Union Budget 2022: वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने की मानसिक स्वास्थ्य कार्यक्रम शुरू करने की घोषणा

Union Budget 2022: वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने की मानसिक स्वास्थ्य कार्यक्रम शुरू करने की घोषणा

Tuesday February 01, 2022,

2 min Read

वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण आज अपना चौथा बजट पेश कर रही हैं, जिसका उद्देश्य भारत के लिए दुनिया की सबसे तेजी से बढ़ती अर्थव्यवस्था को बनाए रखना है। केंद्रीय बजट 2022 पेश करते हुए, वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने घोषणा की कि एक राष्ट्रीय मानसिक स्वास्थ्य कार्यक्रम शुरू किया जाएगा। सीतारमण ने COVID-19 महामारी के प्रतिकूल स्वास्थ्य और आर्थिक प्रभावों से प्रभावित लोगों के साथ सहानुभूति व्यक्त करके बजट 2022 की अपनी प्रस्तुति शुरू की।

वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने केंद्रीय बजट पेश करते हुए कहा कि मानसिक स्वास्थ्य परामर्श के लिए एक राष्ट्रीय टेली-मानसिक स्वास्थ्य कार्यक्रम शुरू किया जाएगा और इस कार्यक्रम के लिए IIT बैंगलोर तकनीकी सहायता प्रदान करेगा। 

साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि राष्ट्रीय डिजिटल स्वास्थ्य पारिस्थितिकी तंत्र के लिए एक खुला मंच तैयार किया जाएगा।

उन्होंने कहा,

"इसमें स्वास्थ्य प्रदाताओं और स्वास्थ्य सुविधाओं की डिजिटल रजिस्ट्रियां, अद्वितीय स्वास्थ्य पहचान और स्वास्थ्य सुविधाओं तक सार्वभौमिक पहुंच शामिल होगी।"

उन्होंने कहा कि सरकार देश में युवाओं, महिलाओं और गरीब वर्ग को सशक्त बनाने पर ध्यान केंद्रित कर रही है, साथ ही सरकार का अगला लक्ष्य 60 लाख नौकरियां पैदा करना है। बजट उत्तर प्रदेश में पहले चरण के मतदान से कुछ दिन पहले आया है। मार्च में समाप्त होने वाले वित्तीय वर्ष में भारतीय अर्थव्यवस्था के 9.2 प्रतिशत के विस्तार का अनुमान है, जो कि पिछले वित्त वर्ष में 7.3 प्रतिशत रहा।

वित्तमंत्री ने कहा,

"चालू वर्ष में भारत की आर्थिक वृद्धि 9.2 प्रतिशत रहने का अनुमान है, जो सभी बड़ी अर्थव्यवस्थाओं में सबसे अधिक है।"

प्रस्तुति से पहले केंद्रीय मंत्रिमंडल की बैठक आयोजित की गई, जिसमें 2022-23 के बजट को मंजूरी दी गई। सीतारमण ने बजट पेश करने से पहले राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से मुलाकात की। उनके साथ वित्त राज्य मंत्री पंकज चौधरी, भागवत कराड और मंत्रालय के अन्य अधिकारी भी मौजूद थे।