स्टार्टअप्स ने भारत के इस जिले में बदली 5G की तस्वीर, बनाया अनोखा रिकॉर्ड

By रविकांत पारीक
January 14, 2023, Updated on : Sat Jan 14 2023 07:10:26 GMT+0000
स्टार्टअप्स ने भारत के इस जिले में बदली 5G की तस्वीर, बनाया अनोखा रिकॉर्ड
विदिशा, स्टार्टअप्स द्वारा प्रस्तावित इनोवेटिव 5G उपयोग मामलों की जमीनी स्तर पर तैनाती करने वाला भारत का पहला जिला बना
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

विदिशा, मध्य प्रदेश का एक आकांक्षी जिला है जो स्टार्टअप्स द्वारा प्रस्तावित इनोवेटिव 5G उपयोग मामलों की जमीनी स्तर पर तैनाती करने वाला भारत का पहला जिला बन गया है. अपर सचिव (दूरसंचार) एवं प्रशासक USOF के मार्गदर्शन में विदिशा जिला प्रशासन और सेंटर फॉर डेवलपमेंट ऑफ टेलामैटिक्स (C-DOT), दूरसंचार विभाग की यह एक संयुक्त पहल है.


सामाजिक-आर्थिक वर्टिकल्स में डिजिटल परिवर्तन की गति बढ़ाने के लिए दूरसंचार विभाग ने दूरसंचार स्टार्टअप्स और एमएसएमई मिशन (TSuM) तथा 5G वर्टिकल एंगेजमेंट पार्टनरशिप प्रोग्राम (VEPP) के तहत डिजिटल संचार तकनीक - स्टार्टअप और एसएमई को संभावित उपयोगकर्ता समुदायों यानी राज्य सरकारें, स्मार्ट शहर, आकांक्षी जिले, वर्टिकल उद्योगों को सहयोग की सुविधा प्रदान कर रहा है. सेंटर फॉर डेवलपमेंट ऑफ टेलीमैटिक्स (C-DOT), दूरंसचार विभाग उभरती हुई डिजिटल संचार तकनीकों में अग्रणी है, जो "5G उपयोग मामला प्रोत्साहक पायलट" का अग्रगामी है और स्वास्थ्य, कृषि, डेयरी, शिक्षा तथा कौशल विकास पर ध्यान केंद्रित करते हुए विदिशा समुदाय को बड़े पैमाने पर लाभान्वित करने के लिए विदिशा (आकांक्षी जिला), मध्य प्रदेश में स्टार्टअप्स और एसएमई के लिए 5G/4G/IoT नवाचारी समाधान तैनात कर रहा है.

5G उपयोग मामला प्रोत्साहक पायलट

12 जनवरी 2023 को अपर सचिव दूरसंचार की विदिशा जिले की यात्रा के दौरान सी-डॉट के सहयोग से स्टार्टअप्स द्वारा निम्नलिखित 5G/IoT उपयोग मामलों का प्रदर्शन किया गया:


  • Superceuticals: 5G/4G सक्षम स्मार्ट हेल्थ कियोस्क के साथ महत्व्पूर्ण परीक्षणों का तुरंत मापन है.


  • Ambupod: दूरस्थ डॉक्टर सहायता के साथ मूल जीवन सुरक्षा समर्थन की सहायता से G/4G सक्षम ऑटो एम्बुलेंस.


  • LogyAI: मोतियाबिंद रोग की त्वरित और प्रभावी जांच के लिए स्मार्ट फोन का उपयोग कर कैटेरेक्ट (मोतियाबिंद) आई स्क्रीनिंग एप्लिकेशन


  • Easiofy: प्रभावी निदान के लिए फेफड़े और मस्तिष्क स्कैन (CT/XRAY आदि) के लिए AR/VR-3D विज़ुअलाइज़ेशन एप्लिकेशन.


  • TechXR: नवाचारी शिक्षक विधियों के लिए शिक्षण और पाठन उपकरण हेतु छात्रों के लिए AR/VR-3D इमर्सिव एक्सपीरियंस किट.


  • BKC Aggregators: फसल सलाह ऐप- किसानों मंडियों/व्यापारियों, राज्य सब्सिडी/फसलों के लिए बीमा के साथ जुड़ने और सूचित निर्णय लेने के व्यक्तिगत फसल परामर्श.


  • Dvara-Surabhi: राज्य विभाग और बीमा कंपनियों द्वारा उपयोग की जाने वाली मवेशियों की अद्वितीय बायोमेट्रिक थूथन पहचान, और डेयरी किसानों द्वारा उपयोग की जाने वाली मवेशियों की स्वास्थ्य स्थिति की भविष्यवाणी


  • C-DOT (R&D Arm of DoT): टेली परामर्श और ई-लर्निंग समाधान सूट को सक्षम करने वाले सभी स्वास्थ्य सूटों को एकीकृत करने वाला वन स्टॉप प्लेटफॉर्म.


5G उपयोग मामला प्रोत्साहक पायलट के तहत, उपरोक्त उपयोग के मामलों को सामुदायिक और जिला स्वास्थ्य केंद्रों, मॉडल स्कूलों, कृषि और डेयरी किसानों, कौशल विकास केंद्रों में 1 वर्ष की अवधि के लिए तैनात किया जाएगा. बाद में इस अवधि को जरूरत के अनुसार बढ़ाया भी जा सकता है. ये डिजिटल समाधान विदिशा के उपयोगकर्ता समुदायों को निर्बाध सेवाएं उपलब्ध कराने के लिए भारतनेट ब्रॉडबैंड द्वारा संचालित किए जाएंगे.

यह भी पढ़ें
राष्ट्रीय स्टार्टअप पुरस्कार 2022 की घोषणा 16 जनवरी 2023 को होगी
Clap Icon0 Shares
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Clap Icon0 Shares
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close