बीमा नहीं कराने वालों का भी पैसा वापस करेगा दिवालिया हो चुका सिलिकॉन वैली बैंक

सिलिकॉन वैली बैंक (एसवीबी) के दिवालिया होने के बीच देश की बैंकिग प्रणाली में जनता का भरोसा मजबूत बनाए रखने और अमेरिका की अर्थव्यवस्था की रक्षा करने के उद्देश्य से बाइडन प्रशासन ने घोषणा की थी कि इस बैंक के जमाकर्ता सोमवार यानी आज से अपने धन का उपयोग कर सकेंगे.

बीमा नहीं कराने वालों का भी पैसा वापस करेगा दिवालिया हो चुका सिलिकॉन वैली बैंक

Monday March 13, 2023,

4 min Read

सिलिकॉन वैली बैंक Silicon Valley Bank के दिवालिया होने के बाद दो दिनों तक हैरान-परेशान रहने के बाद जमाकर्ताओं को आखिरकार कुछ राहत मिली है. फ़ेडरल डिपॉज़िट इंश्योरेंस कॉरपोरेशन (FDIC) द्वारा बीमा न किए गए धन को भी अब निष्क्रिय बैंक में जमा किए गए धन में से जमाकर्ताओं को वापस कर दिया जाएगा.

इससे पहले, सिलिकॉन वैली बैंक (एसवीबी) के दिवालिया होने के बीच देश की बैंकिग प्रणाली में जनता का भरोसा मजबूत बनाए रखने और अमेरिका की अर्थव्यवस्था की रक्षा करने के उद्देश्य से बाइडन प्रशासन ने घोषणा की थी कि इस बैंक के जमाकर्ता सोमवार यानी आज से अपने धन का उपयोग कर सकेंगे.

एक आधिकारिक बयान में कहा गया कि फेडरल डिपॉजिट इंश्योरेंस कॉरपोरेशन (एफडीआईसी) और केंद्रीय बैंक फेडरल रिजर्व की अनुशंसा मिलने तथा राष्ट्रपति जो बाइडन के साथ हुए विचार-विमर्श के बाद वित्त मंत्री जेनेट येलेन ने रविवार को बैंक का समाधान पूरा करने, साथ ही जमाकर्ताओं के हितों की पूरी तरह से रक्षा करने के लिए एफडीआईसी को कदम उठाने की मंजूरी दे दी है.

अमेरिका के 16वें सबसे बड़े बैंक कैलिफोर्निया स्थित सिलिकॉन वैली बैंक को कैलिफोर्निया के वित्तीय सुरक्षा एवं नवोन्मेष विभाग ने शुक्रवार को बंद कर दिया था. उसने एफडीआईसी को बैंक का समाधानकर्ता नियुक्त किया है. बैंक तब संकट में फंस गया जब वेंचर कैपिटल कंपनियों और उनके द्वारा समर्थित कंपनियों समेत उसके ग्राहकों ने अपनी जमा राशि निकालनी शुरू कर दी.

अमेरिका के वित्त मंत्रालय, फेडरल रिजर्व और एफडीआईसी की ओर से जारी संयुक्त बयान में कहा गया, ‘‘बैंक के जमाकर्ता सोमवार, 13 मार्च से अपने पूरे धन का उपयोग कर सकेंगे. सिलिकॉन वैली बैंक के समाधान से जुड़े नुकसान का भार करदाताओं को नहीं उठाना होगा.’’

बयान में, न्यूयॉर्क के सिग्नेचर बैंक के लिए भी इसी तरह के व्यवस्थित जोखिम अपवाद की घोषणा की गई है. इस बैंक को सोमवार को बंद कर दिया गया.

ब्लूमबर्ग की रिपोर्ट के अनुसार, जमाकर्ताओं ने एसवीबी से करीब 3.5 अरब रुपये निकाले हैं जो कि पिछले एक दशक में एक दिन में किसी बैंक से निकाली गई सबसे अधिक राशि है.

