उबर ड्राइवर राइड एक्सेप्ट करने के बाद नहीं पूछेंगे 'जाना कहां है', नई सुविधा से ट्रिप कैंसिलेशन में आएगी कमी

By yourstory हिन्दी
July 15, 2022, Updated on : Sat Aug 13 2022 12:28:21 GMT+0000
उबर ड्राइवर राइड एक्सेप्ट करने के बाद नहीं पूछेंगे 'जाना कहां है', नई सुविधा से ट्रिप कैंसिलेशन में आएगी कमी
उबर की नवगठित राष्ट्रीय ड्राइवर सलाहकार परिषद से मिले सुझावों के आधार पर यह कदम उठाया है.
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

Uber के कैब ड्राइवर अब बुकिंग के समय ही सवारी के गंतव्य स्थल की जानकारी पा सकेंगे. उबर ने कहा है कि वह यह सुविधा शुरू करने वाली है. उबर इंडिया ने एक बयान में कहा कि बुकिंग के बाद यात्रा कैंसिल करने की घटनाओं में कमी लाने के लिए ड्राइवरों को राइड एक्सेप्ट करते वक्त ही यात्रा के गंतव्य स्थल के बारे में जानकारी देने का फैसला किया गया है. उबर की नवगठित राष्ट्रीय ड्राइवर सलाहकार परिषद से मिले सुझावों के आधार पर यह कदम उठाया है.


कैब सेवा से जुड़े चालकों की राय जानने के लिए कंपनी ने इस परिषद का गठन मार्च, 2022 में किया था. उबर ने कहा, ‘‘सवारी एवं ड्राइवर दोनों की फ्रस्ट्रेशन को कम करने और पारदर्शिता बढ़ाने के लिए अब भारत में उबर के प्लेटफॉर्म पर मौजूद ड्राइवर बुकिंग एक्सेप्ट करने से पहले गंतव्य स्थल को देख पाएंगे.’’ अभी तक उबर के ड्राइवरों को गंतव्य स्थल के बारे में जानकारी ऐप के जरिए नहीं मिल पाती थी. इसकी वजह से बुकिंग स्वीकार करने के बाद कई ड्राइवर सवारी को ले जाने से इनकार कर देते थे. इससे सवारियों को भी काफी समस्याएं होती रही हैं.

मई में पायलट प्रॉजेक्ट पूरा

उबर ने मई में इस सुविधा के लिए एक पायलट प्रॉजेक्ट पूरा किया है. ट्रिप कैंसि​लेशन में कमी के मामले में इसके नतीजे काफी अच्छे रहे हैं. कंपनी का कहना है कि उबर, ड्राइवर्स और राइडर्स से मिलने वाले फीडबैक पर नजर रखेगी और अगर जरूरत हुई तो बदलाव करेगी.

ओटीपी बेस्ड लॉगइन भी

इसके अलावा उबर ने अपने प्लेटफॉर्म पर ईज ऑफ डूइंग बिजनेस की दिशा में एक ओटीपी बेस्ड लॉगइन भी इंट्रोड्यूस किया है. इससे ड्राइवर्स को पासवर्ड या अन्य डिटेल्स याद रखने की जरूरत नहीं होगी. इसके अलावा उबर ने अपने ऑटो एवं मोटो ड्राइवरों को अपने ऐप में एक होम बटन देने का भी फैसला किया है जिसकी मदद से वे जरूरत पड़ने पर सहयोग मंगा सकेंगे.


Edited by Ritika Singh