ड्यूटी कर घर लौटा डॉक्टर तो पड़ोसियों ने बजाईं इतनी तालियां, विडियो देखकर आपको भी सुकून मिलेगा

  • +0
Share on
close
  • +0
Share on
close
Share on
close

कहा जाता है कि डॉक्टर भगवान का दूसरा रूप होते हैं। कोरोना महामारी के इस विकट समय में डॉक्टरों ने इसे साबित भी किया है। पूरी दुनिया में कहीं भी देख लीजिए, कोरोना के इस दौर में डॉक्टर्स बिना कुछ खाए-पिए दिन और रात मरीजों के लिए काम पर डटे हुए हैं। इटली के डॉक्टर्स की हालत देखकर तो अच्छे-अच्छों को रोना आ जाए। पीएम मोदी ने भी इस बात को माना और डॉक्टर्स को कोरोना वीरों का तमगा देते हुए उनके लिए लोगों से 'जनता कर्फ्यू' के दिन शाम बजे ताली बजाने की अपील की।


k

सांकेतिक चित्र (फोटो क्रेडिट: news18)



लोगों ने जोश के साथ ऐसा किया भी। इसी का एक विडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। विडियो में जब एक डॉक्टर अपने घर आता है तो उनके घरवाले और पड़ोसी ताली और घंटियों के साथ उनका स्वागत करते हैं। विडियो इतना प्यारा है कि देखकर हर किसी का दिल खुश हो जाए।


यह विडियो डॉ. सागर आनंद ने अपने ट्विटर अकाउंट पर पोस्ट किया। विडियो के साथ उन्होंने लिखा,

'मेरे घर आने पर घरवालों और पड़ोसियों ने ताली, थाली और घंटी बजाकर जो आभार दिखाया है, मैं उससे अभिभूत हूं। यह इस कठिन समय में काम करने वाले डॉक्टरों और बाकी लोगों के लिए सम्मान दिखाता है।'


देखें विडियो...

विडियो में दिखने वाले शख्स डॉ. सागर आनंद हैं। वह अपनी शिफ्ट खत्म करके वापस घर आए थे। जैसे ही वह गली में आए, उनके घरवालों और पड़ोसियों ने जमकर तालियां, शंख और घंटियां बजाईं। यह विडियो सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो गया। लोगों ने डॉ. सागर के साथ-साथ पूरे डॉक्टर समुदाय की तारीफ की। यहां तक कि इस विडियो को डीडी न्यूज ने भी अपने हैंडल से ट्वीट किया। डीडी न्यूज ने लिखा,

'वह तालियों और आभार के साथ घर वापस आए। आइए उन्हें कम कोविड-19 मरीजों के पास वापस जाने दिया जाए। घर पर रहिए और अपने हाथ धोइए।'

 

मालूम हो, कोरोना महामारी के चलते डॉक्टर्स को दिन-रात मेहनत करनी पड़ रही है। इटली में तो हालात और भी खराब हैं। कोरोना ने इस पूरे देश को झकझोर कर रख दिया है। अभी तक इटली में कोरोना के 70 हजार के करीब केस सामने आए हैं और इनमें से 6,800 से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है। डॉक्टरों और नर्सों को लगातार 24 घंटों से भी अधिक देर तक काम करना पड़ रहा है। यहां की तस्वीरें देखकर हर कोई रुआंसा हो जाए। एक बार आप भी देखिए तस्वीरें... 

अब बात करते हैं भारत की, भारत की राजधानी दिल्ली सहित बड़े शहरों से थोड़ी विचलित करने वाली खबरें आई हैं। खबरें ऐसी हैं कि दिल्ली, नोएडा, वारंगल और चेन्नई के कुछ मकानमालिकों ने किराए पर रहने वालीं नर्सों और बाकी अस्पतालकर्मियों को सिर्फ इसलिए घर से निकालने के लिए कहा है क्योंकि वे कोरोना संक्रमितों के इलाज की अपनी ड्यूटी कर रहे थे। मकानमालिकों का कहना है कि वे संक्रमितों का इलाज कर रहे हैं और इस कारण उनके घर में कोरोना ना फैले, इसके लिए उन्होंने ऐसा किया है। 





हालांकि इस मामले में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन और दिल्ली सीएम केजरीवाल को बयान जारी करना पड़ा। डॉ. हर्षवर्धन ने कहा,

'दिल्ली, नोएडा, वारंगल और चेन्नई के रिहायशी इलाकों और सोसायटीज से डॉक्टरों और बाकी अस्पतालकर्मियों को निकाले जाने की खबरें काफी दुखदायक हैं। मकानमालिक उन्हें कोरोना फैलने के डर से निकाल रहे हैं। प्लीज घबराएं नहीं।'

इस मामले पर दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने भी बयान दिया। उन्होंने कहा,

'मुझे खबर मिली है कि कुछ मकानमालिक अपने किराएदार नर्सों और बाकी अस्पताल में काम करने वालों को कोरोना फैलने के डर से घरों से निकाल रहे हैं। यह बिल्कुल गलत है। डॉक्टर्स आपके बच्चों और परिवार के लिए अपनी जान दांव पर लगा रहे हैं।'


देखें सीएम केजरीवाल का पूरा बयान...


How has the coronavirus outbreak disrupted your life? And how are you dealing with it? Write to us or send us a video with subject line 'Coronavirus Disruption' to editorial@yourstory.com

  • +0
Share on
close
  • +0
Share on
close
Share on
close

Our Partner Events

Hustle across India