Kishht, LazyPay समेत लोन देने वाली इन ऐप्स पर से सरकार ने हटाया बैन

करीब 12 डिजिटल लेंडिंग ऐप्स पर से प्रतिबंध हटा लिया गया है और आने वाले हफ्तों में और भी प्रतिबंध हटाया जा सकता है. जिन कुछ ऐप्स पर से प्रतिबंध हटाया गया है उनमें Kishht, PayU-समर्थित LazyPay, Avail Finance और Indiabulls Home Loans शामिल हैं.

Kishht, LazyPay समेत लोन देने वाली इन ऐप्स पर से सरकार ने हटाया बैन

Saturday February 11, 2023,

3 min Read

इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय (MeitY) ने कुछ डिजिटल लेंडिंग (लोन देने वाली) ऐप्स पर से प्रतिबंध हटाने का फैसला किया है जो पूरी तरह से नियमों का पालन करती हैं और जिनका चीन से कोई लिंक नहीं है.

आधिकारिक सूत्रों ने कहा कि यह फैसला संबंधित ऐप्स द्वारा समीक्षा के लिए अपील करने और नियमों के अनुपालन का हवाला देते हुए दस्तावेज प्रस्तुत करने के बाद लिया गया.

रिपोर्ट्स के मुताबिक कम से कम 12 डिजिटल लेंडिंग ऐप्स पर से प्रतिबंध हटा लिया गया है और आने वाले हफ्तों में और भी प्रतिबंध हटाया जा सकता है. जिन कुछ ऐप्स पर से प्रतिबंध हटाया गया है उनमें Kishht, PayU-समर्थित LazyPay, Avail Finance और Indiabulls Home Loans शामिल हैं.

सूचना प्रौद्योगिकी अधिनियम की धारा 69ए, जिसके तहत ऐप्स पर प्रतिबंध लगाया गया था, सरकार को देश की संप्रभुता और अखंडता, देश की सुरक्षा, दूसरे देशों के साथ मैत्रीपूर्ण संबंधों या सार्वजनिक व्यवस्था के खिलाफ सामग्री तक पहुंच को प्रतिबंधित करने का अधिकार देती है. अधिनियम के तहत, प्रतिबंधित संस्थाएं सबूत पेश करके फैसले की समीक्षा के लिए सरकार से अपील कर सकती हैं कि वे देश और उसके हितों के प्रति शत्रुतापूर्ण नहीं हैं, और अगर सरकार को यकीन हो जाए तो प्रतिबंध हटाया जा सकता है.

गौरतलब हो कि सरकार ने बीते हफ्ते चीन से कथित लिंक के साथ सट्टेबाजी, जुआ, मनी लॉन्ड्रिंग और अनधिकृत लोन देने वाली करीब 232 ऐप पर प्रतिबंध लगा दिया था. प्रतिबंधित ऐप में गैर-चीनी लिंक के साथ भी 94 लोन देने वाले ऐप शामिल हैं, विशेष रूप से वे जो आरबीआई के तहत विनियमित संस्थाओं द्वारा संचालित नहीं हैं.

बता दें कि बैन होने वाले कई अन्य बड़े डिजिटल लेंडिंग यानी कर्ज देने वाले प्लैटफॉर्म्स में PayMe India, Faircent और RupeerRedee के भी नाम हैं. सूची में Teen Patty और रमी प्लेटफॉर्म्स AllRummyApp, GetRummyApp और NewRummyApp, इंस्टेंट लोन ऐप्स Buddy Loan, True Balance, mPokket, PayRupik, Quikfinance और CashTM, और दिल्ली बेस्ड ट्रेडिंग ऐप VictorOption पर भी मंत्रालय की ओर से गाज गिराई गई है. हालांकि इनमें से कई ऐप अभी भी गूगल प्ले पर उपलब्ध हैं. CashTM, को 2021 में रिजर्व बैंक के आदेश के बाद गूगल प्ले स्टोर से हटा दिया गया था. अब यह ऐप एंड्रॉयड मोबाइल ऐप मार्केटप्लेस एंड्रॉयड पर मौजूद है. KreditBee और PayMe दोनों ही एनबीएफसी के तौर पर रजिस्टर्ड हैं और कर्ज देने वाली कंपनियों के साथ को-लेंडिंग पार्टनरशिप्स के तौर पर भी लाइसेंस मिला हुआ है.