सिर्फ 2 लाख लगाकर शुरू करें 50 हजार तक कमाई वाला बिजनेस, जुर्माने के डर से हर कोई खरीदता है ये!

By Anuj Maurya
October 12, 2022, Updated on : Wed Oct 12 2022 17:42:01 GMT+0000
सिर्फ 2 लाख लगाकर शुरू करें 50 हजार तक कमाई वाला बिजनेस, जुर्माने के डर से हर कोई खरीदता है ये!
अगर आप बिजनेस करने की सोच रहे हैं तो प्रदूषण जांच केंद्र खोल सकते हैं. हर कोई इसे खरीदता है. इसे शुरू करने में भी बहुत कम खर्चा होता है और कमाई जारी रहती है.
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

अगर आप भी कम निवेश में कोई ऐसा बिजनेस करना चाहते हैं, जिससे तगड़ी कमाई हो, तो आप प्रदूषण जांच केंद्र (Pollution Testing Center) खोल सकते हैं. ये एक ऐसा बिजनेस आइडिया (Business Idea) है, जिसमें आपको नुकसान नहीं होगा, बल्कि डिमांड हमेशा बनी रहेगी. ऐसा इसलिए क्योंकि कोई दोपहिया चलाए या चार पहिया, हर गाड़ी के लिए प्रदूषण जांच सर्टिफिकेट रखना जरूरी है. वहीं ये सर्टिफिकेट 6 महीने से 12 महीने तक के लिए बनता है. कहीं-कहीं तो सिर्फ 3 महीने के लिए ही सर्टिफिकेट बनाया जाता है. यानी इस समय के बाद उसे रिन्यू कराने के लिए ग्राहक फिर से आपके पास आएंगे. आइए जानते हैं कैसे शुरू कर सकते हैं प्रदूषण जांच केंद्र (How to open Pollution Testing Center) और कितना आ सकता है खर्चा.

भविष्य में कितना स्कोप है इस बिजनेस का?

अगर हम नए मोटर व्हीकल एक्ट को देखें तो उसके तहत पॉल्यूशन सर्टिफिकेट (PUC) ना होने पर जुर्माने का प्रावधान है. यह जुर्माना भी एक-दो नहीं बल्कि 10 हजार रुपये तक का हो सकता है. यानी आपको यह सर्टिफिकेट बनवाना ही होगा. वहीं गाड़ियों की संख्या इतनी ज्यादा हो गई है और लगातार बढ़ती ही जा रही है कि आपको जगह-जगह प्रदूषण जांच केंद्र दिखने लगे होंगे. तमाम हाईवे के किनारे भी हर कुछ किलोमीटर की दूरी पर एक प्रदूषण जांच केंद्र खुला हुआ देखा जा सकता है.

कितनी लागत और कितनी कमाई?

इस बिजनेस में लागत के नाम पर आपकी जेब से मामूली खर्चा होगा. हालांकि, इसके लिए आपके पास थोड़ी जमीन होनी जरूरी है. अगर नहीं है तो आपको जमीन किराए पर लेनी पड़ेगी. इसके अलावा प्रदूषण जांच केंद्र खोलने में आपको 5-10 हजार रुपये आवेदन और सिक्योरिटी डिपोजिट के तौर पर खर्च करने होंगे. वहीं स्ट्रक्चर बनाने में आपका 20-30 हजार रुपये तक खर्च हो सकते हैं. वहीं डेढ़ लाख रुपये तक का खर्चा आपको प्रदूषण जांच की मशीन पर करना होगा. यानी लगभग 2 लाख रुपये में आप ये बिजनेस शुरू कर सकते हैं. वहीं इस बिजनेस में आप रोजाना आसानी से 1000-1500 रुपये तक कमा सकते हैं. यानी 30-50 हजार रुपये हर महीने की आपकी कमाई हो सकती है.

कैसे खोलें प्रदूषण जांच केंद्र?

प्रदूषण जांच केंद्र खोलने के लिए सबसे पहले आपको लोकल ट्रांसपोर्ट ऑफिस से लाइसेंस लेना होगा. इसके लिए आप ऑफलाइन भी अप्लाई कर सकते हैं और ऑनलाइन भी. अगर दिल्ली की बात करें तो यहां ऑनलाइन ही आप प्रदूषण जांच केंद्र के लिए आवेदन कर सकते हैं. आवेदन के वक्त आपको 5000 रुपये का चार्ज देना होगा और साथ ही 10 रुपये के स्टांप पर एक एफिडेविट देना होगा. वित्त वर्ष के हिसाब से लाइसेंस मिलता है, जिसे आपको हर साल रीन्यू कराना होता है.


प्रदूषण जांच केंद्र खोलते वक्त आपको कुछ बातों का ध्यान रखना होता है. इसके केबिन का रंग पीला होना जरूरी है, जो सरकार ने तय किया है. इसे पीला इसलिए रखा गया है ताकि यह दूर से भी दिखे और बिल्कुल अलग दिख सके. केबिन की लंबाई 2.5 मीटर, चौड़ाई 2 मीटर और ऊंचाई 2 मीटर कम से कम जरूर होनी चाहिए. इतना ही नहीं प्रदूषण जांच केंद्र पर लाइसेंस नंबर भी लिखा होना जरूरी है. अगर आप चाहें तो इस बिजनेस के लिए मुद्रा लोन भी ले सकते हैं, सरकार भी आपकी मदद करेगी.