नौकरी करने वालों के लिए अच्छी खबर! सैलरी बढ़ाने की तैयारी में कंपनियां

By yourstory हिन्दी
September 26, 2022, Updated on : Tue Sep 27 2022 05:38:46 GMT+0000
नौकरी करने वालों के लिए अच्छी खबर! सैलरी बढ़ाने की तैयारी में कंपनियां
अध्ययन के तहत देश में 40 से अधिक उद्योगों की 1,300 कंपनियों के आंकड़ों का विश्लेषण किया गया है. इसमें कहा गया कि 2022 की पहली छमाही में नौकरी छोड़ने की दर 20.3 प्रतिशत के उच्च स्तर पर रही. इसलिए कंपनियों पर वेतन में वृद्धि का दबाव है. यह दर वर्ष 2021 में 21 प्रतिशत के मुकाबले कम है.
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

देश में कंपनियां अपने कारोबार में मजबूत प्रदर्शन की उम्मीद के बीच वर्ष 2023 में कर्मचारियों के वेतन में 10.4 प्रतिशत की वृद्धि कर सकती हैं. वैश्विक पेशेवर सेवा कंपनी एओएन पीएलसी के भारत में वेतन वृद्धि के ताजा सर्वेक्षण के अनुसार वेतन में 2023 के दौरान 10.4 प्रतिशत की वृद्धि होने की उम्मीद है.


यह आंकड़ा फरवरी के वेतन में 9.9 प्रतिशत की वृद्धि के अनुमान से अधिक है. वहीं, 2022 के दौरान वेतन में 10.6 प्रतिशत की वृद्धि हुई थी. अध्ययन के तहत देश में 40 से अधिक उद्योगों की 1,300 कंपनियों के आंकड़ों का विश्लेषण किया गया है. इसमें कहा गया कि 2022 की पहली छमाही में नौकरी छोड़ने की दर 20.3 प्रतिशत के उच्च स्तर पर रही. इसलिए कंपनियों पर वेतन में वृद्धि का दबाव है. यह दर वर्ष 2021 में 21 प्रतिशत के मुकाबले कम है.


सर्वेक्षण के अनुसार, यह प्रवृत्ति अगले कुछ महीने जारी रहने की संभावना है. भारत में एओन में ह्यूमन कैपिटल सॉल्यूशंस भागीदार आर. चौधरी ने कहा, ‘‘वैश्विक चुनौतियों और उच्च घरेलू मुद्रास्फीति के बावजूद 2023 में भारत में अनुमानित वेतन वृद्धि ढहाई अंकों में होगी.’’

उन्होंने कहा कि यह वृद्धि कॉरपोरेट इंडिया के उस विश्वास को दिखाता है जो उसे अपने कारोबार में तेजी से ग्रोथ को लेकर है.


चौधरी ने कहा कि हालांकि, बिजनेस लीडर्स को ऐसे फैसले लेने चाहिए जो उनके वर्कफोर्स को आज के साथ ही भविष्य में मुश्किल हालात से निकलने को लेकर आश्वस्त कर सके. उन्हें अपनी रिवार्ड स्ट्रैटेजिज की समीक्षा करने और बढ़ती लागत और वेतन के दबाव के प्रभाव को अपेक्षाकृत उच्च दर और क्रिटिकल टैलेंट मांग के साथ संतुलित करने की आवश्यकता है.


सर्वे में यह भी पाया गया कि जिन पांच क्षेत्रों में सबसे अधिक अनुमानित वेतन वृद्धि की उम्मीद है, उनमें से चार टेक्नोलॉजी से संबंधित हैं और मौजूदा वैश्विक आर्थिक अनिश्चितता के उच्चतम अस्थिरता और प्रभाव का अनुभव करते हैं.


चौधरी ने कहा कि सबसे अधिक वेतन बढ़ोतरी की उम्मीद ई-कॉमर्स सेक्टर में है जहां 12.8 फीसदी तक की बढ़ोतरी हो सकती है. इसके बाद स्टार्टअप्स में 12.7 फीसदी, हाईटेक/इंफॉर्मेश टेक्नोलॉजी और उससे जुड़ी सेवाओं में 11.3 फीसदी और फाइनेंशियल इंस्टीट्यूशंस में 10.7 फीसदी तक बढ़ोतरी हो सकती है.


इससे पहले मई में एऑन पीएलसी ने अपने सर्वे में बताया था कि  भारत में इस साल वरिष्ठ कार्यकारियों के वेतन में 8.9 प्रतिशत की वृद्धि होने की संभावना है, जो पांच साल का सबसे ऊंचा स्तर होगा. 2021 में वेतनवृद्धि 7.9 प्रतिशत रही थी.


Edited by Vishal Jaiswal