इको-फ्रेंडली मासिक धर्म देखभाल प्रोडक्ट्स बना रहा है ठाणे का यह स्टार्टअप

पत्नी-पति की जोड़ी सुजाता पवार और अपूर्व अग्रवाल द्वारा 2020 में स्थापित, अवनी (Avni) इनोवेटिव और पर्यावरण के अनुकूल मासिक धर्म देखभाल प्रोडक्ट्स प्रदान करती है।

इको-फ्रेंडली मासिक धर्म देखभाल प्रोडक्ट्स बना रहा है ठाणे का यह स्टार्टअप

Wednesday April 28, 2021,

5 min Read

"पत्नी-पति की जोड़ी सुजाता पवार और अपूर्व अग्रवाल द्वारा 2020 में स्थापित, अवनी (Avni) इनोवेटिव और पर्यावरण के अनुकूल मासिक धर्म देखभाल प्रोडक्ट्स प्रदान करती है। सुजाता और अपूर्व दोनों ने बैचलर में फार्मेसी और मार्केटिंग में एमबीए में किया है। दोनों ने कई फार्मा ब्रांड्स के साथ वर्षों तक काम किया और आखिरकार उन्होंने अपना खुद का उद्यम शुरू करने का फैसला किया।"

सुजाता पवार, Avni की को-फाउंडर और सीईओ [फोटो क्रेडिट: Avni]

सुजाता पवार, Avni की को-फाउंडर और सीईओ [फोटो क्रेडिट: Avni]

भारत धीरे-धीरे ही सही लेकिन निश्चित रूप से मासिक धर्म को एक टैबू के रूप में मानने से दूर जा रहा है और एक उचित स्वच्छता देखभाल पारिस्थितिकी तंत्र के महत्व को महसूस कर रहा है। ठाणे स्थित अवनी भी समग्र मासिक धर्म देखभाल समाधान प्रदान करने के लिए काम कर रही है।


पत्नी-पति की जोड़ी सुजाता पवार और अपूर्व अग्रवाल द्वारा 2020 में स्थापित, अवनी (Avni) इनोवेटिव और पर्यावरण के अनुकूल मासिक धर्म देखभाल प्रोडक्ट्स प्रदान करती है। सुजाता और अपूर्व दोनों ने बैचलर में फार्मेसी और मार्केटिंग में एमबीए में किया है। दोनों ने कई फार्मा ब्रांड्स के साथ वर्षों तक काम किया और आखिरकार उन्होंने अपना खुद का उद्यम शुरू करने का फैसला किया।


अवनी को शुरू करने के पीछे का कारण मौजूदा मासिक धर्म उत्पादों को लेकर सुजाता का अपना खुद का अनुभव है। मौजूदा प्लास्टिक पैड की चुनौतियों और दोबारा इस्तेमाल किए जाने (रीयूजेबल) वाले कपड़े के पैड के लाभों का एहसास होने के बाद, सुजाता ने महिलाओं को पर्यावरण के अनुकूल बदलाव करने में मदद करने के लिए अवनी को लॉन्च किया।


YourStory से बात करते हुए, सुजाता बताती हैं कि प्लास्टिक से बने सैनिटरी नैपकिन में ऐसे केमिकल होते हैं जो निश्चित रूप से टेस्ट किए हुए और सत्यापित होते हैं, लेकिन लंबे समय तक नियमित रूप से ऐसे उत्पादों का उपयोग करने से वास्तव में संक्रमण या त्वचा में जलन हो सकती है, खासकर बेहद संवेदनशील त्वचा वाली महिलाओं के लिए।


स्टार्टअप ऑर्गैनिक और रीयूजेबल सैनिटरी पैड के साथ-साथ कॉटन डिस्पोजेबल पैड जैसे पर्यावरण के अनुकूल प्रोडक्ट्स के साथ आया है। स्टार्टअप ने हाल ही में वी फाउंडर सर्किल (WFC) के नेतृत्व में अपने सीड फंडिंग राउंड में 75,000 डॉलर जुटाए। इस राउंड में एंजेल इन्वेस्टर अमित त्यागी और श्रीकांत अयंगर की भी भागीदारी थी।

इको-फ्रेंडली मासिक धर्म प्रोडक्ट्स

सुजाता बताती हैं कि स्टार्टअप का नाम अवनी रखा गया है, जिसका अर्थ है पृथ्वी, जो सभी जिंदगियों की मां के प्रतीकात्मक रूप से स्त्रीत्व का प्रतीक है।


