यूनिकॉर्न उड़ान ने 180 कर्मचारियों को निकाला, कहा- नए टैलेंट को हायर करना जारी रखेंगे

By Vishal Jaiswal
June 28, 2022, Updated on : Sat Aug 13 2022 12:57:30 GMT+0000
यूनिकॉर्न उड़ान ने 180 कर्मचारियों को निकाला, कहा- नए टैलेंट को हायर करना जारी रखेंगे
बिजनेस-टू-बिजनेस (B2B) ई-कॉमर्स यूनिकॉर्न उड़ान ने अपने 180 कर्मचारियों को निकाल दिया है जो कि उनके कार्यबल का लगभग 4-5 फीसदी है. इतने कर्मचारियों को निकालने से पहले कंपनी का कुल कार्यबल करीब 4000 था.
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

बिजनेस-टू-बिजनेस (B2B) ई-कॉमर्स यूनिकॉर्न उड़ान ने अपने 180 कर्मचारियों को निकाल दिया है जो कि उनके कार्यबल का लगभग 4-5 फीसदी है. इतने कर्मचारियों को निकालने से पहले कंपनी का कुल कार्यबल करीब 4000 था.


कंपनी के प्रवक्ता ने कहा कि मजबूत अर्थव्यवस्था के लक्ष्य को हासिल करने के लिए हमने अपनी कार्यक्षमता को बढ़ाने, लागत के ढांचे को बेहतर बनाने और तेजी से आगे बढ़ने के लिए कई कदम उठाए हैं. हालांकि, कार्यक्षमता बढ़ाने के अभ्यास में अब कई भूमिकाओं की आवश्यकता नहीं है.


उन्होंने आगे कहा कि वहीं दूसरी तरफ कंपनी की लंबे समय की योजना में हम अपना कारोबार बढ़ाने के लिए नए टैलेंट को हायर करना जारी रखेंगे.


साल 2023 तक अपना कारोबार शेयर बाजार में सूचीबद्ध कराने की घोषणा करने वाली उड़ान ने पिछले साल अक्टूबर और इस साल अप्रैल के बीच 21.6 अरब रुपये का परिवर्तनीय कर्ज लिया है.


उड़ान ने जनवरी 2020 में आखिरी बार हिस्सेदारी देकर फंडिंग जुटाई थी और तब उसकी वैल्यू 2.4 खरब थी. उसके निवेशकों में DST Global, Lightspeed Venture Partner और GGV Capital व अन्य हैं.


ई-कॉमर्स वेबसाइट फ्लिपकार्ट के तीन पूर्व कार्यकारियों वैभव गुप्ता, अमोद मालवीय और सुजीत कुमार द्वारा साल 2016 में स्थापित इस कंपनी का ऑपरेशन लाइफस्टाइल, इलेक्ट्रॉनिक्स, होम एवं किचन, स्टैपल्स, फ्रूट्स एवं वेजिटेबल्स, FMCG, फॉर्मा, खिलौने और जनरल मर्चेंटाइज कैटेगरीज में है.


पिछले साल सितंबर में कंपनी ने कहा था कि अगले 18 से 24 महीनों में कंपनी को सार्वजनिक तौर पर सूचीबद्ध कराने के लिए गुप्ता को सीईओ नियुक्त किया गया है. इससे पहले तीन फाउंडरों के बीच सीईओ का ढांचा नहीं था.


बता दें कि, पिछले साल की बढ़ोतरी के विपरित  अन्य ई-कॉमर्स कंपनियों की तुलना में उड़ान का मूल्यांकन 2019 में 2.2 खरब रुपये से बढ़कर जनवरी 2021 में 2.3 खरब रुपया हो गया.


इस साल की शुरुआत में, उड़ान ने कहा कि देशभर में उसके 30 लाख से अधिक यूजर्स, 17 लाख खुदरा विक्रेता और 30,000 विक्रेता हैं.

प्लेटफॉर्म बी2बी व्यापार पर केंद्रित सप्लाई चेन और लॉजिस्टिक ऑपरेशंस को सक्षम बनाता है और उड़ान एक्सप्रेस के माध्यम से 900 से अधिक शहरों और 12,000 से अधिक पिन कोड में रोजाना वितरण के लिए मजबूत तकनीक पर बनाया गया है.


यह उड़ानकैपिटल के माध्यम से छोटे व्यवसायों, निर्माताओं और खुदरा विक्रेताओं को अपने व्यवसाय को बढ़ाने के लिए वित्तीय उत्पादों और सेवाओं को सक्षम बनाता है.