नोएडा में कोरोना वायरस को लेकर जिला प्रशासन अलर्ट, दो अस्पतालों में बनाए गए पृथक वार्ड, जारी किए हेल्पलाइन नंबर

By भाषा पीटीआई
March 04, 2020, Updated on : Wed Mar 04 2020 13:31:30 GMT+0000
नोएडा में कोरोना वायरस को लेकर जिला प्रशासन अलर्ट, दो अस्पतालों में बनाए गए पृथक वार्ड, जारी किए हेल्पलाइन नंबर
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

नोएडा, नोएडा में कोरोना वायरस के संदिग्ध मामले सामने आने के बाद जिला प्रशासन व स्वास्थ्य विभाग अलर्ट पर है। स्वास्थ्य विभाग ने हेल्पलाइन नंबर जारी किए हैं।


क

सांकेतिक चित्र (फोटो क्रेडिट: khabarndtv)



नोएडा प्रशासन से मिली जानकारी के अनुसार ये नंबर 8076623612 और 6396776904 है। बुखार, जुकाम और सांस लेने में तकलीफ होने पर लोग इन नंबर पर फोन कर सकते है। स्वास्थ्य विभाग की टीम घर जाएगी और सैंपल लेगी।


जिला अधिकारी बी एन सिंह ने कहा कि घबराने की बात नहीं है। छह लोगों के सैंपल लिए गए हैं। इसमें तीन बच्चे और तीन व्यस्क हैं। इनकी रिपोर्ट आनी बाकी है।


उन्होंने कहा कि श्री राम मिलेनियम सहित दो स्कूलों को तीन दिनों के लिए बंद किया गया है। बाकी स्कूल यदि छुट्टी कर रहे हैं तो वे अपनी मर्जी से कर रहे हैं। जिला प्रशासन की ओर से कोई निर्देश जारी नहीं किए गए हैं।


जिला अधिकारी ने बताया कि जांच में यदि संक्रमण की पुष्टि होती है तो उपचार के पूरे इंतजाम कर लिए गए हैं। दो अस्पतालों में पृथक वॉर्ड बनाए गए हैं। पहला अस्पताल ग्रेटर नोएडा में 10 बेड वाला है। दूसरा अस्पताल सेक्टर-30 का सुपर स्पेश्यिलिटी अस्पताल है जिसमें नौ बेड वाला पृथक वॉर्ड बनाया गया है।


सीएमओ डॉ. अनुराग भार्गव ने कहा,

‘‘घबराने की जरूरत नहीं है। इस वायरस से निपटने के लिए लोगों को जागरुक होना पड़ेगा। यदि वह किसी से हाथ मिलाते है तो हाथों को सेनिटाइज करें। जिस लोशन से आप सेनिटाइज कर रहे है वह एल्कोहलिक होना चाहिए। इसके अलावा हाथ मिलाने के बाद हाथों को बिना सेनिटाइज किए चेहरे , आंखो के पास और नाक के पास न रगड़े। ऐसे में यदि दूसरे व्यक्ति में संक्रमण है तो वह आप में भी फैल सकता है। लिहाजा जागरुक बने।’’


उन्होंने बताया कि शहर के दो स्कूलों के पांच बच्चों में वायरस के लक्षण मिलने की जानकारी मिली थी। जिसके बाद स्वास्थ्य विभाग की टीम ने स्कूलों का दौरा किया तथा उनके सैंपल लिए। उन्होंने बताया कि दोनों स्कूलों को छह मार्च तक के लिए बंद किया गया है। स्कूलों को पूरी तरह से सेनिटाइज करने के बाद खोला जाएगा।