एसवीबी के जमाकर्ताओं के हितों की सुरक्षा के लिए उठाए गए कदमों का स्वागत करते हुए अमेरिका भारत रणनीतिक एवं साझेदारी फोरम (यूएसआईएसपीएफ) ने कहा है कि वैश्विक स्टार्टअप एवं नवोन्मेष परिवेश में अमेरिका के नेतृत्व को बनाए रखने के लिए त्वरित एवं व्यवस्थित समाधान आवश्यक है.

यूएसआईएसपीएफ के प्रमुख मुकेश अघी ने कहा, ‘‘अधिकारियों ने कदम उठाए हैं. वे जानते हैं कि जमा के मूल्य की सुरक्षा करने में विफल रहने पर कई स्टार्टअप कंपनियां संकट में फंस जाएंगी, परिणामस्वरूप हजारों नौकरियों पर संकट मंडराने लगेगा और दुनियाभर के लाखों लोग इससे प्रभावित होंगे’’

डिजिटल गेमिंग कंपनी Nazara Technologies ने घोषणा की है कि उसकी दो सब्सिडरी कंपनियों - Kiddopia और Mediawrkz Inc के सिलिकॉन वैली बैंक (Silicon Valley Bank - SVB) में नकद जमा है. SVB वर्तमान में फ़ेडरल डिपॉज़िट इंश्योरेंस कॉरपोरेशन (FDIC) के अधीन है. SVB में Kiddopia Inc. और Mediawrkz Inc. की कुल जमा रकम 7.75 करोड़ डॉलर (64 करोड़ रुपये) है.

Kiddopia Inc - Paper Boat Apps की 100% सहायक कंपनी है, जिसकी 51.5 फीसदी हिस्सेदारी Nazara के पास है. जबकि Mediawrkz Inc - Datawrkz Business Solutions की 100% सहायक कंपनी है, जिसकी 33 फीसदी हिस्सेदारी Nazara के पास है.

वहीं, रविवार को अमेरिकी सरकार को एक याचिका में, Y Combinator ने कहा कि सिलिकॉन वैली बैंक (Silicon Valley Bank - SVB) में खातों वाले लगभग 10,000 छोटे व्यवसाय अगले 30 दिनों में अपने कर्मचारियों को भुगतान करने में असमर्थ हो सकते हैं, और इसके परिणामस्वरूप लगभग 1 लाख नौकरियां प्रभावित होने का अनुमान है.

वहीं, ब्रिटेन के मल्टीनेशनल बैंक एचएसबीसी HSBC ने Silicon Valley Bank (SVB) की ब्रिटिश इकाई को केवल 99 रुपये में खरीद लिया है. बैंक ने सोमवार को इसकी जानकारी दी.

क्यों डूब गया सिलिकॉन वैली बैंक?

सिलिकॉन वैली बैंक टेक कंपनियों और नए वेंचर्स को लोन देता है. बैंक का करीब 44 फीसदी कारोबार टेक और हेल्थकेयर कंपनियों के साथ है. अमेरिकी फेडरल रिजर्व की ओर से ब्याज दरों में लगातार हो रही बढोतरी के चलते इन सेक्टर्स पर बुरा असर पड़ा है. निवेशकों का भी इन सेक्टर्स से आकर्षण कम हुआ है. जिसका नकारात्मक असर SVB बैंक के कारोबार पर भी पड़ा. जिन कंपनियों को बैंक ने कर्ज दिया था, उन्होंने कर्ज की वापसी नहीं की.

SVB के दिवालिया होने के बाद रविवार को न्यूयॉर्क स्थित Signature Bank पर भी ताले लग गए हैं. वित्तीय नियामकों ने सिग्नेचर बैंक को बंद कर दिया है.

यह भी पढ़ें
99 रुपये में क्यों बिक गया यह बैंक? यह है वजह


Edited by Vishal Jaiswal