कोरोना महामारी के बाद के सुरक्षा खतरों पर बैठक करने जा रहा है संयुक्त राष्ट्र

By yourstory हिन्दी
September 03, 2020, Updated on : Thu Sep 03 2020 07:16:30 GMT+0000
कोरोना महामारी के बाद के सुरक्षा खतरों पर बैठक करने जा रहा है संयुक्त राष्ट्र
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

हाल के वर्षों में सुरक्षा परिषद क्रमवार तरीके से बदले जाने वाले उसके अध्यक्षों द्वारा चुने गए किसी विषय पर सितंबर में होने वाली महासभा की उच्च स्तरीय बैठक के दौरान चर्चा करती है।

सांकेतिक चित्र

सांकेतिक चित्र



इस महीने होने वाली विश्व नेताओं की संयुक् राष्ट्र आम सभा के साथ सुरक्षा परिषद (यूएनएससी) भी एक उच्च स्तरीय शिखर बैठक आयोजित करेगी जिसमें कोविड-19 महामारी के अंत के बाद विश्व के समक्ष सुरक्षा खतरों पर चर्चा की जाएगी।


परिषद की क्रमिक अध्यक्षता मंगलवार को संभालने वाले नाइजर के संयुक्त राष्ट्र दूत अब्दू अबारी ने कल एक डिजिटल संवाददाता सम्मेलन में बताया कि संयुक्त राष्ट्र के सबसे शक्तिशाली निकाय की डिजिटल बैठक 24 सितंबर को होगी।


अबारी ने कहा, “कोविड-19 के बाद अंतरराष्ट्रीय शांति और सुरक्षा बरकरार रखने के संदर्भ में वैश्विक शासन” पर होने वाली बैठक संघर्ष, अपराध और महामारियों जैसी पारंपरिक सुरक्षा चुनौतियों से निपटने के साथ ही मौजूदा अंतरराष्ट्रीय व्यवस्था में “संतुलन” पर भी रोशनी डालेगी।


उन्होंने कहा कि नाइजर के राष्ट्रपति महमदू इसुफू बैठक की अध्यक्षता करेंगे और सुरक्षा परिषद के 14 अन्य सदस्य राष्ट्रों के नेताओं को निमंत्रण भेज रहे हैं।





उन्होंने कहा कि कुछ राष्ट्रों ने पहले ही संकेत दे दिये हैं कि उनके नेता इसमें शामिल होंगे। उन्होंने उन देशों का नाम नहीं बताया।


अबारी ने कहा को कोरोना वायरस महामारी के बाद एक प्रमुख मुद्दा होगा: “क्या हम किसी ज्यादा लचीली, ज्यादा न्यायोचित और ज्यादा निष्पक्ष दुनिया का ढांचा बनाने में सक्षम होंगे जिसमें अन्य चीजों के साथ पर्यावरण की कम बर्बादी हो और हम यह कर सकें कि मानवता प्रकृति के साथ सौहार्द्रपूर्ण तरीके से रह सके।”


हाल के वर्षों में सुरक्षा परिषद क्रमवार तरीके से बदले जाने वाले उसके अध्यक्षों द्वारा चुने गए किसी विषय पर सितंबर में होने वाली महासभा की उच्च स्तरीय बैठक के दौरान चर्चा करती है। इस मौके पर न्यूयॉर्क में संयुक्त राष्ट्र मुख्यालय में लोगों की खासी भीड़ जुटती है।


इस बार कोविड-19 महामारी के कारण उच्चस्तरीय बैठक लगभग पूरी तरह डिजिटल होगी।


(सौजन्य से- भाषा पीटीआई)