अमेरिका जाने वालों के सपने न रह जाएं अधूरे इसलिए आप्रवासियों की क्रेडिट हिस्ट्री बनाने में यूं मदद कर रहा है ये स्टार्टअप

10th Feb 2020
  • +0
Share on
close
  • +0
Share on
close
Share on
close

अमेरिकी ड्रीम का पीछा करने के लिए हर साल अमेरिका जाने वाले सभी प्रवासियों के लिए कुछ ऐसी वास्तविकताओं का सामना करना पड़ता है जो उनकी 'खुशी की खोज' में बाधा पहुंचा सकती हैं। एक अच्छा क्रेडिट स्कोर या क्रेडिट हिस्ट्री के साथ क्रेडिट कार्ड रखना बैंकों के लिए आपको पैसे उधार देने के लिए काफी महत्वपूर्ण होता है। ऐसे में जब वे अमेरिका आते हैं तो अप्रवासियों (immigrants) को फाइनेंस एक्सेस करने में काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है।


इन्हीं दिक्कतों को ध्यान में रखते हुए नवीन कुरैशी, टावर्स विलेन और लेडी पौले ने सेबल (Sable) की शुरुआत की। दिसंबर 2018 में स्थापित, स्टार्टअप ने अप्रवासियों को क्रेडिट दिलाने के लिए एक प्लेटफॉर्म बनाया है।


क

सेबल के फाउंडर्स



सेबल की सह-संस्थापक और सह-सीईओ नवीन कुरैशी कहती हैं,

"हम उन लोगों के लिए क्रेडिट की पहुंच की समस्या को हल कर रहे हैं जो अमेरिका के लिए नए हैं। अमेरिकी बैंक और फिनटेक जैसे दिग्गज लेगेसी क्रेडिट रिस्क मॉडल पर काम करते हैं जो एक ग्राहक को क्रेडिट देने के लिए अमेरिकी क्रेडिट हिस्ट्री को देखते हैं। क्रेडिट हिस्ट्री बनाने में वर्षों लगते हैं, और अप्रवासियों के पास इतना समय नहीं होता है। ऐसे में इन अप्रवासियों को क्रेडिट तक पहुंच से वंचित कर दिया जाता है। इसके अतिरिक्त, बैंक खाते खोलते समय भी नए प्रवासियों को कुछ मुद्दों का सामना करना पड़ता है।"


अमेरिका में अप्रवासियों के जाते ही उन्हें सोशल सिक्योरिटी नंबर जैसे अन्य दस्तावेजों की भी जरूरत होती है उपलब्ध नहीं होते हैं। नवीन बताती हैं कि छात्रों के मामले में, आईडी चार या उससे ज्यादा सालों तक उपलब्ध नहीं होती है।


संस्थापक कहानी

सेबल ने एक ही समय में क्रेडिट डिफॉल्ट रेट्स को अमेरिकी इंडस्ट्री स्टैंडर्ड के नीचे रखते हुए यूएस क्रेडिट हिस्ट्री की आवश्यकता के बिना कस्टमर की क्रेडिट रिस्क रेटिंग निर्धारित करने के लिए एक प्रोपराइटरी क्रेडिट रिस्क मॉडल बनाया है। स्टार्टअप का कहना है कि ये अपनी तरह का पहला मॉडल है। इसके अलावा, सेबल आइडेंटिटी वेरिफिकेशन के लिए SSN के बदले अलग से डॉक्यूमेंट्स का उपयोग करता है।


सेबल के संस्थापक 2017 में न्यूयॉर्क सिटी के कोलंबिया बिजनेस स्कूल में मिले थे। नवीन बिजनेस स्कूल के लिए टोरंटो से न्यूयॉर्क सिटी आई थीं और उन्हें यहां पहली बार एक अप्रवासी के रूप में अमेरिकी फाइनेंशियल सिस्टम की चुनौतियों का अनुभव हुआ।


उनकी कनाडाई क्रेडिट हिस्ट्री या फाइनेंशियल प्रोडक्ट्स ने उनकी मदद नहीं की। वह आंद्रेज से मिलीं, उन्होंने ने भी उसी तरह की समस्याओं का सामना किया था जब वे यूरोप से ग्रैजुएट स्कूल के लिए बाहर निकले थे। फिर उन्होंने टावर्स (टीम में एकमात्र अमेरिकी) को समाधान निकालने के लिए अपने साथ जोड़ा। तीनों संस्थापकों को कॉर्पोरेट अनुभव है और नवीन ने स्टार्टअप शुरू करने से पहले कैपिटल वन में काम किया है।


