JEE Advanced के टॉप स्टूडेंट्स को मिलेगी फ्री एजुकेशन, IIT Dhanbad ने की बड़ी घोषणा

By yourstory हिन्दी
October 03, 2022, Updated on : Mon Oct 03 2022 13:10:45 GMT+0000
JEE Advanced के टॉप स्टूडेंट्स को मिलेगी फ्री एजुकेशन, IIT Dhanbad ने की बड़ी घोषणा
संस्थान ने अपनी घोषणा में कहा कि इन पांच स्टूडेंट्स की एजुकेशन फीस, आवास के साथ-साथ भोजन की सुविधा भी माफ कर दी जाएगी. यह पहल शैक्षणिक सत्र 2022-23 से लागू होने जा रही है.
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (IIT) की परीक्षा पास करने वाले टॉप 5 स्टूडेंट्स को अब अपनी इंजीनियरिंग की पढ़ाई पूरी करने के लिए एक पैसा भी नहीं खर्च करना पड़ेगा. IIT धनबाद ने फैसला किया है कि जेईई-एडवांस्ड की परीक्षा पास करके मेरिट लिस्ट में आने वाले 600 में से टॉप-5 स्टूडेंट्स को संस्थान फ्री एजुकेशन मुहैया कराएगा. आईआईटी धनबाद के बोर्ड ने इस पर अपनी सहमति दे दी है.


संस्थान ने अपनी घोषणा में कहा कि इन पांच स्टूडेंट्स की एजुकेशन फीस, आवास के साथ-साथ भोजन की सुविधा भी माफ कर दी जाएगी. यह पहल शैक्षणिक सत्र 2022-23 से लागू होने जा रही है. संस्थान की कुल नामांकन क्षमता 1125 सीटों की है. इनमें से 118 सीटें सुपर न्यूमेरिक कोटे के तहत लड़कियों के लिए आरक्षित हैं.


आगामी सत्र 2023-24 से आईआईटी धनबाद एमटेक में सेमीकंडक्टर कोर्स शुरू करेगा. संस्थान ने पाठ्यक्रम में काफी संभावनाएं देखने के बाद इसे विकसित करने का फैसला किया है. इसके अलावा कार्बन कैप्चर, कोल बेड मीथेन और हाइड्रोजन स्टोरेज से संबंधित दो नए केंद्र खोलने का भी फैसला किया है.


इस बीच संस्थान में इस साल MA इन डिजिटल ह्यूमैनिटी एंड सोशल साइंस कोर्स भी शुरू किया जाएगा. बोर्ड ने इस कोर्स के लिए अपनी मंजूरी दे दी है. पाठ्यक्रम की तैयारी, सीटों की संख्या और अन्य प्रमुख बिंदुओं का निर्धारण अब किया जाएगा.

बता दें कि, IIT ISM धनबाद का गठन प्रौद्योगिकी संस्थान अधिनियम, 1961 के तहत किया गया था. NIRF इंजीनियरिंग रैंकिंग 2022 में, संस्थान को 14 वें स्थान पर रखा गया है.


वहीं बता दें कि, 23 IIT 14-15 अक्टूबर के बीच IIT दिल्ली परिसर में IIInventiv नामक एक अनुसंधान और विकास मेले का आयोजन करेंगे. उद्घाटन सत्र को केंद्रीय शिक्षा मंत्री धर्मेंद्र प्रधान संबोधित करेंगे. अनुसंधान एवं विकास मेला ड्रोन टेक्नोलॉजी, अफोर्डेबल हेल्थ केयर, ग्रामीण कृषि, स्मार्ट सिटी वास्तुकला और जलवायु परिवर्तन सहित विभिन्न क्षेत्रों में परियोजनाओं को शामिल करेगा.


इस कार्यक्रम का आईआईटी हैदराबाद/रुड़की के बोर्ड ऑफ गवर्नर्स (बीओजी) के अध्यक्ष बीवीआर मोहन रेड्डी  और आईआईटी मद्रास के बोर्ड ऑफ गवर्नर्स (बीओजी) के अध्यक्ष पवन गोयनका के नेतृत्व में एक समिति द्वारा किया जाएगा.

IIT JEE परीक्षा कैसे होती है?

IIT की परीक्षा हर साल आयोजित की जाती है. 12वीं की परीक्षा के बाद इस प्रवेश परीक्षा के माध्यम से स्टूडेंट्स देश की कुल 23 IIT कॉलेजेज में प्रवेश लेते हैं. IIT की परीक्षा पास करने के दो चरण होते हैं. पहले जेईई मेन परीक्षा (JEE Main Exam) और दूसरी जेईई एडवांस्ड परीक्षा (Advanced Exam) होती है.


Edited by Vishal Jaiswal