इस स्टार्टअप से खाना ऑर्डर करते हैं जोमैटो के फाउंडर दीपिन्दर गोयल, ग्राहकों की लिस्ट में हैं और भी बड़े नाम

By Rashi Varshney
January 23, 2020, Updated on : Thu Jan 23 2020 11:01:30 GMT+0000
इस स्टार्टअप से खाना ऑर्डर करते हैं जोमैटो के फाउंडर दीपिन्दर गोयल, ग्राहकों की लिस्ट में हैं और भी बड़े नाम
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

क्या आप जानते हैं कि हाइक फाउंडर काव्या भारती मित्तल, जोमैटो फाउंडर्स दीपिंदर गोयल और पंकज चड्ढा, चायोस फाउंडर नितिन सलूजा, क्रिकेटर विराट कोहली के भाई विकास कोहली, यूट्यूबर कुशा कपिला, सिंगर आस्था गिल, अर्बनक्लैप फाउंडर अभिराज भल के बीच क्या कॉमन है? वो जगह जहां से ये लोग अपना फूड ऑर्डर करते हैं: दिल्ली स्थित क्लाउड किचन स्टार्टअप कैटर्सपॉइंट (Caterspoint)


k

अंशु राज, कैटर्सपॉइंट के फाउंडर और डायरेक्टर



अक्टूबर 2016 में एक युवा शेफ अंशु राज द्वारा लॉन्च किया गया, कैटर्सपॉइंट एक क्लाउड किचन है जो अपने ग्राहकों को पौष्टिक, इनोवेटिव, कम कैलोरी और स्वादिष्ट भोजन डिलीवर करता है।


कैटर्सपॉइंट के संस्थापक और निदेशक अंशु राज कहते हैं,

“हम डिलीवरी मॉडल में सहूलियत और स्थिरता के लिए लोकप्रिय ब्रांड डोमिनोज से प्रेरित हैं, लेकिन हेल्दी साइड और डेली हैबिट्स में आगे हैं। इससे ग्राहकों को किसी भी समय, सुविधाजनक, ताजा और स्वस्थ भोजन देने में मदद मिली है।"


फूडटेक स्टार्टअप अपनी मेनू में हमारी माँ की रेसिपी जैसे कि सागो (साबुदाना), पोहा, उपमा, दही चावल, कस्टर्ड, खीर, और बहुत कुछ शामिल करता है। कैटर्सपॉइंट मेनू में लगभग 260 आइटम शामिल हैं, जिनमें ब्रेकफास्ट, लंच, स्नैक्स, डिनर, डेसर्ट, फ्रेश बेवरेजेस, और एग्जोटिक ऑप्शन जैसे दलिया, खिचड़ी, ओटमील, विभिन्न प्रकार के सलाद और सैंडविच शामिल हैं।


अंशु का कहना है कि हर स्पेसिफिकेशन क्लाइंट्स के साथ शेयर की जाती है ताकि वे जान सकें कि वे क्या खा रहे हैं। वे बताते हैं,

"सभी इनग्रेडिएंट्स का उल्लेख साफ तौर पर किया जाता है कि वे किस चीज के साथ मिलाए गए हैं। विभिन्न प्रकार के भोजन की दुनिया में, कैटर्सपॉइंट उन विकल्पों को सामने लाता है जो उच्च गुणवत्ता वाले इनग्रेडिएंट्स से बने होते हैं और उचित स्वच्छता को ध्यान में रखते हुए तैयार किए जाते हैं।”


वर्तमान में, कैटर्सपॉइंट गुरुग्राम और दिल्ली में चार किचन से ऑपरेट होता है, जिसमें मदर किचन डीएलएफ फेज 3, गुरुग्राम में स्थित है, और पिछले तीन वर्षों में एक मिलियन ऑर्डर डिलीवर कर चुकी है।


