गौतम अडानी ने बेटे करण अडानी को सौंपी नई अधिग्रहीत सीमेंट कंपनियों की कमान

By रविकांत पारीक
September 16, 2022, Updated on : Fri Sep 16 2022 12:45:58 GMT+0000
गौतम अडानी ने बेटे करण अडानी को सौंपी नई अधिग्रहीत सीमेंट कंपनियों की कमान
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

फोर्ब्स (Forbes) की लिस्ट के मुताबिक गौतम अडानी अब दुनिया के दूसरे सबसे अमीर शख्स (Gautam Adani 2nd richest person) हो चुके हैं. फोर्ब्स पर गौतम अडानी की दौलत 155.3 अरब डॉलर हो चुकी है. इसके साथ ही अब ख़बर ये भी आई है कि गौतम अडानी अपने बेटे करण अडानी (Karan Adani) को नई अधिग्रहीत की गई सीमेंट कंपनियों की कमान सौंपने जा रहे हैं. Bloomberg की एक रिपोर्ट इसकी जानकारी दी गई है.


35 वर्षीय करण, वर्तमान में अडानी पोर्ट्स एंड स्पेशल इकोनॉमिक जोन लिमिटेड के सीईओ हैं. अब वे परिवार के बढ़े हुए सीमेंट बिजनेस का जिम्मा संभालने के लिए तैयार हैं. ऐसे कयास हैं कि तेजी से विस्तार करने वाला अडानी ग्रुप उन दो सीमेंट कंपनियों को इंटीग्रेट करना चाहता है, जिन्हें उसने इसी साल मई महीने में 10.5 अरब डॉलर में खरीदा था.


अपने बेटे को इस बिजनेस की जिम्मेदारी देने के अलावा, भारतीय अरबपति सीमेंट बिजनेस को बढ़ाने में मदद करने के लिए प्रमुख वरिष्ठ अधिकारियों को भी शामिल करने की योजना बना रहे हैं.


वहीं, मीडिया रिपोर्ट्स में सुत्रों के हवाले से कहा गया है कि करण को एक इंटीग्रेटेड लॉजिस्टिक्स फर्म बनाने के लिए ग्रुप के बंदरगाहों और सीमेंट बिजनेस के बीच तालमेल बनाए रखने की उम्मीद है.


यह भी कहा जा रहा है कि करण की नियुक्ति की घोषणा शुक्रवार को हो सकती है. हालांकि अडानी ग्रुप की ओर से अभी तक कोई इस बात की पुष्टी नहीं की गई है.


गौतम अडानी के लिए अब तक यह साल बेहद सफल रहा है. इसी साल पहले वे देश के सबसे अमीर शख्स बने. फिर उन्होंने एशिया के सबसे अमीर शख्स होने का खिताब हासिल किया. कुबेर उन पर बरसता रहा और आज वे दुनिया के दुसरे सबसे अमीर शख्स बन चुके हैं. वे हमवतन मुकेश अंबानी और जेफ बेजोस, बिल गेट्स और वॉरेन बफेट जैसे दिग्गजों को पीछे छोड़ चुके हैं.


कोयले की बढ़ती कीमतों और आसमान छूते इक्विटी लाभ ने उनकी नेट वर्थ में ग़ज़ब का इजाफा किया. इससे अडानी ग्रुप को अपनी महत्वाकांक्षाओं को सुपरचार्ज करने में सक्षम बनाया है, जो तेजी से हवाई अड्डों, मीडिया, डिजिटल सर्विसेज और टेलीकम्यूनिकेशन में अपनी कमोडिटी और बायोफ्यूल से अलग अपना कारोबार फैला रहा है. बिजनेस टाइकून ग्रीन एनर्जी पर 70 बिलियन डॉलर का दांव भी लगा रहे हैं, एक बदलाव जिसकी आलोचना समूह के कोयले पर ध्यान केंद्रित करने के प्रयास के रूप में की गई है.


हालांकि, इस साल अडानी का सबसे बड़ा खर्च सीमेंट पर रहा है, गौतम अडानी के अडानी ग्रुप ने अंबुजा सीमेंट्स लिमिटेड और उसकी सहायक एसीसी सीमेंट में 63.19 प्रतिशत हिस्सेदारी ले ली है. यह सौदा करीब 81000 करोड़ रुपये में हुआ है. इस सौदे के बाद, मार्केट में अब यह कयास लगाए जा रहे हैं कि अडानी ग्रुप, देश का सबसे बड़ा सीमेंट मेकर और गौतम अडानी, देश के सीमेंट किंग बन सकते हैं.