इंप्लॉई खरीदेगा इलेक्ट्रिक व्हीकल तो कंपनी देगी 50% तक इंसेंटिव, जानें कौन लेकर आया ऐसा तोहफा

नई लॉन्च ईवी पॉलिसी कंपनी के कर्मचारियों के लिए दिसंबर 2022 से की जाने वाली खरीद से ही प्रभाव में आ जाएगी.

इंप्लॉई खरीदेगा इलेक्ट्रिक व्हीकल तो कंपनी देगी 50% तक इंसेंटिव, जानें कौन लेकर आया ऐसा तोहफा

Wednesday December 21, 2022,

2 min Read

ग्लोबली डायवर्सिफाइड नेचुरल रिसोर्सेज फर्म वेदांता लिमिटेड (Vedanta Limited) अपने कर्मचारियों के लिए एक खास तोहफा लेकर आई है. यह तोहफा है ईवी (इलेक्ट्रिक व्हीकल) पॉलिसी का. कंपनी द्वारा लाई गई ईवी पॉलिसी (Vedanta EV Policy) के तहत अगर वेदांता लिमिटेड का कोई कर्मचारी इलेक्ट्रिक वाहन (Electric Vehicle) खरीदता है तो कंपनी की ओर से उसे 30 से 50 प्रतिशत तक का इंसेंटिव दिया जाएगा. इस बारे में वेदांता लिमिटेड की ओर से एक बयान जारी किया गया है. बयान में कंपनी ने कहा कि सस्टेनेबिलिटी की ओर एक बड़े कदम के तौर पर वेदांता लिमिटेड ने सभी लोकेशंस पर अपने कर्मचारियों के लिए ईवी पॉलिसी लॉन्च की है.

नई पॉलिसी के तहत कंपनी इलेक्ट्रिक फोर व्हीलर और इलेक्ट्रिक टू व्हीलर की खरीद के मामले में विभिन्न इंप्लॉई ग्रेड्स के लिए 30-50 प्रतिशत तक के इंसेंटिव के साथ सभी कर्मचारियों को रियायतें दे रही है. वेदांता का कहना है कि ग्लोबल जीएचजी एमिशंस (उत्सर्जन) के लगभग 12 प्रतिशत के लिए रोड बेस्ड ट्रांसपोर्टेशन जिम्मेदार है. नेट-जीरो कार्बन (Net-Zero Carbon) की दिशा में अपनी प्रतिबद्धता के हिस्से के रूप में वेदांता ने 2030 तक अपने सभी लाइट मोटर व्हीकल्स को डिकार्बोनाइज्ड करने का बीड़ा उठाया है. नई लॉन्च ईवी पॉलिसी कंपनी के कर्मचारियों के लिए दिसंबर 2022 से की जाने वाली खरीद से ही प्रभाव में आ जाएगी.

EV को अपनाने में आएगी तेजी, माइंडसेट होगा चेंज

वेदांता लिमिटेड के ग्रुप सीईओ सुनील दुग्गल का कहना है कि इस पॉलिसी से कर्मचारियों के बीच इलेक्ट्रिक व्हीकल को अपनाया जाना बढ़ेगा. साथ ही माइंडसेट चेंज होगा, जो सस्टेनेबल फ्यूचर के लिए भारत के ग्रीन मोबिलिटी पुश को और बूस्ट देगा. इस पहल के साथ हम अन्य कॉरपोरेट्स से सस्टेनेबिलिटी को अपने ऑपरेशंस में शामिल करने और नेट जीरो की ओर बढ़ने में देश को जॉइन करने का आह्वान भी करते हैं.

नेट-जीरो के लिए 10 वर्षों में खर्च करेगी 5 अरब डॉलर

वेदांता लिमिटेड 2050 या उससे पहले कार्बन उत्सर्जन (Carbon Emission) को घटाकर शून्य तक लाने के लिए प्रतिबद्ध है. नेट जीरो ऑपरेशंस के लिए ट्रांजिशन को तेज करने के लिए कंपनी का लक्ष्य अगले 10 वर्षों में 5 अरब डॉलर खर्च करने का है. वेदांता लिमिटेड ने हाल ही में '1t.org- द वन ट्रिलियन ट्री प्लेटफॉर्म' को जॉइन करके वर्ल्ड इकनॉमिक फोरम (World Economic Forum) के साथ पार्टनरशिप की है. साथ ही रि​जीलिएंट पर्यावरण (Resilient Environment) को क्रिएट करने के लिए 70 लाख पेड़ उगाने की भी प्रतिबद्धता जताई है.