सुजाता बताती हैं, "हमने अवनी को हमारे पहले मुख्य प्रोडक्ट 'अवनी सेफपैड' के साथ लॉन्च किया जोकि एक एंटीमाइक्रोबियल रीयूजेबल और ऑर्गैनिक कॉटन सेनेटरी पैड है। इसे महिलाओं को संक्रमणों से सुरक्षित रखने के लिए हाई परफॉर्मेंस वाले कपड़े और एंटीमाइक्रोबियल टेक्नोलॉजी की तीन परतों के साथ डिजाइन किया गया है। प्रोडक्ट न केवल महिलाओं के लिए सुरक्षित है, बल्कि पर्यावरण के लिए भी है क्योंकि यह ऑर्गैनिक और तीन सालों तक रीयूजेबल है।


धीरे-धीरे अवनी ने मासिक धर्म देखभाल श्रेणी में अधिक उत्पादों को लॉन्च करने के लिए अपने व्यवसाय का विस्तार किया। सुजाता बताती हैं कि चूंकि ज्यादातर महिलाएं डिस्पोजेबल सैनिटरी नैपकिन का उपयोग करने की आदी थीं, इसलिए अवनी ने कॉटन के डिस्पोजेबल पैड अवनी ईजीपैड (Avni Ezeepad) लॉन्च किए। उत्पादों में प्लास्टिक नहीं होता है और ये पूरी तरह से कॉटन से बने होते हैं।


इसके अलावा, स्टार्टअप मेडिकल-ग्रेड सिलिकॉन के साथ डिजाइन किए गए मासिक धर्म कप भी प्रदान करता है। पर्यावरण के अनुकूल उत्पादों के इस्तेमाल को बढ़ावा देने के लिए, अवनी अपने ग्राहकों को “ग्रीन पीरियड किट” कॉम्बो ऑफर भी प्रदान करती है।


वह आगे कहती हैं, “हमने उत्पादों के बारे में उनके प्रश्नों के साथ लोगों की मदद करने के लिए 24X7 हेल्पलाइन नंबर भी लॉन्च किए हैं।”

Illustration: YS Design

Illustration: YS Design

बिजनेस और उसके आगे

ResearchAndMarket की एक रिपोर्ट के अनुसार, भारतीय स्त्री स्वच्छता उत्पादों का बाजार 2025 तक 16.87 प्रतिशत के सीएजीआर के साथ 70.20 बिलियन रुपये तक पहुंचने की उम्मीद है जो 2020 में 32.66 बिलियन था।


बिजनेस मॉडल के बारे में बात करते हुए, सुजाता का कहना है कि अवनी अपने उत्पादों को ऑनलाइन वेबसाइट और अन्य ईकॉमर्स प्लेटफॉर्म जैसे फ्लिपकार्ट, अमेजॉन, क्यूट्रोव, 1mg, शाईकार्ट, अपसिक्लो, और ThePinkBox के माध्यम से ऑनलाइन बेचती है।


वह कहती हैं, "इसके अलावा, उत्पाद भारत भर में लगभग 27 रिटेल स्टोर में उपलब्ध हैं, विशेष रूप से तमिलनाडु और हैदराबाद में। अवनी ने अब तक लगभग 5,000 महिलाओं की सेवा करने का दावा किया है।"


सुजाता बताती हैं कि अवनी मुख्य रूप से नई माताओं, संवेदनशील त्वचा वाली महिलाओं, और वे जो व्यक्तिगत रूप से ऑर्गैनिक की ओर स्विच करना चाहती हैं, इन तीन कैटेगरजी में लोगों का ध्यान देख रही है। लोगों को तेजी से स्वस्थ और पर्यावरण के अनुकूल विकल्पों पर स्विच करने के महत्व का एहसास होने के साथ, कई उल्लेखनीय ब्रांड इस स्पेस में आए हैं।


महिला सैनिटरी उत्पादों के क्षेत्र में अन्य उल्लेखनीय ब्राडों में स्टोन्सप, नुआ, कार्मेसी और प्लश शामिल हैं। अवनी ने हाल ही में अपनी सीड फंडिंग जुटाई है और प्रोडक्ट डेवलपमेंट और प्रोडक्ट लाइन के विस्तार के लिए फंड का इस्तेमाल करना चाह रही है।


इसके अलावा, यह लोगों में अधिक जागरूकता पैदा करने के वास्ते अधिक जमीनी पहल को शुरू के लिए फंड के एक हिस्से का उपयोग करेगी। सुजाता कहती हैं, "हमने रणनीतिक रूप से इस राउंड में एक छोटी राशि जुटाई। हमारी विकास योजनाओं को ध्यान में रखते हुए हम अगस्त 2021 तक एक बड़े फंडिंग राउंड का लक्ष्य रखते हैं।"


Edited by Ranjana Tripathi