लॉकडाउन से प्रभावित दिहाड़ी मजदूरों के लिए जोमैटो ने चलाई खास मुहिम, हर कोई कर रहा है तारीफ

By yourstory हिन्दी
March 26, 2020, Updated on : Thu Mar 26 2020 07:31:31 GMT+0000
लॉकडाउन से प्रभावित दिहाड़ी मजदूरों के लिए जोमैटो ने चलाई खास मुहिम, हर कोई कर रहा है तारीफ
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

कोरोना वायरस (COVID-19) के संक्रमितों की संख्या तेजी से बढ़ने लगी है। यही कारण था कि देश की पीएम नरेंद्र मोदी को दो हफ्तों में दूसरी बार लोगों को संबोधित करना पड़ा। मंगलवार रात में पीएम ने लोगों को संबोधित करते हुए पूरे देश को 21 दिन के लिए लॉकडाउन करने की घोषणा की। इसके साथ ही अब पूरा देश 14 अप्रैल तक 'बंद' है।


ऐसे में सबसे अधिक दिक्कतों का सामना वे लोग कर रहे हैं जो दिहाड़ी मजदूर हैं। यानी ऐसे लोग जो रोज कमाते हैं और उसी दिन के पैसों से शाम में खाना खाते हैं। आशंका थी कि पूरा देश लॉकडाउन होने के कारण ऐसे मजदूरों को दो वक्त का खाना नसीब होने की भी परेशानी आएगी।


k

सांकेतिक चित्र (फोटो क्रेडिट: restaurentIndia)



इसी परेशानी से पार पाने के लिए फूड डिलीवरी करने वाली कंपनी जोमैटो ने एक पहल चलाई है। जोमैटो अपनी 'फीड द डेली वेजर' पहल के तहत लोगों से फंडिंग इकठ्ठा कर रही है। इस फंडिंग में मिले पैसों से कंपनी दिहाड़ी मजदूरों के लिए खाने की व्यवस्था करेगी। जोमैटो के फाउंडर दीपिंदर गोयल ने ट्वीट कर इसकी जानकारी दी। ट्वीट में दीपिंदर ने लिखा,

'प्लीज जोमैटो फीडिंग इंडिया की 'फीड द डेली वेजर' मुहिम में डोनेट करें और कोविड-19 के कारण हुए लॉकडाउन से अपनी आजीविका खोने वाले दिहाड़ी मजदूरों को पूरा सपॉर्ट करें।'

बुधवार को दीपिंदर ने ट्वीट कर जानकारी साझा की। उन्होंने बताया कि इस मुहिम के अंतगर्त मात्र 17 घंटों में 1.5 करोड़ रुपये इकठ्ठे कर लिए गए हैं। उन्होंने लिखा,

'17 घंटों में ही 1.5 करोड़ रुपये इकठ्ठा कर लिए हैं। सभी को उदारता के लिए धन्यवाद। मुहिम को अधिक व्यापक बनाने के लिए 25 करोड़ रुपये इकठ्ठा करने हैं। कृपया डोनेट और शेयर करें।'

दीपिंदर की इस पहल की सोशल मीडिया पर काफी तारीफ हो रही है। लोगों ने कहा कि ऐसे कठिन वक्त में हर कंपनी और बिजनेमैन को साथ आकर देश को संकट से उबारना चाहिए। मालूम हो, कोरोना से लड़ने के लिए कई बिजनेसमैनों ने सरकार को मदद की पेशकश की है।


इनमें आनंद महिंद्रा, विजय शेखर शर्मा (पेटीएम), मुकेश अंबानी, वेदांता ग्रुप के चेयरमैन अनिल अग्रवाल जैसे नाम शामिल हैं। जहां आनंद महिंद्रा ने अपने रिसोर्ट्स को अस्थाई इमर्जेंसी सेवाओं के लिए खोलने की घोषणा की, वहीं रिलायंस ने मुंबई में एक कोरोना डेडिकेटेड अस्पताल बनवा दिया है। अनिल अग्रवाल ने इस महामारी से निपटने के लिए 100 करोड़ रुपये देने की घोषणा की है।


बता दें कि कोरोना अब तेजी से अपने पांव पसारता जा रहा है। अगर भारत की बात करें तो फिलहाल भारत में कोरोना संक्रमितों के कुल 587 केस आए हैं। इनमें सर्वाधिक महाराष्ट्र (112) और केरल (109) हैं। कुल केसों में 537 ऐक्टिव केस हैं। 40 को ठीक किया जा चुका है। इसी कारण पीएम मोदी ने मंगलवार रात देश को संबोधित करते हुए पूरे देश को 21 दिन के लिए लॉकडाउन कर दिया है।