SBI की खास FD: जरूरत के वक्त बचत खाते की तरह निकाल सकते हैं पैसे, पूरी तरह नहीं पड़ती तुड़वानी

By Ritika Singh
October 18, 2022, Updated on : Tue Oct 18 2022 09:17:53 GMT+0000
SBI की खास FD: जरूरत के वक्त बचत खाते की तरह निकाल सकते हैं पैसे, पूरी तरह नहीं पड़ती तुड़वानी
SBI MODS एक तरह का टर्म डिपॉजिट ही है, लेकिन इसकी खासियत यह है कि यह डिपॉजिटर के सेविंग्‍स या करंट अकाउंट से लिंक्‍ड होता है.
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

फिक्‍स्‍ड डिपॉजिट यानी FD को आज भी कई लोग निवेश/बचत का सरल और सुलभ माध्यम मानते हैं. लेकिन FD के साथ सबसे बड़ी मुश्किल यह होती है कि जरूरत पड़ने पर आपको पूरी की पूरी FD तुड़वानी पड़ती है, फिर चाहे जरूरत कुछ ही पैसों की क्‍यों न हो. लेकिन SBI (State Bank of India) की एक FD ऐसी भी है, जिससे आप जरूरत के समय सेविंग्‍स अकाउंट की तरह ही कुछ पैसे निकाल सकते हैं.


FD में बाकी बचे पैसों पर आपको ब्याज हासिल होता रहेगा. यानी आपको पूरी की पूरी FD तुड़वाने की जरूरत नहीं पड़ेगी. इस FD स्कीम का नाम है SBI मल्‍टी ऑप्‍शन डिपॉजिट स्कीम (MODS). आइए जानते हैं इस स्कीम के बारे में डिटेल में...

एक तरह का टर्म डिपॉजिट ही

SBI MODS एक तरह का टर्म डिपॉजिट ही है, लेकिन इसकी खासियत यह है कि यह डिपॉजिटर के सेविंग्‍स या करंट अकाउंट से लिंक्‍ड होता है. MODS पर भी उतना ही ब्‍याज मिलता है, जो SBI में एक रेगुलर FD पर है. विदड्रॉल के बाद ब्‍याज, प्रारंभिक जमा के समय लागू FD रेट्स के आधार पर MOD में बचे अमाउंट पर मिलता रहता है. MODS के मामले में, आप अपनी आवश्यकता के अनुसार 1000 के मल्टीप्लाइज में राशि निकाल सकते हैं. याद रहे कि लिंक्ड बचत बैंक/चालू खाते में निर्धारित एएमबी (औसत मासिक बैलेंस) बरकरार रखना होगा.

MODS की खासियत

  • इस खाते में कम से कम 1 वर्ष और अधिक से अधिक 5 वर्ष के लिए डिपॉजिट कर सकते हैं.
  • डिपॉजिट्स पूरी तरह लिक्विड हैं और चेक/एटीएम /इंटरनेट बैंकिंग के माध्यम से रु. 1000 के मल्टीप्लाइज में कितनी भी बार पैसा निकाला जा सकता है.
  • MODS के तहत न्यूनतम 10 हजार रुपये में खाता खोला जा सकता है.
  • इस खाते में जमा पर ब्याज टर्म डिपॉजिट्स की तरह ही मिलता है. वरिष्ठ नागरिकों को रेगुलर रेट+0.50 प्रतिशत अतिरिक्त दर से ब्याज मिलेगा.
  • स्कीम में डिपॉजिट पर प्रचलित दर से TDS लागू.
  • नॉमिनी बनाने की सुविधा मौजूद
  • कर्ज लेने की सुविधा मौजूद

सेविंग्स प्लस खाते वाले भी ले सकते हैं फायदा

SBI सेविंग्स प्लस खातों में ऑटो स्वीप सुविधा के माध्यम से भी एमओडी का प्रावधान उपलब्ध है. ‘ऑटो स्वीप’ सुविधा के लिए, बचत खाते/चालू खाते में मिनिमम थ्रेसहोल्ड बैलेंस एवं मिनिमम रिजल्टेंट बैलेंस क्रमशः रु. 35,000/- एवं रु. 25,000/- होना चाहिए. रु. 1000/- के मल्टीप्लाइज में न्यूनतम स्वीप राशि रु. 10,000/- है. याद रहे कि ​थ्रेसहोल्ड लिमिट पर उपर्युक्त प्रतिबंध केवल ऑटो स्वीप सुविधा का लाभ उठाने के लिए लागू होगा एवं थ्रेसहोल्ड लेवल के बावजूद ग्राहकों के द्वारा न्यूनतम राशि रु. 10,000/- के लिए ई-एमओडी समेत व्यक्तिगत स्टैंड-अलोन MOD खोलना जारी रखा जा सकता है.