क्या है UPI Lite सर्विस? बिना पिन और बिना इंटरनेट के कैसे होगा डिजिटल पेमेंट

UPI Lite, यूजर्स को तेज और सरल कम मूल्य के लेनदेन के लिए एक सुविधाजनक समाधान प्रदान करेगा.

क्या है UPI Lite सर्विस? बिना पिन और बिना इंटरनेट के कैसे होगा डिजिटल पेमेंट

Wednesday September 21, 2022,

4 min Read

भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) के गवर्नर शक्तिकांत दास (Shaktikanta Das) ने ग्लोबल फिनटेक फेस्ट 2022 (Global Fintech Fest 2022) में डिजिटल पेमेंट के मामले में 3 प्रमुख पहलों को लॉन्च किया. इन तीन पहलों में से एक UPI Lite रही. UPI Lite, यूजर्स को तेज और सरल कम मूल्य के लेनदेन के लिए एक सुविधाजनक समाधान प्रदान करेगा. वर्तमान में भारत कम मूल्य वाले UPI भुगतान पर फल-फूल रहा है. UPI के माध्यम से होने वाले लेनदेनों में से 50 प्रतिशत लेनदेन 200 रुपये से कम के है. भीम ऐप पर UPI Lite सक्षम होने से, यूजर्स नियर ऑफलाइन मोड में छोटी वैल्यू के लेनदेन करने में सक्षम होंगे.

UPI Lite फीचर, भीम UPI ऐप पर इनेबल कर दिया गया है. जारी किए गए बयान में कहा गया है कि केनरा बैंक, HDFC बैंक, इंडियन बैंक, कोटक महिंद्रा बैंक, पंजाब नेशनल बैंक, स्टेट बैंक ऑफ इंडिया, यूनियन बैंक ऑफ इंडिया और उत्कर्ष स्मॉल फाइनेंस बैंक सहित 8 बैंक इस सुविधा के साथ लाइव हैं.

कैसे होगा एक्टिवेट

UPI Lite एक ऑन-डिवाइस वॉलेट फीचर है, जो यूजर्स को बिना किसी UPI पिन, 200 रुपये तक के रियल टाइम स्मॉल वैल्यू पेमेंट्स करने की अनुमति देगा. ग्राहक को अपने UPI ऐप में UPI Lite सर्विस को एक्टिवेट करना होगा. इसके बाद UPI ऐप, फोन में एक ऑन-डिवाइस वॉलेट क्रिएट कर देगा. ग्राहक के UPI आईडी से लिंक सभी अकाउंट, UPI Lite के लिए पात्र नहीं हैं. UPI Lite को केवल एक बैंक खाते के लिए ही इनेबल किया जा सकता है.

वर्तमान में UPI Lite के तहत वॉलेट से केवल डेबिट की अनुमति है और UPI Lite के सभी तरह के क्रेडिट व रिफंड सीधे बैंक अकाउंट में जाएंगे. चूंकि UPI Lite एक ऑन-डिवाइस वॉलेट है, इसलिए यूजर को इसका इस्तेमाल करने के लिए अपने बैंक अकाउंट से फंड को वॉलेट में एड करना होगा. अधिकतम 2000 रुपये तक का बैलेंस, UPI Lite ऑन-डिवाइस वॉलेट में रखा जा सकता है. रियल टाइम पेमेंट के लिए यूजर को इंटरनेट की जरूरत नहीं होगी.

वॉलेट में पैसे एड करने के लिए लगेगा इंटरनेट

NPCI (National Payments Corporation of India) इससे पहले कह चुकी है कि फेज 1 में UPI Lite, नियर ऑफलाइन मोड में ट्रांजेक्शंस को प्रॉसेस करेगा यानी डेबिट बिना इंटरनेट कनेक्शन हो जाएगा लेकिन वॉलेट में पैसे ऑनलाइन ही एड हो सकेंगे. सीधे शब्दों में UPI Lite वॉलेट में पैसे इंटरनेट की मदद से एड करने के बाद आप वॉलेट के बैलेंस को कभी भी बिना इंटरनेट कनेक्शन UPI करने के लिए इस्तेमाल कर सकेंगे. हालांकि भविष्य में UPI Lite को पूरी तरह ऑफलाइन बनाने का प्लान है.

डिसेबल किए जाने पर बैंक अकाउंट में चला जाएगा बैलेंस

चूंकि UPI Lite बिना इंटरनेट के भी काम करेगा, इसलिए यह उन दूरदराज के इलाकों में UPI पेमेंट के मामले में सुविधाजनक साबित होगा, जहां इंटरनेट कनेक्टिविटी का इश्यू रहता है. इसके अलावा फोन में डेटा खत्म होने जाने के बाद भी UPI Lite की मदद से UPI पेमेंट हो सकेगा. एनपीसीआई की वेबसाइट के मुताबिक, यूजर द्वारा UPI Lite डिसेबल किए जाने पर वॉलेट में बचा हुआ बैलेंस, बैंक अकाउंट में चला जाएगा. याद रहे कि टॉप अप्स को छोड़कर UPI Lite ट्रांजेक्शंस ग्राहक के बैंक अकाउंट स्टेटमेंट या पासबुक में शो नहीं होंगे. ग्राहक को पूरे दिन किए गए UPI Lite ट्रांजेक्शंस की हिस्ट्री वाला एक एसएमएस रोज बैंक की ओर से मिलेगा.

एक दिन में अनलिमिटेड ट्रांजेक्शन

UPI Lite, कोर बैंकिंग सिस्टम पर डेबिट लोड को कम करेगा जिससे लेनदेन की सफलता दर में और सुधार होगा, यूजर एक्सपीरियंस में वृद्धि होगी और यह हमें UPI प्लेटफॉर्म पर एक दिन में एक अरब लेनदेन को प्रॉसेस करने के और करीब ले जाएगा. चूंकि UPI Lite बिना इंटरनेट के भी काम करेगा, इसलिए यह उन दूरदराज के इलाकों में UPI पेमेंट के मामले में सुविधाजनक साबित होगा, जहां इंटरनेट कनेक्टिविटी का इश्यू रहता है. इसके अलावा फोन में डेटा खत्म होने जाने के बाद भी UPI Lite की मदद से UPIपेमेंट हो सकेगा. UPI Lite की मदद से एक दिन में अनलिमिटेड ट्रांजेक्शन किए जा सकते हैं.