भारत में इलेक्ट्रिक रिक्शा से डिलीवरी करेगी अमेज़न, कंपनी के मुखिया ने जारी किया वीडियो

By yourstory हिन्दी
January 21, 2020, Updated on : Tue Jan 21 2020 10:01:29 GMT+0000
भारत में इलेक्ट्रिक रिक्शा से डिलीवरी करेगी अमेज़न, कंपनी के मुखिया ने जारी किया वीडियो
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

अमेज़न के मुखिया जेफ बेजोस ने अपने दौरे के दौरान देश में बड़े निवेश के साथ 10 लाख नौकरियों के सृजन का भी वादा किया है, इसी के साथ जेफ ने डिलीवरी के लिए इलेक्ट्रिक रिक्शा शुरू करने का ऐलान किया है।

डिलीवरी के लिए इलेक्ट्रिक रिक्शा का इस्तेमाल करेगी अमेज़न

डिलीवरी के लिए इलेक्ट्रिक रिक्शा का इस्तेमाल करेगी अमेज़न



हाल ही में भारत दौरे पर आए अमेज़न के संस्थापक और सीईओ जेफ बेजोस ने एक ओर जहां भारत में एक अरब डॉलर का निवेश करने का एलान किया, इसी के साथ ही जेफ ने देश में 10 लाख नौकरियों के उत्पादन की भी बात कही।


जेफ ने देश से जाते-जाते पर्यावरण के अनुकूल एक बड़ा कदम उठाते हुए डिलिवरी के लिए इलेक्ट्रिक रिक्शा की शुरुआत करने की भी घोषणा की। जेफ इस इस संबंध में अपने ट्विटर हैंडल से एक वीडियो भी जारी किया है। जेफ अपने इस कदम के जरिये पर्यावरण संरक्षण और जलवायु परिवर्तन के संदर्भ में संदेश देना चाहते हैं।


इन इलेक्ट्रिक रिक्शा का ऊओयोग अमेज़न डिलिवरी के लिए करेगी। जेफ ने अपने ट्वीट में लिखा है,

“हैलो इंडिया, हम इलेक्ट्रिक डिलिवरी रिक्शा के नए बेड़े को ला रहे हैं। पूरी तरह से विद्युत, शून्य कार्बन।”

जेफ ने अपने दौरे के दौरान भारत में निवेश, नौकरी सृजन और निर्यात की भी घोषणा की है। जेफ के अनुसार अमेज़न भारत में 1 अरब डॉलर का निवेश करेगी, इसी के साथ कंपनी देश में 10 लाख नौकरियाँ भी पैदा करेगी। अमेज़न ने भारत में बने समान के निर्यात के लिए भी कदम बढ़ाने की बात कही है, इसके लिए अमेज़न ने 2025 तक देश से 10 अरब डॉलर मूल्य का निर्यात करने का लक्ष्य रखा है।


गौरतलब है कि अमेज़न को इस समय देश में फ्लिपकार्ट से सीधी टक्कर मिल रही है। वालमार्ट के स्वामित्व वाली फ्लिपकार्ट भी ग्राहकों तक अपनी पहुँच बनाने में कोई कसर नहीं छोड़ रही है।


अमेज़न के मुखिया जेफ बेजोस के भारत दौरे के दौरान देश भर में छोटे और मझले व्यापारियों ने विरोध प्रदर्शन किया था, वहीं बेजोस को पीएम मोदी से मिलने के लिए भी समय नहीं दिया गया था। अमेज़न और फ्लिपकार्ट पर उनकी छूट नीतियों के चलते प्रतिस्पर्धा आयोग जांच भी कर रहा है।