ग्लैम फैक्टर

कैटर्सपॉइंट की क्लाइंट लिस्ट में कविन भारती मित्तल शामिल हैं, जो सलाद और पोहा ऑर्डर करना पसंद करते हैं, और जोमाटो फाउंडर्स दीपिंदर गोयल और पंकज चड्ढा, जो पास्ता और स्नैक्स के शौकीन हैं। अन्य ग्राहकों में विराट कोहली के भाई विकास कोहली, यूट्यूबर कुशा कपिला, भारतीय पॉप सिंगर आस्था गिल, अर्बनक्लैप के सह-संस्थापक वरुण खेतान और अभिराज भाल, और इंडिया एक्सलेरेटर के फाउंडर आशीष भाटिया शामिल हैं।


अंशु कहते हैं,

“इसके अलावा, हमारे पास कॉर्पोरेट क्षेत्रों के बहुत से सीईओ, अमेरिकी और जापानी क्लाइंट्स हैं जो हमारे साथ नियमित और लगातार जुड़े हुए हैं। सलाद और सैंडविच बहुत आम हैं और मांग में हैं।"


हंगर प्वाइंट

अंशु ने अपने करियर की शुरुआत बतौर शेफ ओबेरॉय और आईटीसी जैसे ब्रांड्स से की। अंशु का कहना है कि वह हमेशा कुछ और करना चाहते थे, जिसके चलते उन्होंने 2015 में अपनी 'फाइव स्टार' जॉब छोड़ दी और फ्रैश नामक एक स्टार्टअप से जुड़ गए, जोकि एक समान मॉडल पर काम कर रहा था और हेल्दी फूड डिलीवर करता है। अंशु बतौर मुख्य परिचालन अधिकारी (सीओओ) पूरे ऑपरेशन की देखभाल करते थे, जिसके दौरान उन्होंने देखा कि लोग लागत-प्रभावी तरीके से आरामदायक हेल्दी फूड चाहते हैं।


अंशु कहते हैं,

"असंख्य विकल्प उपलब्ध हैं, लेकिन कुछ ही इस स्पेस में सफल हो पाए हैं, क्योंकि टेक्नॉलजी के विपरीत स्केलिंग में कठिनाई को पार करते हुए वे सफल हुए हैं।"


उनका कहना है कि उन्होंने मिड-सेगमेंट के इनोवेटिव फूड में गैप देखा, जहां लोग नए तरीके से ओल्ड-एज फूड चाहते हैं।


वे कहते हैं,

“इस सेगमेंट गैप को प्रमुख रूप से दो-तीन ब्रांड्स ने कैप्चर कर लिया है, लेकिन अभी भी काफी स्पेस है जिस पर फतेह पानी बाकी है। प्रयोग करने और स्वाद में बदलाव करने के अलावा, उपभोक्ता भोजन के विकल्प तलाश रहे हैं।"


अंशु कहते हैं कि इसी तरह के नियमित उपभोक्ता मुद्दों ने कैटर्सपॉइंट को जन्म दिया। टीम लगातार स्वच्छता सुनिश्चित करने के लिए काम कर रही है, और एक शानदार मैनर में गुणवत्ता वाले भोजन डिलीवर करती है। स्टार्टअप ने गुरुग्राम में अपना ऑपरेशन शुरू किया, जहां वर्तमान में उनका हेड ऑफिस स्थित है, और 2019 तक सोहना रोड, मालवीय नगर, और द्वारका जैसे दिल्ली के प्रमुख क्षेत्रों में फैल गया। कैटर्सपॉइंट पर फूड प्राइस 129 रुपये से शुरू होते हैं और अधिकतम 499 रुपये तक तक जाते हैं। उन्होंने कहा कि औसत मूल्य 450 रुपये या उससे अधिक है।


