नौकरी बदली है? EPF खाते में डेट ऑफ एग्जिट ऐसे करें ऑनलाइन अपडेट

By Ritika Singh
May 28, 2022, Updated on : Fri Aug 26 2022 10:28:37 GMT+0000
नौकरी बदली है? EPF खाते में डेट ऑफ एग्जिट ऐसे करें ऑनलाइन अपडेट
अब मेंबर इंप्लाॅई खुद ही EPFO सिस्टम में डेट ऑफ एग्जिट दर्ज कर सकता है. इसके लिए प्रॉसेस बेहद सरल है और कुछ ही वक्त में पूरी हो जाती है.
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (Employees' Provident Fund Organisation) ने अपने मेंबर इंप्लॉइज को सुविधा दे रखी है कि नौकरी बदलने पर वे खुद से EPFO सिस्टम में नौकरी छोड़ने की तारीख (Date of Exit) अपडेट कर सकते हैं. जनवरी 2020 से पहले जब यह सुविधा नहीं थी तो कर्मचारी को EPFO सिस्टम में डेट ऑफ एग्जिट अपडेशन को लेकर एंप्लॉयर पर निर्भर रहना पड़ता था.


लेकिन अब मेंबर इंप्लाॅई खुद ही EPFO सिस्टम में डेट ऑफ एग्जिट दर्ज कर सकता है. इसके लिए प्रॉसेस बेहद सरल है और कुछ ही वक्त में पूरी हो जाती है. आइए जानते हैं EPFO सिस्टम में डेट ऑफ एग्जिट अपडेट करने की प्रोसेस क्या है-

ये स्टेप्स करें फॉलो

  • https://unifiedportal-mem.epfindia.gov.in/memberinterface/ पर जाएं.
  • UAN, पासवर्ड और कैप्चा कोड डालकर लाॅग इन करें. ध्यान रहे कि मेंबर इंप्लाॅई का UAN एक्टिव हो.
  • अब नए खुले पेज पर ऊपर मौजूद सेक्शन में ‘मैनेज’ टैब पर क्लिक करें.
  • अब ‘मार्क एग्जिट’ विकल्प को चुनें.
  • इसके बाद ‘सिलेक्ट इंप्लॉयमेंट’ ड्रॉपडाउन खुलेगा. इसमें पुराना PF अकाउंट नंबर सिलेक्ट करें, जो UAN से लिंक हो.
  • अब स्क्रीन पर उस PF अकाउंट और जॉब से जुड़ी डिटेल दिखेंगी.
  • इसके बाद आपको नौकरी छोड़ने की तारीख और वजह का उल्लेख करना होगा. नौकरी छोड़ने की वजहों में रिटायरमेंट, शॉर्ट सर्विस जैसे विकल्प रहेंगे.
  • अपने विकल्प को चुन कर रिक्वेस्ट OTP पर क्लिक करें. OTP आपके आधार कार्ड से लिंक मोबाइल नंबर पर आएगा.
  • प्राप्त OTP को निर्धारित स्पेस में डालकर रिक्वेस्ट सबमिट करें.
  • प्रॉसेस पूरी होते ही डेट ऑफ एग्जिट EPF अकाउंट में दर्ज हो जाने का मैसेज स्क्रीन पर शो होगा.

याद रखें ये बातें

ध्यान रहे कि EPFO सिस्टम में एक बार डेट ऑफ एग्जिट अपडेट होने पर इसे बदला नहीं जा सकता. अगर नौकरी हाल ही में छोड़ी है तो डेट ऑफ एग्जिट अपडेट करने के लिए 2 महीने इंतजामर करना होगा. ऐसा इसलिए क्योंकि मेंबर इंप्लाॅई के EPF में एंप्लॉयर की ओर से आखिरी कॉन्ट्रीब्यूशन हो जाने के 2 महीने बाद ही डेट ऑफ एग्जिट अपडेट हो सकती है.