गुजरात के इस व्यक्ति ने 500 साल पुराने हनुमान मंदिर का किया पुनरुद्धार

By yourstory हिन्दी
February 05, 2018, Updated on : Thu Sep 05 2019 07:15:18 GMT+0000
गुजरात के इस व्यक्ति ने 500 साल पुराने हनुमान मंदिर का किया पुनरुद्धार
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

एक तरफ जहां हर रोज देश के किसी न किसी इलाके से सांप्रदायिक तनाव की खबरें आती हैं वहीं गुजरात के एक मुस्लिम व्यक्ति ने 500 साल पुराने मंदिर का जीर्णोद्धार करके हिंदू-मुस्लिम एकता की मिसाल पेश की है...

मोइन मेमन (एएनआई)

मोइन मेमन (एएनआई)


पिछले 30 सालों से मंदिर में पूजा कराने वाले पुजारी राजेश भट्ट् ने कहा कि मेमन ने मंदिर में लगाने के लिए खास तौर से इटली से टाइल्स मंगवाई हैं। उन्होंने बताया कि मंदिर का काफी काम हो गया है और एक हफ्तों में सारा काम पूरा हो जाएगा। 

एक तरफ जहां हर रोज देश के किसी न किसी इलाके से सांप्रदायिक तनाव की खबरें आती हैं वहीं गुजरात के एक मुस्लिम व्यक्ति ने 500 साल पुराने मंदिर का जीर्णोद्धार करके हिंदू-मुस्लिम एकता की मिसाल पेश की है। अहमदाबाद का मिर्जापुर का इलाका मुस्लिम बाहुल्य इलाका माना जाता है। यहां के रहने वाले मोइन मेमन ने अपने घर के पास वाले मंदिर को बुरी हालत में देखा तो उनसे रहा नहीं गया। उन्होंने मंदिर के पुजारी से मंदिर की मरम्मत कराने की इच्छा जताई। पुजारी ने कहा कि यह आपकी भलमनसाहत है। इसके बाद मोइन ने सारा दारोमदार अपने ऊपर ले लिया।

समाचार एजेंसी एएनआई की एक रिपोर्ट के मुताबिक पिछले दो सप्ताह से बिल्डर का काम करने वाले 43 वर्षीय मेमन अपनी देखरेख में मंदिर में चल रहे काम की देखरेख कर रहे हैं। उन्होंने मंदिर में मंहगे इटैलियन टाइल्स लगवाए और वह खुद ही मजदूरों को दिशानिर्देश दे रहे हैं। मेमन ने मंदिर की मरम्मत में आने वाला खर्च अपने कंधों पर ले लिया है। वह इस मंदिर को खूबसूरत बनाकर फिर से अपनी हालत में लाना चाहते हैं। यहां तक कि वह इस काम में लगने वाली रकम का भी खुलासा नहीं करना चाहते। वह कहते हैं कि यह भला काम है और इसमें जितना भी पैसा लगेगा वह किसी से नहीं लेंगे।

image


मंदिर के पुजारी राजेश भट्ट ने मेमन की काफी तारीफ की और उन्हें आशीर्वाद भी दिया। मेमन ने कहा, 'मैं इस मंदिर को देखते हुए बड़ा हुआ हूं। पहले यह काफी अच्छी हालत में हुआ करता था। मैं पांच वक्त का नमाजी हूं, लेकिन अब जब भी इस मंदिर के पास से गुजरता था तो इसकी दयनीय हालत देखकर मुझे दुख होता था। इसलिए एक दिन मैं मंदिर के पुजारी के पास गया और उनसे इसकी मरम्मत करवाने की बात कही। उन्हें यह सुनकर खुशी हुई और उन्होंने मुझे इस शुभ काम की इजाजत दे दी।'

पिछले 30 सालों से मंदिर में पूजा कराने वाले पुजारी राजेश भट्ट् ने कहा कि मेमन ने मंदिर में लगाने के लिए खास तौर से इटली से टाइल्स मंगवाई हैं। उन्होंने बताया कि मंदिर का काफी काम हो गया है और एक हफ्तों में सारा काम पूरा हो जाएगा। मेमन का यह काम समाज में मुस्लिम हिंदू भाईचारे का अच्छा संदेश देगा। बगल में श्री एकलिंगजी महादेव मंदिर के पुजारी बृजेश मेहता ने कहा कि हनुमान दादा मेमन को इस काम के लिए खूब आशीर्वाद देंगे।

मेमन ने कहा, 'यह मंदिर पांच सौ साल पुराना है। ये काफी बुरी हालत में पहुंच चुका था मैंने पुजारी से इसे सही करवाने के लिए कहा था। मैं अपने आप को काफी नसीब वाला समझता हूं जो मुझे यह काम करने को मिला।' मेमन ने कहा कि राजनीति की तो बात आती नहीं है। ये दिल की बात है। और राजनीति वाले लोग अगर हिंदू मुस्लिम नहीं करेंगे तो उनकी रोटी नहीं चेलगी। मैं देश के सभी अपने हिंदू मुस्लिम भाईयों और बहनों से एक ही बात कहूंगा कि ह से हिंदू होता है और म से मुसलमान, और हम से हिंदुस्तान होता है। अगर हम एक जुट हो गए तो नेता गंदी राजनीति नहीं कर पाएंगे।

यह भी पढ़ें: सड़क हादसे रोकने के लिए पुलिस का नया 'पैंतरा', पीले स्क्वॉयर के साथ लाल स्पॉट