुल वैल्यूएशन बढ़कर 2.5 खरब रुपये तक हो जाती.

क्या निवेशकों से मतभेद बना कारण?

एक सोर्स के अनुसार, निवेशकों के साथ शुरुआती बातचीत में Mamaearth द्वारा मांगी गई वैल्यूएशन और निवेशकों द्वारा ऑफर किए जा रहे वैल्यूएशन में अंतर था.

Mamaearth के सीईओ वरुण अलघ (Varun Alagh) ने आईपीओ को टालने पर कोई कमेंट नहीं किया लेकिन कहा कि कंपनी शॉर्ट टर्म वैल्यूएशन के बारे में नहीं सोच रही है, बल्कि लॉन्ग टर्म के लिए है. उन्होंने कहा कि कंपनी मंजूरी के लिए सेबी के साथ संपर्क में है और उसके बाद बैंकरों से सलाह लेगी.

उन्होंने आगे कहा कि उसके सबसे बड़े निवेशक Sequoia Capital आईपीओ में कोई शेयर नहीं बेचेगी और आईपीओ के बाद फाउंडरों के पास उनके हिस्से के 97 फीसदी से अधिक शेयर रहेंगे.

अभिनेत्री शिल्पा शेट्टी भी हैं निवेशक

जनवरी में Mamaearth ने Sequoia और बेल्जियम की Sofina से फंडिंग जुटाई थी. तब जनवरी 2022 में कंपनी की वैल्यूएशन 1.2 बिलियन डॉलर आंकी गई थी. इसके बाद कंपनी को यूनीकॉर्न का स्टेटस मिला था.

कंपनी के अन्य निवेशकों में Evolvence, Fireside Ventures, Stellaris Venture Partners, Snapdeal के फाउंडर कुणाल बहल, बॉलीवुड अभिनेत्री शिल्पा शेट्टी कुंद्रा, रिषभ हर्ष मारीवाला और रोहित कुमार बंसल शामिल हैं.

2016 में हुई थी शुरुआत

D2C (डायरेक्ट टू कंज्यूमर) कंपनी Honasa Consumer ब्यूटी, स्किनकेयर और बेबीकेयर सेग्मेंट हैं. कंपनी न सिर्फ Mamaearth, बल्कि The Derma Co और BBlunt जैसे नामचीन ब्रांड्स की मालिक है.

इसे वर्ष 2016 में शॉर्क टैंक वाले पति-पत्नी वरुण और गजल अलघ ने शुरू किया था. कंपनी फेशवॉश, शैम्पू, हेयर ऑयल जैसे टॉक्सिक फ्री प्रोडक्ट बनाती है.

दो अन्य कंपनियां IPO से खींच चुकी हैं हाथ

इससे पहले दो अन्य भारतीय कंपनियों ने अपने शेयरों की बिक्री की योजना को टाल दिया था. पिछले महीने अरबपति अजीम प्रेमजी के फंड से समर्थित भारतीय अपेरल रिटेलर फैबइंडिया और ज्वेलरी रिटेलर जॉयआलुक्कास ने बाजार की खराब हालत को देखते हुए अपने आईपीओ को रद्द कर दिया था.

यह भी पढ़ें
इस बिजली कंपनी को खरीदने से क्यों पीछे हटे अंबानी और अडानी?


Edited by Vishal Jaiswal