[YS Exclusive] राजनीति में उतरेंगे BharatPe के को-फाउंडर अशनीर ग्रोवर!

ICAI अबू धाबी की 34वीं एनुअल इंटरनेशनल सेमिनार के दौरान अशनीर ग्रोवर ने राजनीति, ऑन्त्रप्रेन्योरशिप और अपने इन्वेस्टमेंट्स के बारे में खुलकर बात की.

Sindhu Kashyaap

रविकांत पारीक

[YS Exclusive] राजनीति में उतरेंगे BharatPe के को-फाउंडर अशनीर ग्रोवर!

Sunday February 05, 2023,

3 min Read

फिनटेक यूनिकॉर्न BharatPe के को-फाउंडर अशनीर ग्रोवर (Ashneer Grover) ने राजनीति में कदम रखने के संकेत देते हुए कहा कि उनका मानना है कि इसे कैसे समझा जाता है इसे बदलने की आवश्यकता है.

विशेष रूप से यह पूछे जाने पर कि क्या वह राजनीति में आने की सोच रहे हैं, अशनीर ने कहा, “यह ऐसी चीज है जिस पर हमें बारीकी से गौर करना होगा. यह कुछ ऐसा है जिसके लिए मैं काम कर रहा हूं."

अशनीर इंस्टीट्यूट ऑफ चार्टर्ड अकाउंटेंट्स ऑफ इंडिया - अबू धाबी चैप्टर की 34वीं एनुअल इंटरनेशनल सेमिनार के दौरान एक फायरसाइड चैट में बोल रहे थे.

"जब हम राजनीति के बारे में बात करते हैं, तो एक तत्काल नकारात्मक अर्थ होता है. हमें इसे बदलने की जरूरत है और यह सिर्फ सही उम्मीदवार को वोट देने के बारे में नहीं है," उन्होंने कहा.

उन्होंने आगे कहा, "आपको राजनीति का हिस्सा बनने के लिए सही उम्मीदवारों की जरूरत है. राजनीति में IIT और IIM से शायद ही कोई हो. राजनीति में शामिल होने के बारे में मेरा विचार है - एक सही उम्मीदवार की तलाश."

सत्र के दौरान, अशनीर ने BharatPe की स्थापना की अपनी यात्रा, फिनटेक कंपनी को एक यूनिकॉर्न बनाने और खुद के इन्वेस्टमेंट्स के बारे में बात की.

उन्होंने उन प्रणालियों और व्यक्तियों की आवश्यकता की व्याख्या की जो वर्तमान राजनीतिक परिदृश्य में प्रवेश कर सकते हैं.

अशनीर ने कहा, "मुझे जोखिम उठाना पसंद है, और अगर कुछ सरल है और कोई जोखिम नहीं है तो यह मुझे हमेशा परेशान करता है."

BharatPe छोड़ने के बाद से, Ashneer ने खुद को एक निवेशक और एक सलाहकार के रूप में भी व्यस्त रखा है. जबकि उन्होंने BharatPe से बाहर निकलने पर ज्यादा बात करने से परहेज किया, अशनीर ने कहा कि राजनीति वह है जो निकट भविष्य में काम करेगी.

उन्होंने परिवर्तन के उत्प्रेरक (catalysts of change) के रूप में स्टार्टअप्स की भूमिका बयां की.

उन्होंने कहा, “इन वर्षों में, मैंने फिनटेक कंपनियों में जो निवेश किया है, उससे मुझे महत्वपूर्ण रिटर्न मिला है. जबकि इस तरह के डाउन मार्केट के दौरान स्टार्टअप्स का उपहास करना फैशनेबल लगता है, हमें यह महसूस करना चाहिए कि पिछले कुछ वर्षों में स्टार्टअप्स ने ग़ज़ब की तरक्की की है और वे बदलाव के निर्माता और उत्प्रेरक रहे हैं."

यूएई गोल्डन वीजा धारक अशनीर का मानना है कि भारत और यूएई जैसे बाजारों में महत्वपूर्ण विकास क्षमता है.

उन्होंने कहा, “यूएई में जो काम करेगा वह क्रिप्टो और ब्लॉकचेन स्टार्टअप हैं. मैं उन्हें इस सेक्टर में बढ़ते और फलते-फूलते देखता हूं, क्योंकि सरकार ने भी उनके विकास के लिए रास्ते बनाए हैं."

आपको बता दें कि BharatPe से निकलने के बाद को-फाउंडर अशनीर ग्रोवर ने Third Unicorn नाम से नया स्टार्टअप किया है. अशनीर ने नए वेंचर की कुछ डिटेल शेयर की थी और लोगों के साथ-साथ इन्वेस्टर्स को भी इसे जॉइन करने के लिए इनवाइट किया था. इतना ही नहीं उन्होंने यह भी दावा किया कि स्टार्टअप में 5 साल पूरे करने वाले इंप्लॉई को मर्सिडीज दी जाएगी.

YourStory ने स्टार्टअप के सीक्रेट को-फाउंडर असीम घावरी से बात की. वे जून से, Third Unicorn के इन्कॉर्पोरेट होने के बाद से, ग्रोवर के साथ काम कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि बड़ी घोषणाएं फरवरी में होगी.