साथ मिलकर तीनों ने 300 अप्रवासियों से बात करने में हफ्ते बिताए, ताकि वे उन समस्याओं की पहचान कर सकें जिन्हें वे फेस कर रहे हैं, बाजार के बारे में जान सकें, नियमों को समझ सकें और रिवेन्यू हासिल करने के बारे में जान सकें। सेबल ने अंडरराइटिंग मॉडल बनाने के लिए बैंकों और अल्टरनेटिव डेटा सर्विस प्रोवाइडर्स के साथ साझेदारी शुरू की। अमेरिकी जनगणना के अनुसार, अमेरिका में तीन मिलियन के करीब भारतीय हैं।


पाई रिसर्च के अनुसार, 2016 में एक मिलियन से अधिक आप्रवासियों ने अकेले अमेरिका में प्रवेश किया और यह संख्या उस वर्ष से लगातार बनी हुई है। और उन सभी को अपनी विभिन्न आवश्यकताओं के लिए अपने क्रेडिट स्कोर को बनाने की आवश्यकता होगी।


क्रेडिट हिस्ट्री अप्रवासियों को कई तरह से प्रभावित करती है - एक फोन प्लान लेने से लेकर अपार्टमेंट किराए पर लेने, नौकरी या मोर्टाज लेने तक, हर जगह आपको क्रेडिट हिस्ट्री की जरूरत होती है।


संस्थापकों का कहना है कि सेबल ने आप्रवासियों के लिए दरवाजे खोल दिए हैं ताकि वे अपने अमेरिकी साथियों के साथ बराबरी से शुरू कर सकें।


नवीन कहती हैं,

"हमारा विजन उनकी वित्तीय जरूरतों के साथ किसी भी देश से दूसरे देश जाने वाले प्रवासियों की मदद के लिए एक वैश्विक बैंक बनने की है।"


द चैलेंजर बैंक मॉडल

सेबल एक चैलेंजर बैंक के रूप में भी काम करता है- जिसे स्टार्टअप बैंक भी कहा जाता है और यह रिटेल बैंकिंग स्पेस में बड़े पारंपरिक बैंकों के साथ कंपटीशन करता है। सेबल बैंकिंग और क्रेडिट प्रोडक्ट्स की एक पूरी सर्विस आप्रवासियों को प्रदान करता है, जो यंग स्टार्टअप्स के लिए एक डिफ्रेंशिएटर के रूप में कार्य करता है।


सेबल ऐप आईओएस पर उपलब्ध है और क्विक आइडेंटिटी वेरिफिकेशन के साथ ऑन-बोर्ड हुआ जा सकता है। नवीन बताती हैं कि फिजिकल कार्ड के मेल में आने तक का इंतजार करने से पहले केवल पांच मिनट के भीतर, यूजर्स के पास एक वर्चुअल डेबिट कार्ड और क्रेडिट कार्ड उपलब्ध होता है जिसे वे तुरंत उपयोग कर सकते हैं।


चूंकि अप्रवासियों के पास यूएस क्रेडिट हिस्ट्री नहीं होती है, इसलिए यूएस क्रेडिट ब्यूरो डेटा के अलावा, सेबल प्रत्येक आवेदक के क्रेडिट रिस्क को निर्धारित करने के लिए वैकल्पिक स्वामित्व डेटा का उपयोग करता है और ग्राहकों को उचित रूप से पहुंच प्रदान करता है। एक आप्रवासी एक सोशल सिक्योरिटी नंबर की आवश्यकता के बिना एक अमेरिकी बैंक खाते और क्रेडिट कार्ड के लिए साइन अप कर सकता है वो भी अमेरिका जाने से पहले।


नवीन कहती हैं कि स्टार्टअप हाई क्रेडिट लिमिट, जीरो-फीस चेकिंग अकाउंट, और विशेष रूप से अंतरराष्ट्रीय स्तर पर फ्री इंटरनेशनल मनी ट्रांसफर जैसे लाभ के साथ एक अनसिक्योर्ड क्रेडिट कार्ड प्रदान करता है।





