दिल की सर्जरी के लिए एम्स के बाहर इंतज़ार कर रहा है अभिनंदन, लॉकडाउन ने बढ़ा दी मुश्किलें

By भाषा पीटीआई
April 27, 2020, Updated on : Mon Apr 27 2020 14:01:30 GMT+0000
दिल की सर्जरी के लिए एम्स के बाहर इंतज़ार कर रहा है अभिनंदन, लॉकडाउन ने बढ़ा दी मुश्किलें
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

लॉकडाउन के चलते बिहार के समस्तीपुर के रहने वाले महीने के अभिनंदन को दिल की सर्जरी के लिए इंतज़ार करना पड़ रहा है।

दिल्ली स्थित एम्स (चित्र: सोशल मीडिया)

दिल्ली स्थित एम्स अस्पताल (चित्र: सोशल मीडिया)



नयी दिल्ली, बिहार के समस्तीपुर से आए संजीव कुमार अपने 15 महीने के बेटे की दिल की सर्जरी के लिये दिल्ली स्थित आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) के बाहर इंतजार कर रहे हैं, लेकिन लॉकडॉउन के चलते उनका इंतजार बढ़ता ही जा रहा है।


शर्मा का परिवार उन परिवारों में शामिल है जो एम्स के बाहर इलाज की प्रतीक्षा कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि वह 1,100 किलोमीटर दूर समस्तीपुर से अपने बेटे अभिनंदन का इलाज कराने यहां आए हैं। लेकिन लॉकडाउन के चलते उन्हें अपने बेटे के जल्द ठीक होने की उम्मीद कम होती नजर आ रही है।


शर्मा ने पिछले साल पाकिस्तान का लड़ाकू विमान गिराने वाले वायुसेना के अधिकारी अभिनंदन के नाम पर अपने बेटे का नाम रखा था, जिन्हें पाकिस्तान में हिरासत में ले लिया गया था और तीन दिन बाद वह वहां से लौट आए थे। शर्मा ने उम्मीद जतायी की अभिनंदन की तरह उनका बेटा भी इस मुश्किल से बाहर निकल आएगा।


एम्स के बाहर तंबू में रह रहे शर्मा (27) ने 'पीटीआई-भाषा' कहा,

'मेरे बेटे का नाम रौनक शर्मा था लेकिन अपनी पैदाइश के शुरुआती दिनों में वह बहुत कमजोर था। हमें लगा कि उसके नाम में कुछ गलत है। लिहाजा पिछले साल फरवरी में हमने उसका नाम बदलकर अभिनंदन रख दिया।'


उन्होंने बताया कि अभिनंदन के हाथ और होठ नीले पड़ने लगे हैं। शर्मा ने कहा कि 24 मार्च को सीटी स्कैन किया गया था और इसकी रिपोर्ट आने के बाद हमे कहा गया कि आपरेशन की तिथि को जल्द तय की जाएगी।


उन्होंने कहा कि उसी रात प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देशव्यापी लॉकडाउन का ऐलान कर दिया। शर्मा ने कहा कि डॉक्टरों ने बताया है कि सर्जरी लॉकडाउन के बाद होगी, लेकिन कोई नहीं जानता कि यह लॉकडाउन कब खत्म होगा।