हर एक शेयर पर 2 बोनस शेयर दे रही ये सरकारी कंपनी, 1 लाख को 66 लाख रुपये बना चुका है ये स्टॉक

भारत इलेक्ट्रॉनिक्स लिमिटेड पिछले 10 साल में 66 गुना रिटर्न दे चुकी है. अब ये सरकारी कंपनी हर एक शेयर पर 2 बोनस शेयर दे रही है. जानिए क्या होते हैं बोनस शेयर और इससे फायदा होता है या नहीं.

हर एक शेयर पर 2 बोनस शेयर दे रही ये सरकारी कंपनी, 1 लाख को 66 लाख रुपये बना चुका है ये स्टॉक

Friday September 16, 2022,

3 min Read

आज का दिन भारत इलेक्ट्रॉनिक्स लिमिटेड (Bharat Electronics Ltd.) के शेयर धारकों के लिए बहुत ही खास है. आज 16 सितंबर को यह कंपनी अपने शेयर धारकों को 1 शेयर पर 2 बोनस शेयर (Bonus Share) दे रही है. कंपनी की तरफ से जारी बयान के मुताबिक 15 सितंबर एक्स बोनस डेट (Ex-Bonus Date) थी और आज 16 सितंबर को इसकी रेकॉर्ड डेट (Record Date) है. यह सरकारी कंपनी एयरोस्पेस और डिफेंस सेक्टर में काम करती है. अब सवाल ये है कि कंपनी बोनस शेयर क्यों दे रही है?

6 महीने में कंपनी ने दिया 63 फीसदी रिटर्न

अगर सिर्फ 6 महीनों की बात करें तो इस सरकारी कंपनी ने करीब 63.5 फीसदी रिटर्न दिए हैं. 15 मार्च 2022 को भारत इलेक्ट्रॉनिक्स का शेयर बीएसई पर 205.40 रुपये के स्तर पर था. वहीं 14 सितंबर को यह शेयर 335.90 रुपये के स्तर पर पहुंच चुका है. अगर पिछले एक साल की बात करें तो भारत इलेक्ट्रॉनिक्स के शेयर करीब 62 फीसदी चढ़े हैं.

1 लाख के बन गए 66 लाख रुपये

भारत इलेक्ट्रॉनिक्स लिमिटेड ने अपने शेयर धारकों को तगड़ा रिटर्न दिया है. कंपनी के शेयर 1 नवंबर 2002 को बीएसई पर सिर्फ 5.06 रुपये के स्तर पर थे. वहीं 14 सितंबर तक कंपनी के शेयर 335.90 रुपये पर आ गए. यानी करीब 10 सालों में कंपनी ने 66 गुना से भी ज्यादा रिटर्न दिया है. ऐसे में अगर किसी शख्स ने नवंबर 2002 में कंपनी के शेयर में 1 लाख रुपये लगाए होते तो आज उसके पैसे 66 लाख रुपये बन चुके होते.

समझिए एक्स-बोनस और रेकॉर्ड डेट का मतलब

शेयर बोनस तमाम कंपनियों में इस्तेमाल होने वाली आम प्रैक्टिस है, लेकिन निवेशक अक्सर इससे कनफ्यूज हो जाते हैं. इन मामलों में दो तारीखें बहुत ही अहम होती हैं, रेकॉर्ड डेट और एक्स-डेट. रेकॉर्ड डेट वह तारीख होती है, जिस पर या उससे पहले आपके पास शेयर होना जरूरी है, तभी फायदा मिलेगा. वहीं एक्स-डेट रेकॉर्ड डेट से एक-दो दिन पहले की तारीख होती है, ताकि उस तारीख पर अगर आप शेयर खरीदें तो रेकॉर्ड डेट तक वह शेयर आपके डीमैट अकाउंट में आ जाएं.

बोनस शेयर के जरिए एक कंपनी अपने शेयरों की संख्या को बढ़ाती है, जिससे स्टॉक की फेस वैल्यू घट जाती है. कंपनियां स्टॉक स्प्लिट इसलिए करती हैं, ताकि स्टॉक की कीमत घटाई जा सके. कीमत कम होने की वजह से छोटे रिटेल निवेशक भी उसे आसानी से खरीद पाते हैं, जिससे लिक्विडिटी बढ़ती है. जैसे कंपनी हर एक शेयर पर 2 बोनस शेयर दे रही है, यानी अब आपके पास शेयरों की संख्या 3 हो जाएगी. वहीं एक शेयर की कीमत 336 रुपये के करीब थी, ऐसे में अब एक शेयर 112 रुपये के करीब का हो गया है.

बोनस शेयर से आपको फायदा है या नहीं?

आपको बोनस शेयर जारी होने से कोई फायदा नहीं होगा, लेकिन अगर भविष्य में कंपनी प्रति शेयर डिविडेंड जारी करती है तो आपको फायदा होगा. ऐसा इसलिए क्योंकि कंपनी बोनस शेयर जारी करेगी, तो आपके पास शेयरों की संख्या अधिक हो जाएगी.