अब इन दो बैंकों ने भी बढ़ाई MCLR, कहीं आप तो नहीं हैं ग्राहक

मार्जिनल कॉस्ट ऑफ फंड बेस्ड लेंडिंग रेट्स (MCLR) में बढ़ोतरी होने से सभी तरह के कर्ज महंगे हो जाएंगे.

अब इन दो बैंकों ने भी बढ़ाई MCLR, कहीं आप तो नहीं हैं ग्राहक

Saturday September 10, 2022,

3 min Read

सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक ऑफ बड़ौदा (Bank of Baroda) और इंडियन ओवरसीज बैंक (Indian Overseas Bank) ने भी अपनी कर्ज दरों में इजाफा किया है. बैंक ने MCLR में 0.10 प्रतिशत तक की वृद्धि कर दी है. IOB ने एक नियामकीय सूचना में कहा कि तमाम राशि खंडों में उसकी MCLR में 0.10 प्रतिशत तक की वृद्धि की गई है. शनिवार 10 सितंबर 2022 से नई दर के लागू होने से उपभोक्ताओं के लिए कर्ज लेना महंगा हो जाएगा.

मार्जिनल कॉस्ट ऑफ फंड बेस्ड लेंडिंग रेट्स (MCLR) में बढ़ोतरी होने से सभी तरह के कर्ज महंगे हो जाएंगे. इनमें कार, व्यक्तिगत एवं आवासीय ऋण शामिल हैं. एक वर्षीय MCLR अब 7.65 प्रतिशत, जबकि दो साल एवं तीन साल वाली MCLR 7.80 प्रतिशत हो गई है. बैंक के बाकी MCLR इस तरह हैं...

bank-of-baroda-hikes-mclr-indian-overseas-bank-increased-mclr-

बैंक ऑफ बड़ौदा में कितनी वृद्धि

बैंक ऑफ बड़ौदा (Bank of Baroda) ने भी एक वर्षीय MCLR को बढ़ाकर 7.80 प्रतिशत कर दिया है. छह महीने की MCLR अब 7.65 प्रतिशत, जबकि तीन साल की MCLR 7.50 प्रतिशत हो गई है. बैंक ऑफ बड़ौदा ने कहा कि नई ऋण दरें 12 सितंबर से प्रभावी होंगी. बैंक ऑफ बड़ौदा की नई MCLR इस तरह हैं...

bank-of-baroda-hikes-mclr-indian-overseas-bank-increased-mclr-

HDFC बैंक भी कर्ज दरों में कर चुका है इजाफा

रेपो रेट बढ़ते ही बैंकों ने कर्ज महंगा करना शुरू कर दिया था. SBI (State Bank of India) ने 15 अगस्त 2022 को विभिन्न बेंचमार्क लेंडिंग रेट्स में 0.50 प्रतिशत तक की बढ़ोतरी की. बैंक ने एक्सटर्नल बेंचमार्क बेस्ड लेंडिंग रेट (EBLR) और रेपो लिंक्ड लेंडिंग रेट (RLLR) में 0.50 प्रतिशत की वृद्धि की. वहीं MCLR में सभी अवधि के लिए 0.20 प्रतिशत की बढ़ोतरी की गई. बैंक ऑफ बड़ौदा (Bank of Baroda), केनरा बैंक, ICICI बैंक भी लोन रेट्स में इजाफा कर चुके हैं. ICICI बैंक ने एक्सटर्नल बेंचमार्क लेंडिंग रेट को बढ़ाकर 9.10 प्रतिशत कर दिया है. नई रेट 5 अगस्त 2022 से प्रभावी है. ICICI बैंक ने 1 सितंबर 2022 से MCLR में 10 बेसिस पॉइंट्स (0.10%) की बढ़ोतरी की है. यह बढ़ोतरी सभी टेन्योर के लिए की गई है.

केनरा बैंक (Canara Bank) ने रेपो रेट लिंक्ड लेंडिग रेट को बढ़ाकर 8.30 प्रतिशत कर दिया है, पहले यह 7.80 प्रतिशत थी. नए लेंडिंग रेट 7 अगस्त 2022 से प्रभावी हैं. केनरा बैंक ने विभिन्न अवधि के लोन के लिए MCLR में 0.15 प्रतिशत तक की बढ़ोतरी की है. यह बढ़ोतरी 7 सितंबर 2022 से लागू है. बैंक ऑफ बड़ौदा ने 6 अगस्त से रेपो लिंक्ड लेंडिंग रेट में इजाफा किया है. अब रिटेल लोन्स के लिए रेपो लिंक्ड लेंडिंग रेट 7.95 प्रतिशत है. PNB (Punjab National Bank) ने MCLR में 0.05 प्रतिशत की वृद्धि की है. बैंक के अनुसार, सभी अवधि वाले कर्ज पर लागू होने वाली यह वृद्धि 1 सितंबर 2022 से प्रभावी है. भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) द्वारा नीतिगत दर (Repo Rate) में वृद्धि के बाद अगस्त की शुरुआत में ही PNB ने रेपो से जुड़ी ऋण दर (RLLR) को 0.50 प्रतिशत बढ़ाकर 7.90 प्रतिशत कर दिया था. PNB में इस वक्त बेस रेट 8.75% है.