बाजार और प्रतियोगिता

चूंकि फूडटेक मार्केट एक बहुत ही कंपटीटिव मार्केट है और इंडस्ट्रीज तेज गति से एक-दूसरे के साथ कंपटीशन कर रही हैं, अंशु का दावा है कि पिछले तीन वर्षों में कैटर्सपॉइंट ने एक अलग बाजार बनाया है। पहला फैक्टर, वे कहते हैं, इनोवेटिव मेनू है और इसके द्वारा लगातार बनाए रखे जाने वाली स्वच्छता है।

क

कैटर्सपॉइंट की टीम

वे कहते हैं,

“दूसरी बात, सभी आउटलेट्स के लिए सुव्यवस्थित बैकएंड सपोर्ट। इसका मतलब है कि हमारे पास कच्चे माल की आपूर्ति, एक ऑडिट टीम और एक प्रशिक्षण टीम के लिए एक सेंट्रलाइज्ड टीम है। इससे हमें सुचारु कार्यप्रणाली के लिए मानक संचालन प्रक्रियाओं (एसओपी) को संशोधित करने और लागू करने में मदद मिलती है।"


अंशु का मानना है कि आने वाले वर्षों में, बाजार में छोटे ब्रांड फूड ट्रेंड्स का सामना नहीं कर पाएंगे जो समय के साथ बदल जाएगा। और, कैटर्सपॉइंट ने पहले ही एक ऐसा बाजार बना लिया है जो भविष्य में विस्तार करने जा रहा है।


वे आगे कहते हैं,

“फ्यूचर मार्केट में सुनिश्चित स्वच्छता और उच्च गुणवत्ता वाले भोजन की मांग होगी। यह जंगल में आग की तरह फैलेगा क्योंकि लोग अब अधिक स्वास्थ्य के प्रति सचेत हो रहे हैं।"


बिजनेस मॉडल

कैटर्सपॉइंट क्लाउड किचन-जैसे बिजनेस मॉडल पर काम करता है। क्लाउड किचन एक ऐसा रेस्तरां होता है जिसमें कोई फिजिकल स्पेस नहीं होता है और न ही डाइन-इन या टेकवेवे जैसी सुविधा होती है, क्योंकि यह किसी भी प्रकार से किसी रेस्तरां के रूप में मौजूद नहीं होते हैं। यह पूरी तरह से थर्ड-पार्टी इंटीग्रेशन या होम डिलीवरी ऑर्डर कॉल, वेबसाइट पर या ऐप के जरिए चलते हैं। अंशु बताते हैं कि क्लाउड किचन पिछले कुछ समय से मौजूद है, क्योंकि इससे कंपनियां एक रेस्तरां के लिए दो सबसे बड़ी लागत वाली चीजें - किराए का पैसा और मार्केटिंग खर्च बचा लेती हैं।


वे कहते हैं,

"इसलिए ऐसे में जो चीज मायने रखती है वो है आपके भोजन की क्वालिटी, पैकेजिंग और समय पर डिलीवरी।"


कैटर्सपॉइंट एक डार्क, साथ ही साथ क्लाउड किचन मॉडल पर ऑपरेट करता है। डीएलएफ फेज 3, गुरुग्राम, और मालवीय नगर में स्वतंत्र क्लाउड किचन मॉडल स्थापित किया गया है, और इसमें थोक ऑर्डर के लिए एक सिंगल किचन का उपयोग किया गया है।


ये दोनों रसोई Zomato पर भी रजिस्टर हैं, जहाँ ऑनलाइन ऑर्डर लिए जाते हैं। थर्ड-पार्टी इंफ्रास्ट्रक्चर सर्विस बिजनेस मॉडल एक डार्क किचन मॉडल है, जहां कंपनी थर्ड पार्टी एक्सेस किचन का उपयोग करती है, जैसा कि मौजूदा समय में स्टार्टअप द्वारका और सोहना रोड में इसी तरह के मॉडल पर ऑपरेट कर रहा है।


वे बताते हैं,

“क्लाउड किचन को ऑनलाइन फूड डिलीवरी बिजनेस को चलाने के लिए एक बेहतर तरीका माना जा रहा है जिसमें सफल लाभ मार्जिन कमाने के लिए ज्यादा जगह है। यह मॉडल बिजनेस को लचीलापन प्रदान करता है।”


