‘आकासा’ देकर अलविदा कह गए राकेश झुनझुनवाला, 7 दिन पहले ही तो शुरू हुई थी एयरलाइंस..

By Ritika Singh
August 14, 2022, Updated on : Mon Aug 15 2022 07:35:34 GMT+0000
‘आकासा’ देकर अलविदा कह गए राकेश झुनझुनवाला, 7 दिन पहले ही तो शुरू हुई थी एयरलाइंस..
राकेश झुनझुनवाला का रविवार 14 अगस्त को मुंबई में निधन हो गया. वह 62 वर्ष के थे.
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

अभी तो आकासा एयर (Akasa Air) ठीक से शुरू भी नहीं हो पाई और राकेश झुनझुनवाला (Rakesh Jhunjhunwala) दुनिया को अलविदा कह गए. शेयर बाजार के दिग्गज निवेशक और आकासा एयर में सबसे बड़े हिस्सेदार राकेश झुनझुनवाला का रविवार 14 अगस्त को मुंबई में निधन हो गया. वह 62 वर्ष के थे. उनकी मृत्यु से पूरा कारोबारी जगत सदमे और शोक में है. हाल ही में वह आकासा एयर की लॉन्चिंग के दौरान मुंबई एयरपोर्ट पर दिखे थे. उस वक्त वह व्हीलचेयर पर थे.


आकासा एयर ब्रांड नाम से SNV एविएशन प्राइवेट लिमिटेड भारतीय विमानन सेक्टर में उतरी है. कंपनी के फाउंडर व सीईओ विनय दुबे (Vinay Dube) हैं. राकेश झुनझुनवाला (Rakesh Jhunjhunwala) समर्थित Akasa Air की कमर्शियल फ्लाइट्स का परिचालन रविवार 7 अगस्त 2022 से शुरू हो गया. Akasa Air की पहली हवाई सेवा मुंबई-अहमदाबाद रूट पर शुरू हुई. Akasa Air को 7 जुलाई को विमानन नियामक DGCA से एयर ऑपरेटर सर्टिफिकेट मिला था. अक्टूबर 2021 में इसे नागरिक उड्डयन मंत्रालय से हवाई परिचालन के लिए अनापत्ति प्रमाण-पत्र मिला था. बेंगलुरु-कोच्चि रूट पर Akasa Air की उड़ानें 12 अगस्त 2022 से, बेंगलुरु-मुंबई मार्ग पर 19 अगस्त से, अहमदाबाद और बेंगलुरु के बीच 23 अगस्त से, चेन्नई-मुंबई मार्ग पर 15 सितंबर से शुरू होने जा रही हैं.

billionaire-investor-and-akasa-air-owner-rakesh-jhunjhunwala-passes-away-big-bull

व्हीलचेयर पर राकेश झुनझुनवाला (Image: Akasa Air)

सबसे बड़ी हिस्‍सेदारी झुनझुनवाला और उनकी पत्‍नी रेखा की

आकासा में सबसे बड़ी हिस्‍सेदारी राकेश झुनझुनवाला और उनकी पत्‍नी रेखा की है. दोनों की मिलाकर कुल हिस्‍सेदारी 45.97 फीसदी है. विनय दुबे, संजय दुबे, नीरज दुबे, माधव भटकुली, पीएआर कैपिटल वेंचर्स, कार्तिक वर्मा भी इसमें प्रमोटर हैं. झुनझुनवाला के बाद विनय दुबे की इसमें सबसे ज्‍यादा 16.13 फीसदी हिस्‍सेदारी है.

अपने दांव में नाकाम होने के लिए भी थे तैयार

भारत के वॉरेन बफे (Warren Buffet) कहे जाने वाले राकेश झुनझुनवाला जोखिम उठाने से कभी नहीं डरे. फिर चाहे बात शेयर बाजार की हो या फिर भारत के विमानन सेक्टर की. झुनझुनवाला ने जब आकासा एयर के जरिए भारतीय विमानन सेक्टर में उतरने की घोषणा की थी, उस वक्त उनसे सवाल किया गया था कि वह ऐसे वक्त में विमानन कंपनी क्यों शुरू कर रहे हैं, जब एविएशन इंडस्ट्री की स्थिति अच्छी नहीं है. तब उन्होंने जवाब दिया था कि वह असफलता के लिए भी तैयार हैं.

लो कॉस्ट एयरलाइन Akasa Air

Akasa Air की ओर से ऑर्डर किए गए 72 Boeing 737 MAX एयरप्लेन्स में CFM का LEAP-1B इंजन है. 72 विमानों में से 18 विमान 2023 तक डिलीवर होने हैं. बाकी 54 विमान अगले चार सालों में आएंगे. शुरुआती दौर में आकासा एयर की उड़ानें मेट्रो शहरों से टियर-2 एवं टियर-3 शहरों के लिए होगी. यह एक लो कॉस्ट एयरलाइन होगी. आकासा एयर के विमानों में सीटों की एक ही श्रेणी है. इनमें बिजनेस क्लास नहीं है.


राकेश झुनझुनवाला के जाने के बाद आकासा एयर का क्या होगा, यह तो वक्त ही बताएगा. हां लेकिन इतना जरूर है कि उनकी अचानक मृत्यु से बिजनेस जगत का हर व्यक्ति हैरान और शोक में है. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी (Narendra Modi) ने भी झुनझुनवाला की मृत्यु पर शोक प्रकट करते हुए ट्वीट किया, 'राकेश झुनझुनवाला जिंदादिल, हाजिरजवाब और गहरी समझ वाले व्यक्ति थे. उन्होंने आर्थिक जगत में एक अमिट छाप छोड़ी है. वह (झुनझुनवाला) भारत की प्रगति को लेकर बहुत जुनूनी थे. उनका दुनिया से जाना दुखद है. उनके परिवार और प्रशंसकों के प्रति मेरी संवेदना. ओम शांति.’

झुनझुनवाला किडनी, डायबिटीज समेत स्वास्थ्य संबंधी कई समस्याओं से जूझ रहे थे. पिछले कई दिनों से उनका स्वास्थ्य लगातार गिर रहा था. रविवार सुबह हालत बिगड़ने पर उन्हें मुंबई के ब्रीच कैंडी अस्पताल ले जाया गया, जहां उन्हें मृत घोषित कर दिया गया.