बचत विकल्पों में क्या होती है EEE कैटेगरी, क्यों टैक्स सेविंग के लिए मानी जाती है बेस्ट

By Ritika Singh
May 28, 2022, Updated on : Sun May 29 2022 04:45:40 GMT+0000
बचत विकल्पों में क्या होती है EEE कैटेगरी, क्यों टैक्स सेविंग के लिए मानी जाती है बेस्ट
टैक्स सेविंग के मामले में EEE कैटेगरी के विकल्प को बेस्ट माना जाता है. EEE यानी 'एग्जेंप्ट-एग्जेंप्ट-एग्जेंप्ट'.
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

जब भी निवेश या बचत की बात चलती है तो हममें से ज्यादातर लोग ऐसे इंस्ट्रूमेंट खोजते हैं जो टैक्स सेविंग (Tax Saving) में भी मदद करें. इसे एक पंथ दो काज भी कह सकते हैं... वह ऐसे कि अगर केवल अच्छे रिटर्न वाले इंस्ट्रूमेंट में पैसा लगाया और वह टैक्स सेवर नहीं है तो टैक्स सेविंग के लिए कोई दूसरा विकल्प खोजना होगा. इसलिए अच्छा यही माना जाता है कि अच्छे रिटर्न के साथ-साथ टैक्स बचाने वाले विकल्प को ही चुना जाए.


टैक्स सेविंग के मामले में EEE कैटेगरी के विकल्प को बेस्ट माना जाता है. EEE यानी 'एग्जेंप्ट-एग्जेंप्ट-एग्जेंप्ट'. अब इसका मतलब समझते हैं. EEE कैटेगरी से अर्थ है ऐसा टैक्स सेविंग विकल्प जिसमें लगाया जाने वाला पैसा, उस पर आने वाला ब्याज और मैच्योरिटी पर मिलने वाला अमाउंट तीनों पर टैक्स से छूट रहे.

EEE कैटेगरी वाले निवेश विकल्प

अगर आप EEE कैटेगरी वाले निवेश विकल्प तलाश रहे हैं तो पब्लिक प्रोविडेंट फंड (PPF) और सुकन्या समृद्धि स्कीम (SSY) मौजूद हैं. PPF अकाउंट को जहां कोई भी भारतीय नागरिक खुलवा सकता है, वहीं SSY केवल 10 साल से कम उम्र की बच्ची के नाम पर ही खुलवाया जा सकता है. दोनों ही स्कीम्स में लगाए जाने वाले पैसे पर आयकर कानून के सेक्शन 80C के तहत डिडक्शन क्लेम किया जा सकता है. साथ ही निवेश किए जाने वाले पैसे पर मिलने वाला ब्याज और मैच्योरिटी के वक्त प्राप्त होने वाला अमाउंट टैक्सेबल नहीं है.

रिटर्न भी रहता है अच्छा

PPF पर मौजूदा ब्याज दर 7.1 फीसदी सालाना है. PPF में एक वित्त वर्ष में न्यूनतम 500 रुपये और अधिकतम 1.5 लाख रुपये जमा किए जा सकते हैं. PPF अकाउंट डाकघर और बैंकों में खोला जा सकता है. इसे नाबालिग के नाम पर भी खुलवा सकते हैं. PPF का मैच्योरिटी पीरियड 15 साल है लेकिन अकाउंट के 5 साल पूरे होने पर कुछ खास परिस्थितियों में इसे मैच्योरिटी से पहले क्लोज करा सकते हैं.


SSY अकाउंट में डिपॉजिट अधिकतम 15 वर्ष तक किया जा सकता है. अभी इस स्कीम पर ब्याज दर 7.6 फीसदी सालाना है. SSY अकाउंट को पोस्ट ऑफिस या बैंक में खुलवा सकते हैं. एक बच्ची के नाम पर एक ही खाता खुलेगा और अधिकतम दो बच्चियों के लिए SSY स्कीम का फायदा लिया जा सकता है. अकाउंट को मिनिमम 250 रुपये से शुरू कर सकते हैं और इसमें एक वित्त वर्ष में न्यूनतम जमा 250 रुपये और अधिकतम 1.5 लाख रुपये तय की गई है.