Twitter: परमानेंट के बाद अब कॉन्ट्रैक्ट कर्मचारियों पर गिरी गाज, बिना नोटिस दिए हजारों को निकाला गया

By yourstory हिन्दी
November 14, 2022, Updated on : Mon Nov 14 2022 08:41:27 GMT+0000
Twitter: परमानेंट के बाद अब कॉन्ट्रैक्ट कर्मचारियों पर गिरी गाज, बिना नोटिस दिए हजारों को निकाला गया
प्लेटफ़ॉर्मर (Platformer) और एक्सियोस (Axios) की रिपोर्टों के अनुसार, माइक्रो-ब्लॉगिंग प्लेटफ़ॉर्म अब उन कर्मचारियों की छंटनी कर रहा है जो कॉन्ट्रैक्ट पर हैं.
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

बीते 27 अक्तूबर को ट्विटर की कमान संभालने के बाद लगभग आधे यानी 3700 कर्मचारियों को नौकरी से निकालने के कुछ दिन बाद ही खबर है कि दुनिया के सबसे अमीर शख्स एलन मस्क ने कंपनी के 4400 कान्ट्रैक्चुअल कर्मचारियों को भी नौकरी से निकाल दिया गया. कंपनी में ऐसे कुल 5,500 कर्मचारी हैं.


प्लेटफ़ॉर्मर (Platformer) और एक्सियोस (Axios) की रिपोर्टों के अनुसार, माइक्रो-ब्लॉगिंग प्लेटफ़ॉर्म अब उन कर्मचारियों की छंटनी कर रहा है जो कॉन्ट्रैक्ट पर हैं.


Platformer के केसी न्यूटन ने ट्वीट कर कहा कि कॉन्ट्रैक्ट कर्मचारियों को बिल्कुल भी सूचित नहीं किया जा रहा है. वे सिर्फ स्लैक और ईमेल तक पहुंच खो रहे हैं। कर्मचारियों के सिस्टम से गायब होने के बाद भी उनके मैनेजरों को इसका पता चला.


न्यूटन ने अपनी पोस्ट में कहा कि उन्हें अपने अधिकारियों से इसकी कोई सूचना नहीं मिली. इसके साथ ही न तो ट्विटर और न ही मस्क ने वीकेंड पर शुरू हुई इस छंटनी के बारे में कोई प्रतिक्रिया दी है.


एक मैनेजर ने कंपनी के इंटरनल मैसेजिंग प्लेटफॉर्म स्लैक पर लिखा कि हमारी चाइल्ड सेफ्टी वर्कफ़्लो में महत्वपूर्ण परिवर्तन करने के दौरान ही बिना किसी सूचना के मेरे कॉन्ट्रैक्ट कर्मचारियों में से एक डिएक्टिवेट हो गया.


Engadget ने अपनी रिपोर्ट में कहा कि ट्विटर कर्मचारियों की आधी टीम का सफाया होने के बाद कई कॉन्ट्रैक्ट कर्मचारी ऐसी टीमों का हिस्सा थे जिसमें कोई भी फुल टाइम कर्मचारी शामिल नहीं था.


बता दें कि, अरबपति कारोबारी एलन मस्क (Elon Musk) ने बीते 27 अगस्त को ट्विटर का अधिग्रहण करने के बाद वहां बड़े पैमाने पर कर्मचारियों को बाहर का रास्ता दिखाया है. पिछले सप्ताह ट्विटर ने अपने 7,500 कर्मचारियों में से लगभग 50 फीसदी यानी 3700 कर्मचारियों को बाहर कर दिया.


कंपनी ने भारत में अपने करीब 80 फीसदी कर्मचारियों को नौकरी से निकाल दिया है. इस छंटनी से पहले भारत में कंपनी के 230 कर्मचारी काम रहे थे. कंपनी ने इनमें से 180 को नौकरी से निकाला है.


Edited by Vishal Jaiswal