भारत और साउथ एशिया में ऊबर ने पूरी कीं 1 अरब राइड्स, लगा 5 सालों का वक़्त

भारत और साउथ एशिया में ऊबर ने पूरी कीं 1 अरब राइड्स, लगा 5 सालों का वक़्त

Sunday August 19, 2018,

4 min Read

2013 में ऊबर ने भारत में बेंगलुरु से ही अपने ऑपरेशन्स की शुरुआत की थी और इत्तेफ़ाक़ है कि बेंगलुरु में ही ऊबर 1 बिलियन राइड्स पूरी करने का मार्क छुआ। कंपनी ने जानकारी दी कि 31 जुलाई को 1 बजकर 16 मिनट पर ऊबर प्रीमियर राइड बुक की गई और इस राइड के साथ ही भारत और साउथ एशिया में ऊबर की 1 बिलियन राइड्स पूरी हुईं।

ऊबर ऐप

ऊबर ऐप


भारत और साउथ एशिया क्षेत्र में सबसे ज़्यादा ट्रिप्स का रेकॉर्ड चंडीगढ़ के जसविंदर सिंह ने बनाया। जसविंदर, 2015 (मार्च) से ऊबर कैब नेटवर्क से जुड़े हुए हैं और ऊबर कैब चला रहे हैं। 

हाल ही में, भारत और साउथ एशिया में ऊबर ने 1 अरब यानी 1 बिलियन राइड्स का आंकड़ा छू लिया। 2013 में ऊबर की शुरुआत हुई थी और 5 सालों के समय में ऊबर ने यह कारनाम कर दिखाया है। इन राइड्स में लगभग 11.1 बिलियन किलोमीटर की दूरी तय की गई। आपको बता दें कि यह दूरी इतनी है, जितने में 37 बार सूर्य तक आने -जाने के चक्कर लगाए जा सकते हैं!

ऊबर कैब सर्विस ने जून के महीने में पूरी दुनिया में 10 बिलियन राइड्स पूरी की थीं और इसके एक महीने बाद यानी जुलाई महीने के अंत तक ऊबर ने भारत और साउथ एशिया में 1 बिलियन राइड्स पूरी कर लीं। ऊबर की ओर से जारी एक बयान के माध्यम से पता चला कि भारत में ऊबर की सफलता का श्रेय मुख्य रूप से बेंगलुरु, मुंबई, हैदराबाद और दिल्ली के राइडर्स को जाता है।

2013 में ऊबर ने भारत में बेंगलुरु से ही अपने ऑपरेशन्स की शुरुआत की थी और इत्तेफ़ाक़ है कि बेंगलुरु में ही ऊबर 1 बिलियन राइड्स पूरी करने का मार्क छुआ। कंपनी ने जानकारी दी कि 31 जुलाई को 1 बजकर 16 मिनट पर ऊबर प्रीमियर राइड बुक की गई और इस राइड के साथ ही भारत और साउथ एशिया में ऊबर की 1 बिलियन राइड्स पूरी हुईं।

मात्र एक साल के समय में ऊबर ने भारत और साउथ एशिया में अपनी ट्रिप्स के आंकड़े को दोगुना किया यानी 500 मिलियन ट्रिप्स को बढ़ाकर 1 बिलियन ट्रिप्स। ऊबर इंडिया और ऊबर के साउथ एशिया ऑपरेशन्स के नवनियुक्त प्रेज़िडेंट प्रदीप परमेश्वरन ने अपने एक बयान में कहा, "ऊबर के लिए यह उपलब्धि सिर्फ़ भारत और साउथ एशिया क्षेत्र को देखते हुए महत्वपूर्ण नहीं है, बल्कि ऊबर के वर्ल्डवाइड ऑपरेशन्स के लिए भी यह एक बहुत मुक़ाम है। एक बिलियन राइड्स पूरी करने की यह उपलब्धि साबित करती है कि तकनीक के माध्यम से अर्बन मोबिलिटी की तस्वीर को किस तरह से बदला जा सकता है।"

ऊबर के माध्यम से जानकारी मिली कि इन राइड्स में से लगभग तीन चौथाई हिस्सा ऐंड्रॉयड फ़ोन्स के माध्यम से बुक किया गया, जबकि आईफ़ोन्स की हिस्सेदारी 24 प्रतिशत की है। एक प्रतिशत राइड्स विंडोज़ फ़ोन्स के माध्यम से बुक की गईं। एक बिलियन ट्रिप्स में से 670 मिलियन ट्रिप्स को राइडर्स द्वारा रेटिंग मिली और इनमें से 480 मिलियन ट्रिप्स को 5 स्टार रेटिंग मिली।

प्रेज़िडेंट परमेश्वरन ने बताया कि कंपनी का अगला लक्ष्य, इस क्षेत्र में 10 बिलियन राइ़ड्स का आंकड़ा छूने का है। परमेश्वरन मानते हैं कि इन उपलब्धियों से कंपनी को भी बल मिलता है कि उपभोक्ताओं के अनुभव को और भी अधिक सहूलियत भरा बनाया जाए और साथ ही, ऊबर के नेटवर्क से जुड़े ड्राइवरों को भी बेहतर के आय के मौक़े मिलते रहें।

इतना ही नहीं, ऊबर ने इस बात का भी खुलासा किया कि ऊबर पूल सर्विस लॉन्च होने के बाद से व्यक्तिगत रूप से यात्रा के 200 मिलियन किलोमीटर बचाए जा सके और उपभोक्ताओं ने पूरे उत्साह के साथ ऊबर की इस सुविधा भरपूर लाभ उठाया। इसके माध्यम से एक फ़ायदा यह भी हुआ कि 36,537 टन कार्बन एमिशन को प्रदूषण फैलाने से बचाया गया।

भारत और साउथ एशिया क्षेत्र में सबसे ज़्यादा ट्रिप्स का रेकॉर्ड चंडीगढ़ के जसविंदर सिंह ने बनाया। जसविंदर, 2015 (मार्च) से ऊबर कैब नेटवर्क से जुड़े हुए हैं और ऊबर कैब चला रहे हैं। इस साल की शुरुआत में ही ऊबर ने भारत में पहली बार अपने नेटवर्क से जुड़े ड्राइवरों की राउंडटेबल बैठकर करवाई थी, जिसमें ड्राइवर्स, कंपनी के नए सीईओ खोसरोशाही से मुख़ातिब हुए थे। सीईओ ने ड्राइवरों का धन्यवाद देते हुए कहा था कि ये ड्राइवर, ग्राहकों के लिए ऊबर का चेहरा है और ये सभी ऊबर नेटवर्क की बेहद अहम इकाई हैं।

यह भी पढ़ें: घर शिफ़्ट करने की मशक़्क़त को आर्टिफ़िशियल इंटेलिजेंस से आसान बना रहा यह स्टार्टअप

Montage of TechSparks Mumbai Sponsors