बिजनेस ग्रोथ

अभी तक, कैटर्सपॉइंट को जोमैटो पर 4,000 से अधिक पॉजिटिव रिव्यू मिले हैं और यह फूड ऑर्डरिंग प्लेटफॉर्म पर सबसे अधिक खोजा जाने वाला होम डिलीवरी रेस्तरां है। बिजनेस के संदर्भ में, कैटर्सपॉइंट ने अपनी स्थापना के बाद से एक मिलियन क्लाइंट्स को सर्विस दी है, और अक्टूबर 2016 में 3 लाख रुपये की मंथली ग्रॉस मर्चेंडाइज वैल्यू से दिसंबर 2019 में 45 लाख रुपये हो गई है।


अंशू कहते हैं,

“हमारी योजना 2019-2020 में 950,000 डॉलर का रिवेन्यू कमाने की है।"


अंशु ने आगे कहा कि अगले दो वर्षों में औसत वार्षिक वृद्धि 25 से 30 प्रतिशत के बीच होने की उम्मीद है। चालू वित्त वर्ष के लिए स्टार्टअप का राजस्व 6 करोड़ रुपये है।


प्रॉफिटेबिलिटी के संदर्भ में, युवा शेफ का कहना है कि कंपनी युनिट-लेवल प्रॉफिटेबिलिटी को टारगेट कर रही है। संस्थापक का कहना है,

"हमारा पहला सेंटर वित्त-वर्ष 2018 में लाभदायक हो गया, जबकि नए सेंटर लगभग सेल्फ-सस्टेनेबल हो रहे हैं।"


अंशु कहते हैं कि अभी उनका फोकस पहले से मौजूद किचन के बेस पर बिजनेस बनाने का है।


फंडिंग और प्लान्स

अब तक, स्टार्टअप को अंशु की 30 लाख रुपये की बचत के साथ बूटस्ट्रैप किया गया है। वे कहते हैं,

“एक पारंपरिक व्यवसाय के विपरीत, हर युनिट सेल्फ सस्टेन है और उसने अगली युनिट को सपोर्ट किया है। तेजी से ग्रोथ करने के लिए कमाई को बिजनेस में लगाकर मौजूदा बिजनेस को स्व-वित्त पोषित तरीके से बिल्ड किया गया है।"


इसके अलावा, स्टार्टअप ने हल्दीराम ग्रुप वीपी, मनु ग्रोवर से 75 लाख रुपये का कर्ज भी लिया है। वर्तमान में, स्टार्टअप बैकएंड तकनीकी गैप पर काम करने, सही टैलेंट को हायर करने और अपने व्यवसाय को बढ़ाने के लिए स्टार्टअप 1 मिलियन डॉलर की एक्सटर्नल फंडिंग की ओर देख रहा है। कैटर्सपॉइंट में लगभग 60 कर्मचारी हैं। अगले 24 महीनों में, स्टार्टअप पूरे दिल्ली-एनसीआर के बाजार में केटरिंग शुरू करना चाहता है और फिर चंडीगढ़ और बेंगलुरु तक विस्तार करना चाहता है।


वे कहते हैं,

“इन शहरों में मार्केट और कन्वर्जन रेट ज्यादा है। हमारे सर्वेज और मार्केट रिसर्च के अनुसार, हमने पाया कि लोग ऑनलाइन ऑर्डर देना और डिलीवरी करना बहुत सुविधाजनक मानते हैं।"


अंशु कहते हैं कि भोजन के साथ प्रयोग करना पसंद करने वाले ग्राहकों का अनुपात तुलनात्मक रूप से अधिक है। उनका कहना है कि अगले पांच वर्षों में मिशन भारत में शीर्ष पांच सर्वश्रेष्ठ फूडटेक स्टार्टअप्स में से एक बनना है।