क्यूँ ज़रूरी है एक स्टार्टअप की ग्रोथ के लिए डाटा-आधारित फ़ैसले लेना?

By Rajat Pandey
September 12, 2022, Updated on : Mon Sep 12 2022 15:57:14 GMT+0000
क्यूँ ज़रूरी है एक स्टार्टअप  की ग्रोथ के लिए डाटा-आधारित फ़ैसले लेना?
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

एक नए प्रोडक्ट की लॉन्च के साथ-साथ नई चुनौतियां भी आती हैं. प्रोडक्ट लॉन्च करने के लिए  प्रोडक्ट को बनाने के साथ उसकी मार्केटिंग स्ट्रेटेजी,मार्केट रिसर्च, उसका इन्वेंटरी मैनेजमेंट, सोशल मीडिया पर प्रोडक्ट की मौजूदगी,उस पर लगने वाले विज्ञापन के बारे में भी बेहतरीन प्लानिंग करनी पड़ती है. प्रोडक्ट की कामयाबी इन सभी कामों के बेहतर नतीजों पर निर्भर होती है. जितनी बेहतर प्लानिंग और प्रोसेस, उतनी ही शानदार कामयाबी. मार्केट के दिग्गज ये फंडा जानते मानते हैं. अक्सर इन शुरूआती कामों में लापरवाही के चलते प्रोडक्ट अपनी टार्गेटेड ऑडियंस तक नही पहुँच पाता, जिसके चलते प्रॉफिट मार्जिन कम हो जाता है. 



राजधानी दिल्ली में YourStory के मेगा इवेंट Brand Residency 2022 में स्टार्टअप फ़ाउंडर्स और इन्वेस्टर्स की जबरदस्त मौजूदगी नज़र आई. यह इवेंट YourStory की 'Brands of New India' पहल का एक हिस्सा है, जो पिछले एक साल से देश भर में प्रोडक्ट्स और ब्रांड्स के बारे में जागरुकता फैला रही है. YourStory के इस ख़ास कार्यक्रम में अलग-अलग शहरों से आए फ़ाउंडर्स को इन्वेस्टर्स के सामने अपने आइडिया पिच करने के लिए मंच मुहैया कराया गया. एक ओर जहाँ स्टार्टअप फ़ाउंडर्स अपने आइडिया के लिए इन्वेस्टमेंट जुटाने की कोशिश कर रहे थे, तो दूसरी ओर इन्वेस्टर्स भी अपने अनुभव और बिजनेस टिप्स नए फ़ाउंडर्स के साथ साझा करते नज़र आए. और किसी दिग्गज शख्स ने सही कहा है कि कामयाबी पैसा जुटाने में नहीं, बल्कि कामयाब लोगों से उनके जज्बे और जूनून में हिस्सेदारी जुटाने से मिलती है.



कार्यक्रम के दौरान ‘Graas’ के फ़ाउंडर और सीईओ प्रेम भाटिया ने भी अपने बिजनेस मॉडल के बारे में एक ख़ास प्रेजेंटेशन दी. प्रेजेंटेशन की शुरुआत बेहद ताज़गी और अनोखे तरीके से हुई. अपनी बात रखने का ये अंदाज़ नए स्टार्टअप फाउंडर्स को मजेदार लगा. प्रेम भाटिया ने काफी विस्तार से बताया कि कैसे ‘Graas’ की मदद से स्टार्टअप फ़ाउंडर्स अपने बिजनेस को आसानी से ग्रो कर सकते हैं. प्रेम बताते हैं कि डाटा के बिना किसी भी प्रोडक्ट को नहीं बनाया जा सकता है. अगर बिना डाटा के किसी प्रोडक्ट को शुरू भी करते हैं, तो वो प्रोडक्ट मार्केट में अच्छा नहीं कर पाता. 



प्रेम मानते है कि किसी भी प्रोडक्ट को लॉन्च करने के लिए मार्केट की गहरी रिसर्च और एनालिसिस करनी जरुरी है. इस काम को सफलतापूर्वक करने में डाटा साइंस एक अहम भूमिका निभाती है. प्रेम की कंपनी ‘Graas’ डाटा के रियल टाइम वैल्यू को जेनेरेट करने का काम करती है. उनकी कंपनी बड़ी मात्रा में डाटा जुटाकर उसकी एनालिसिस करती है और अपने क्लाइंट्स को डाटा के सही इस्तेमाल के बारे में जानकारी देती है.



प्रेम एक बेहतरीन सवाल उठाते हैं, कहते हैं कि अगर वीकेंड के बाद आप अपने ऑफिस का लैपटॉप खोलें और आपको एक ही डैशबोर्ड पर आपके स्टॉक कि जानकारी,मार्केटिंग से जुड़े अपडेट, सोशल मीडिया विज्ञापन का स्टेटस,हर सिटी में प्रोडक्ट की सेल से जुडी जानकारी के साथ-साथ आने वाले दिनों में बिजनेस को बूस्ट करने कि टिप्स मिल जाए तो आपको कैसा लगेगा? 


प्रेम पूरे भरोसे और सकारात्मक ऊर्जा से भरकर कहते हैं कि ‘ग्रास आपके लिए यही करता है’



जो चीज़ें ज़रूरी हैं, उन्हें आसान करना कामयाबी का सबसे सटीक रास्ता है. प्रेम भाटिया और उनकी कंपनी ‘Graas’ यही करते हैं. प्रेम भाटिया मानते हैं कि आने वाला वक़्त डाटा, रिसर्च और साइंस का है. जिस तरफ पूरी दुनिया तेज़ी से जा रही है उस तरफ भारत और भारत के युवा उद्यमियों को भी तेज़ी से बढना चाहिए. प्रेम भाटिया और ‘Graas’ इस सफ़र में युवा भारत के साथ कदम से कदम मिलाकर चलने को बिल्कुल तैयार दिखाई देते हैं.