सेबल ने 2019 की गर्मियों के दौरान वाई कॉम्बिनेटर से फंडिंग जुटाई। नवीन कहती हैं,

"हमने वाई-कॉम्बिनेटर के डेमो डे से कुछ दिन पहले अगस्त के मध्य में अपना पायलट लॉन्च किया। हमने सेबल प्रोडक्ट्स की मार्केटिंग और उनके लाभों के बारे में बताते हुए दो स्लैक मैसेजेस भेजे - एक कोलंबिया में अंतरराष्ट्रीय छात्र समूह को और दूसरा स्टैनफोर्ड में अंतरराष्ट्रीय छात्र समूह को। इन दो स्लैक मैसेजेस के माध्यम से, और हमारे YC कोहर्ट में कुछ अंतरराष्ट्रीय लोगों के माध्यम से, 10 दिनों के भीतर हमने 300 ग्राहकों को अपने साथ जोड़ा।"


बूटस्ट्रैप्ड स्टार्टअप ने वाई कॉम्बिनेटर से सीड इन्वेस्टमेंट में 120,000 डॉलर से अधिक की फंडिंग जुटाई है।


अपने मॉडल पर बात करते हुए नवीन कहती हैं,

"हमारी करेंट ऑफरिंग एक डेबिट कार्ड (एक चेकिंग अकाउंट से जुड़ा हुआ) और एक क्रेडिट कार्ड है, इसलिए इस लेवल पर हमारे बिजनेस मॉडल / रिवेन्यू स्ट्रीम सभी क्रेडिट इकॉनमिक्स और बैंकिंग हैं। हम तीन स्ट्रीम्स के माध्यम से रिवेन्यू कमाते हैं : इंटरचेंज - अर्थात्, हम ग्राहक द्वारा किए जाने वाले प्रत्येक लेनदेन का एक प्रतिशत कमाते हैं। ब्याज (इंट्रेस्ट) और एक रिवॉर्ड कार्ड के लॉन्च के साथ, हम रिवॉर्ड क्रेडिट कार्ड पर एक मासिक शुल्क भी अर्जित करेंगे।"


इंजीनियरों की एक छोटी टीम के साथ टेक्नोलॉजी का निर्माण किया जाता है। सेबल गूगल क्लाउड पर सब कुछ होस्ट करता है।


अगला कदम

2018 के अंत तक, अमेरिकी बैंकिंग सिस्टम की संपत्ति में 17.9 ट्रिलियन डॉलर और 236.8 बिलियन डॉलर की शुद्ध आय थी। यह क्षेत्र बैंकिंग संस्थानों में सबसे बड़ी विविधता और दुनिया में कहीं भी निजी ऋण की एकाग्रता के साथ दुनिया की सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था को सपोर्ट करता है। अमेरिकी अर्थव्यवस्था में अवसर बड़ा होता है जब यह उपभोक्ताओं की सेवा की बात आती है तब। 


ग्राहकों की प्रतिक्रिया और जरूरतों के आधार पर, स्टार्टअप अगले 18 महीनों में अधिक प्रोडक्ट्स और फीचर्स को लॉन्च करने की योजना बना रहा है। वे कहती हैं,

"हम एक अनसिक्योर्ड क्रेडिट पायलट चला रहे हैं। अनसिक्योर्ड क्रेडिट के साथ, ग्राहकों को एक सिक्योर मनी जमा करने की आवश्यकता नहीं होगी और स्टार्टर कार्ड या सिक्योर्ड कार्ड की तुलना में हाई लिमिट्स होगी। यह हमारे कस्टमर बेस के लिए गेम-चेंजिंग होगा, इसको लेकर हमें पहले से ही बहुत सारी सकारात्मक प्रतिक्रिया मिली है।”


सेबल इस महीने एक एंड्रॉइड ऐप भी लॉन्च करेगा। स्टार्टअप फिलहाल किसी भी वित्तीय जानकारी के बारे में खुलासा नहीं करना चाहता है लेकिन वे कहते हैं कि यह क्रेडिटस्टैक और पेटल के साथ प्रतिस्पर्धा करता है। और नोवा क्रेडिट के साथ पार्टनर है जो इसी लाइन में एक स्टार्टअप है। 


Want to make your startup journey smooth? YS Education brings a comprehensive Funding Course, where you also get a chance to pitch your business plan to top investors. Click here to know more.

  • +0
Share on
close
  • +0
Share on
close
Share on
close

Our Partner Events

Hustle across India