Business Idea: घर बैठे शुरू करें 'फ्रोजन मटर' का बिजनेस, मामूली सी मेहनत में होगा दोगुना तक मुनाफा

ठंड का सीजन आ रहा है और इसमें बाजार में आएगी हरी मटर. आप चाहे तो फ्रोजन हरी मटर का बिजनेस कर सकते हैं, जिसमें दोगुना तक मुनाफा होगा.

Business Idea: घर बैठे शुरू करें 'फ्रोजन मटर' का बिजनेस, मामूली सी मेहनत में होगा दोगुना तक मुनाफा

Tuesday August 30, 2022,

5 min Read

ठंड का सीजन शुरू होने में अब बस महीने से डेढ़ महीने का वक्त बचा है. ठंड शुरू होते ही शुरू हो जाएगी मटर की खेती. कोई मटर के पराठे बनाएगा तो कोई मटर से तमाम तरह की सब्जियां बनाएगा. यहां ध्यान देने की बात ये है कि ये मटर होती तो सिर्फ ठंड में है, लेकिन इसकी डिमांड पूरे साल बनी रहती है. ऐसे में अगर आप चाहें तो फ्रोजन मटर का बिजनेस (Frozen Green Peas Business Idea) कर के मोटी कमाई कर सकते हैं. आइए जानते हैं कैसे कर सकते हैं ये बिजनेस (How to do Frozen Green Peas Business) और कमा सकते हैं तगड़ा मुनाफा.

सबसे पहले आपको चाहिए ढेर सारी मटर

अगर आप खुद किसान हैं तो आप अपने बिजनेस के लिए खुद ही ढेर सारी मटर उगा सकते हैं. वहीं अगर आप किसान नहीं हैं तो आप बड़ी मात्रा में मटर खरीद सकते हैं. इसके दो तरीके हैं. या तो आप किसी सब्जी मंडी से थोक में मटर खरीद लें या फिर सीधे किसानों से मटर खरीदें. सीधे किसान से मटर खरीदने में आपको एक बड़ा फायदा ये होगा कि आप क्वालिटी कंट्रोल करवा सकते हैं.

मार्केट की थोड़ी रिसर्च जरूर करें

फ्रोजन मटर का बिजनेस करने से पहले आपको थोड़ी मार्केट रिसर्च जरूर करनी चाहिए, ताकि ये पता चल सके कि आपके इलाके में फ्रोजन मटर की कितनी डिमांड है. इससे आपको बिजनेस करने में आसानी होगी. साथ ही इससे आपको एक सही कीमत तय करने में भी मदद मिलेगी.

मार्केटिंग का इंतजाम भी पहले से कर लें

पहले प्रोडक्ट बनाना फिर मार्केट में उसे बेचना, इस प्रैक्टिस में अक्सर नुकसान के चांस होते हैं. ऐसे में आप चाहे तो पहले ही कुछ दुकानदारों से कॉन्ट्रैक्ट कर सकते हैं कि आप उन्हें फ्रोजन मटर मुहैया कराएंगे. ऐसे में आपको डिमांड का पहले से पता होगा तो आप उसी हिसाब से मटर खरीद कर उसे फ्रोजन में बदल पाएंगे.

कैसे बनाई जाती है फ्रोजन मटर?

सबसे पहले आपको मटर को छीलना होगा. मटर छीलने के लिए आप मजदूरों की मदद ले सकते हैं या फिर बड़े लेवल पर बिजनेस करने की सोच रहे हैं तो ये काम मशीनों से भी हो सकता है. मटर छील लेने के बाद पहले उसे करीब 90 डिग्री के तापमान तक पर गर्म किया जाता है और फिर उस मटर को गर्म पानी से निकाल कर बेहद ठंडे (3-5 डिग्री) पानी में डाल दिया जाता है. जब मटर एक झटके में बेहद गर्म वातावरण से ठंडे वातावरण में आती है तो उसमें मौजूद बेक्टीरिया मर जाते हैं. इसके बाद मटर को करीब -40 डिग्री पर रखते हैं, जिसकी वजह से वह जम जाते हैं. इसके बाद मटर के दानों को अलग-अलग पैकेट में पैक कर के बेचा जाता है.

कितनी लागत, कितना मुनाफा?

अगर आप ठंड के सीजन में ही सब्जी मंडी से थोक में या फिर सीधे किसानों से मटर खरीदते हैं तो आपको वह मटर करीब 10-15 रुपये किलो के हिसाब से मिल जाएगी. प्रति किलो मटर में करीब आधा किलो दाने निकलते हैं. यानी प्रति किलो मटर के दाने आपको 20-30 रुपये के पड़ेंगे. इसके बाद इन्हें गर्म और ठंडा करने के बाद जमाकर मार्केट में बेचा जा सकता है. दानों को छीलने के लिए अगर आप मजदूर लगाते हैं तो सिर्फ 2 मजदूर मिलकर ही दिन भर में करीब 50 किलो मटर छील देंगे, मतलब आपके पास 25 किलो के करीब दाने होंगे. मजदूरों को अगर 400-400 रुपये भी देते हैं तो आपका 800 रुपये का खर्च आएगा.

अब बारी आती है इसे गर्म और ठंडा करने की, जिसमें आपकी गैस या फ्रिज के ठंडे पानी के लिए करीब 100 रुपये की बिजली लगेगी. इसके बाद आपको अपने फ्रीजर में उसे जमने के लिए रख देना होगा. जमने के बाद उसे पैकेट्स में पैक कर के बेचना होगा. पैकिंग में छोटे लेवल पर खर्च करीब 5 रुपये का आ सकता है. यानी 50 किलो मटर खरीदने से लेकर उसे पैक करने तक वह आपका करीब इतना खर्च होगा.

50 किलो मटर यानी 25 किलो दाने- करीब 750 रुपये

दो लेबर का मटर छीलने का खर्च- 800 रुपये

गर्म और ठंडा करने पर खर्च- 100 रुपये

पैकिंग पर खर्च- 125 रुपये

फ्रीजिंग में बिजली का खर्च- करीब 150-200 रुपये महीना

कुल खर्च- 1975 यानी करीब 2000 रुपये

प्रति किलो मटर पर खर्च- 2000/25= 80

यूं होगा दोगुना तक मुनाफा

इस तरह आपको एक किलो मटर ज्यादा से ज्यादा 80 रुपये की पड़ेगी. वहीं आप इसे 120-150 रुपये किलो के भाव में दुकानों पर बेच सकेंगे. थोक में भी आप 100-120 रुपये किलो बेच सकते हैं. वहीं रिटेल में आपको इस मटर के लिए 170-180 रुपये तक की कीमत मिल जाएगी. यानी प्रति किलो पर आपको 20 से 80 रुपये तक का मुनाफा होगा. मान लेते हैं कि आप 150 रुपये के औसत भाव से मटर दुकानों पर बेच देते हैं तो आपको प्रति किलो 70 रुपये का मुनाफा होगा. मतलब आपको लागत से करीब दोगुना दाम मिलेगा. हालांकि, इस पूरे मामले में आपको डीप फ्रीजर, मटर को गर्म करने के लिए गैस चूल्हा या दूसरी कोई व्यवस्था और कुछ अन्य छोटी-मोटी चीजों के लिए कुछ खर्च करना होगा, लेकिन वह सिर्फ एक बार का खर्च होगा.