गरीब परिवारों के लिए घर निर्माण के मिशन पर क्रॉस-कंट्री साइकिल यात्रा पर निकले ये दो दोस्त

By शोभित शील
February 09, 2022, Updated on : Thu Feb 10 2022 06:21:55 GMT+0000
गरीब परिवारों के लिए घर निर्माण के मिशन पर क्रॉस-कंट्री साइकिल यात्रा पर निकले ये दो दोस्त
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

अपना घर होना हर किसी का सपना होता है, लेकिन कठिन आर्थिक परिस्थितियों के चलते तमाम लोगों के लिए उनका यह सपना अधूरा ही रह जाता है। आज केरल के दो दोस्त पाँच गरीब परिवारों के लिए घर निर्माण का लक्ष्य लेकर एक बड़े ही सराहनीय मिशन पर निकले हैं। इन दोनों दोस्तों ने उन गरीब परिवारों के घर निर्माण के लिए क्रॉस-कंट्री साइकल यात्रा शुरू की है।


वायनाड के रहने वाले 32 वर्षीय रेनेश टीआर और केजी निगिन ने करीब 40 दिन पहले यह यात्रा शुरू की थी। रेनेश एडक्कल गुफाओं के पास स्थित अंबालावायल गाँव में एक मोबाइल शॉप चलाते हैं, जबकि निगिन एक निजी स्कूल में शारीरिक शिक्षा के शिक्षक हैं।

क्या है मिशन?

दोनों अपनी इस यात्रा के दौरान लोगों से उन घरों के निर्माण के लिए एक रुपये दान करने के लिए कहते हैं। इस यात्रा को लेकर उनका आदर्श वाक्य है- ‘एक रुपये दान करें और किसी का जीवन बदलें।’ द न्यू इंडियन एक्सप्रेस के साथ बातचीत में निगिन ने बताया है कि लोगों से महज एक रुपये का दान मांगने के पीछे का कारण यह है कि वे एक करोड़पति व्यक्ति के साथ ही गरीब व्यक्ति से भी यह राशि दान के रूप में मांग सकते हैं।


ये दोस्त अपनी यात्रा के दौरान ही इस मिशन के तहत लाभार्थियों का चयन करेंगे, लेकिन दोनों दोस्तों का मानना है कि अधिकतर लाभार्थी केरल से ही होंगे, क्योंकि अन्य राज्यों के व्यक्तियों के लिए वायनाड जाना मुश्किल हो सकता है।

ऐसा होगा घर

रेनेश और निगिन करीब 12 सालों से एक दूसरे को जानते हैं और वे इसके पहले भी जरूरतमंदों की मदद के लिए छोटी-छोटी पहल कर चुके हैं। बनाए जाने वाले घरों में से प्रत्येक घर की लागत करीब 6 लाख रुपये तय हुई है। ये घर 600 स्क्वायर फुट क्षेत्रफल के होंगे, जिनमें दो बेडरूम, एक हॉल और एक किचन मौजूद होगा।


रेनेश के बॉस सैफुद्दीन और उनके एक अन्य दोस्त दुर्गा भी इस यात्रा में उनकी मदद कर रहे हैं और वायनाड से अपना यूट्यूब चैनल 'मिशन वन रुपया' चला रहे हैं। इस यात्रा के दौरान दोनों ने अपने फोन को चार्ज करने के लिए सौर ऊर्जा से चलने वाली बैटरी, एक टेंट और सड़क पर खाना पकाने के लिए एक पोर्टेबल गैस सिलेंडर का इस्तेमाल किया है।

राहुल गांधी ने की तारीफ

दोनों दोस्तों की इस नेक पहल को देखते हुए अब लोग उनकी सीधी मदद को भी आगे आ रहे हैं और इनमें हर आयु वर्ग के लोग शामिल हैं। ये दोस्त अगले दो सालों में पाँच परिवारों के लिए घर निर्माण का मिशन लेकर आगे बढ़ रहे हैं।


रेनेश और निगिन के इस मिशन की तारीफ वायनाड के सांसद राहुल गांधी भी कर चुके हैं। राहुल गांधी ने इन दोस्तों द्वारा चलाई जा रही इस नेक पहल का समर्थन करते हुए उनके लिए एक पत्र लिखा है। पत्र में उन्होने लिखा कि 'वे वंचित लोगों के लिए घर बनाने के लिए धन जुटाये जाने के इस मिशन के लिए उन्हें बधाई देते हैं।' इसी के साथ राहुल गांधी ने यह भी लिखा कि इन दोस्तों की यह यात्रा अन्य लोगों को भी इस तरह की पहल के लिए प्रेरित करेगी।


Edited by Ranjana Tripathi