आईसीसी टेस्ट रैंकिंग: भारतीय कप्तान विराट कोहली शीर्ष पर बरकरार

रैंकिंग के अनुसार युवा विकेटकीपर बल्लेबाज ऋषभ पंत और तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह अपने कैरियर की सर्वश्रेष्ठ रैंकिंग पर

आईसीसी टेस्ट रैंकिंग: भारतीय कप्तान विराट कोहली शीर्ष पर बरकरार

Friday December 21, 2018,

3 min Read

कोहली को आस्ट्रेलिया के खिलाफ पर्थ में दूसरे टेस्ट में पहली पारी में 123 रन बनाने से 14 अंक मिले। उनके कुल 934 अंक हो गए हैं और वह दूसरे स्थान पर काबिज न्यूजीलैंड के केन विलियमसन से 19 अंक पीछे हैं।

क्रिकेट को विराट जैसे खिलाड़ियों की जरूरत है: एलेन बार्डर। फोटो साभार: <a href=

क्रिकेट को विराट जैसे खिलाड़ियों की जरूरत है: एलेन बार्डर। फोटो साभार: 

hindustantimes a12bc34de56fgmedium"/>

विराट कोहली की आक्रामकता के पक्ष में खुलकर सामने आते हुए शोएब अख़्तर ने अपने ट्वीट में लिखा- "विराट कोहली आधुनिक क्रिकेट के महान बल्‍लेबाजों में से एक हैं। आक्रामकता इस समय प्रतिस्‍पर्धी क्रिकेट का खास हिस्‍सा है।"

भारतीय कप्तान विराट कोहली ने ताजा आईसीसी रैंकिंग में शीर्ष पर अपनी जगह बरकरार रखी है, जबकि युवा विकेटकीपर बल्लेबाज ऋषभ पंत और तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह अपने कैरियर की सर्वश्रेष्ठ रैंकिंग पर हैं। कोहली को आस्ट्रेलिया के खिलाफ पर्थ में दूसरे टेस्ट में पहली पारी में 123 रन बनाने से 14 अंक मिले हैं। उनके कुल 934 अंक हो गए हैं और वह दूसरे स्थान पर काबिज न्यूजीलैंड के केन विलियमसन से 19 अंक पीछे हैं। पंत 11 पायदान चढकर 48वें स्थान पर हैं, जबकि भारतीय उपकप्तान अजिंक्य रहाणे दो पायदान ऊपर शीर्ष 15 में आ गए हैं।

न्यूजीलैंड के टाम लाथम नाबाद 264 रन की अपनी पारी के कारण 15 पायदान की छलांग लगाकर कैरियर की सर्वश्रेष्ठ 22वीं रैंकिंग पर पहुंच गए । तेज गेंदबाज टिम साउदी 11वें स्थान पर आ गए हैं। पर्थ टेस्ट में मैन आफ द मैच रहे नाथन लियोन अपने कैरियर की सर्वश्रेष्ठ सातवीं रैंकिंग पर हैं। जोश हेजलवुड दो पायदान चढकर नौवे और मिशेल स्टार्क एक पायदान चढकर 15वें स्थान पर हैं। बल्लेबाजों में उस्मान ख्वाजा एक पायदान चढकर 12वें और कप्तान टिम पेन नौ पायदान चढ़कर 46वें स्थान पर पहुंच गए हैं। ट्रेविस हेड 16 पायदान चढकर 63वें स्थान पर हैं। श्रीलंका के पूर्व कप्तान एंजेलो मैथ्यूज 16वें और कुशाल मेंडिस 18वें स्थान पर पहुंच गए हैं।

आस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान एलेन बार्डर ने विराट कोहली की आक्रामकता का बचाव करते हुए कहा है कि क्रिकेट को उनके जैसे खिलाड़ियों की जरूरत है जो मैदान पर जज्बाती रहते हैं। बार्डर ने फाक्स क्रिकेट के पाडकास्ट ‘द फालोआन’ पर कहा , 'हमारे खेल में इस तरह के ज्यादा लोग नहीं है । पेशेवरपन से यह कुछ हद तक कम हो गया है।’ आस्ट्रेलिया में मौजूदा टेस्ट श्रृंखला के दौरान आक्रामक जश्न मनाने पर बार्डर ने कहा,‘मैंने किसी कप्तान को उसकी टीम के विकेट लेने पर ऐसे जश्न मनाते नहीं देखा। यह कुछ ज्यादा है, लेकिन अच्छा भी है। उसमें जुनून है।’ साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि कोहली विदेशी सरजमीं पर जीतकर अपनी छाप छोड़ना चाहते हैं। बार्डर के अनुसार, विराट घर से बाहर जीतने को इतने बेकरार हैं कि वे वाकई नंबर वन रैंकिंग के हकदार हैं और बतौर कप्तान यह उनकी असली परीक्षा है। टीम को नंबर वन बनाने में विराट कामयाब रहे हैं। कप्तान की असली पहचान अपने देश से बाहर मिली जीत से ही होती है।

उधर दूसरी तरफ विराट कोहली की आक्रामकता के पक्ष में खुलकर सामने आते हुए शोएब अख्‍तर ने अपने ट्वीट में लिखा- 'विराट कोहली आधुनिक क्रिकेट के महान बल्‍लेबाजों में से एक हैं। आक्रामकता इस समय प्रतिस्‍पर्धी क्रिकेट का खास हिस्‍सा है। जब तक यह सीमा के अंदर है, इसे लेकर किसी को कोई ऐतराज नहीं होना चाहिए। उनके इस व्‍यवहार को ज्‍यादा महत्‍व नहीं दिया जाना चाहिए।'

अनगिनत आलोचनाओ और टिप्पणियों की बीच भी इस भारतीय कप्तान ने अपनी परफॉरमेंस के साथ कोई समझौता नहीं किया। विराट खेल को उसी तरह खेलते हुए आगे बढ़ रहे हैं, जो कि उनकी आदत का हिस्सा है।

ये भी पढ़ें: बंधनों को तोड़कर देश को स्वर्ण दिलाने वाली रिक्शा चालक की बेटी स्वप्ना बर्मन