अपनी अनोखी 'खासियत' की वजह से वायरल हो रहा डिप्टी कलेक्टर की बेटे की शादी का कार्ड

By yourstory हिन्दी
November 14, 2019, Updated on : Thu Nov 14 2019 12:34:18 GMT+0000
अपनी अनोखी 'खासियत' की वजह से वायरल हो रहा डिप्टी कलेक्टर की बेटे की शादी का कार्ड
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

हर कोई अपनी शादी को यादगार बनाना चाहता है। इसके लिए कभी दुल्हन बुलेट पर आती है तो कभी दूल्हा जेसीबी पर आता है। कई बार लोग सारी क्रिएटिविटी शादी के लिए कार्ड छपवाने में लगा देते हैं। कहीं पर आधार कार्ड के डिजाइन वाला कार्ड तो कभी 2000 रुपये के नोट वाला कार्ड, शादियों में कार्ड के साथ-साथ बाकी के कामों पर काफी पैसा खर्च होता है।


तमिलनाडु के कांचीपुरम में डिप्टी कलेक्टर के पद पर कार्यरत सेल्वमती वेंकटेश ने अपने बेटे बालाजी की शादी में ऐसा अनूठा कार्ड छपवाया कि हर कोई उनकी तारीफ कर रहा है।


k


डिप्टी कलेक्टर सेल्वमती वेंकटेश ने अपने बेटे बालाजी की शादी का कार्ड एक रूमाल पर छपवाया है जिसे बाद में धोकर काम में लिया जा सकता है। बालाजी की शादी सारन्या से त्रिची में हो रही है और शादी की पूरी तैयारियों में पर्यावरण का खासतौर पर ध्यान रखा गया है।


न्यू इंडियन एक्सप्रेस से बात करते हुए सेल्वमती कहती हैं,

'शादी के कार्ड काफी महंगे होते हैं और शादी के एक दिन बाद उन्हें कूड़ेदान में फेंक दिया जाता है। जब भी मैं शादी के महंगे कार्ड देखती हूं तो मुझे बहुत दुख होता है क्योंकि ये किसी काम के नहीं रहते। इसलिए हमने कपड़े के रूमाल पर कार्ड प्रिंट करवाया। 2-3 बार धोने के बाद रूमाल से नाम की छपाई निकल जाती है और उसे आम रूमाल की तरह काम में लिया जा सकता है।'

कार्ड के अलावा शादियों में प्लास्टिक कप और टिशु पेपर भी बड़े पैमाने पर पर्यावरण को नुकसान पहुंचाते हैं। इसके लिए सेल्वमती ने शादी में स्टील के गिलास रखे और हर मेहमान को हाथ पोंछने के लिए कॉटन का रूमाल दिया ताकि फालतू प्लास्टिक बर्बाद ना हो।





वह बताती हैं,

'शादी में आने वाले मेहमानों के लिए अलग-अलग पौधों के 2000 बीज भी लाए गए। इनमें सब्जियों के, नीम के और बाकी पौधों के बीज शामिल हैं। मैं चाहती हूं कि कम से कम मेरे परिवार में तो पर्यावरण को लेकर जागरूकता फैले। हमने शादी के निमंत्रण पर पौधों को लगाने का तरीका भी छपवाया है ताकि लोग उसे फेंकें नहीं।' 


शादी में आए मेहमानों को दिए गए गिफ्ट्स में भी पर्यावरण का ध्यान रखा गया। गिफ्ट के तौर पर मेहमानों को एक कपड़े का बैग, एक कॉटन का रूमाल और पौधों के दो बीज दिए गए।


ऐसी शादियां ना केवल पर्यावरण बचाती हैं बल्कि आपके पैसों की भी बचत करवाती हैं। इनके जरिए पर्यावरण के साथ-साथ आपकी मेहनत की कमाई भी बचती है। आपको कैसा लगा शादी का यह अनोखा कार्ड, कॉमेंट में बताएं।