राष्ट्रीय हथकरघा दिवस के मौके पर Flipkart ने गुजरात सरकार से मिलाया हाथ

'फ्लिपकार्ट समर्थ' प्रोग्राम के तहत गुजरात के एमएसएमई, कारीगरों, बुनकरों, महिला स्वयं सहायता समूहों और शिल्पकारों को रणनीतिक समझ, प्रशिक्षण और अपने उत्पादों को बाजार में विस्तार देने के तरीकों के बारे में बताया जाएगा और इस तरह उनके लिए आजीविका के अवसर बढ़ेंगे एवं आर्थिक विकास को गति मिलेगी.

राष्ट्रीय हथकरघा दिवस के मौके पर Flipkart ने गुजरात सरकार से मिलाया हाथ

Monday August 07, 2023,

4 min Read

हाइलाइट्स

●  फ्लिपकार्ट समर्थ प्रोाग्राम के तहत यह एमओयू स्थानीय कारीगरों, एमएसएमई, शिल्पकारों एवं बुनकरों का सहयोग करते हुए गुजरात के सामाजिक-आर्थिक विकास में योगदान देगा

●  फ्लिपकार्ट समर्थ ने प्लेटफॉर्म को ज्यादा लोकतांत्रिक बनाते हुए और राष्ट्रीय स्तर पर बाजार तक पहुंच सुनिश्चित करते हुए 15 लाख से ज्यादा कारीगरों की आजीविका पर सकारात्मक प्रभाव डाला है

राष्ट्रीय हथकरघा दिवस (National Handloom Day) के मौके पर भारत के घरेलू ई-कॉमर्स मार्केटप्लेस Flipkart ने फ्लिपकार्ट समर्थ (Flipkart Samarth) प्रोग्राम के तहत कुटीर एवं ग्रामोद्योग आयुक्त के साथ एक समझौता ज्ञापन (MoU) के माध्यम से गुजरात सरकार से हाथ मिलाया है. इस एमओयू का लक्ष्य प्रत्येक जिले में शिल्प के विकास पर केंद्रित हस्तकला सेतु योजना के अंतर्गत पंजीकृत स्थानीय कारीगरों को डिजिटल करना और राज्य की कमजोर होती शिल्पकला को पुनर्जीवित करना है. फ्लिपकार्ट समर्थ प्रोग्राम फ्लिपकार्ट मार्केटप्लेस के माध्यम से राष्ट्रीय बाजारों तक पहुंच उपलब्ध कराएगा.

इस प्रोग्राम के तहत गुजरात के एमएसएमई, कारीगरों, बुनकरों, महिला स्वयं सहायता समूहों और शिल्पकारों को रणनीतिक समझ, प्रशिक्षण और अपने उत्पादों को बाजार में विस्तार देने के तरीकों के बारे में बताया जाएगा और इस तरह उनके लिए आजीविका के अवसर बढ़ेंगे एवं आर्थिक विकास को गति मिलेगी.

राष्ट्रीय हथकरघा दिवस के मौके पर कारीगरों, महिला स्वयं सहायता समूहों, बुनकरों और हथकरघा समुदाय को सम्मान देते हुए गुजरात सरकार के उद्योग, सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम, कुटीर, खादी एवं ग्रामोद्योग, नागरिक उड्डयन, श्रम एवं रोजगार मंत्री बलवंतसिंह राजपूत, सहकारिता, नमक उद्योग, प्रिंटिंग एवं स्टेशनरी, प्रोटोकॉल (सभी स्वतंत्र प्रभार), सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम, कुटीर, खादी एवं ग्रामोद्योग, नागरिक उड्डयन राज्य मंत्री जगदीश पांचाल, कुटीर एवं ग्रामोद्योग आयुक्त एवं सचिव आईएएस प्रवीण के. सोलंकी और गुजरात राज्य हथकरघा एवं हस्तशिल्प विकास निगम लिमिटेड (GSHHDC) के प्रबंध निदेशक आईएएस ललित नारायण सिंह संधु की उपस्थिति में एमओयू साझा किया गया.

इस अवसर पर गुजरात सरकार के उद्योग, सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम, कुटीर, खादी एवं ग्रामोद्योग, नागरिक उड्डयन, श्रम एवं रोजगार मंत्री बलवंतसिंह राजपूत ने कहा, "यह एमओयू राज्य के प्रतिभाशाली स्थानीय कारीगरों, बुनकरों और छोटे उद्यमियों को सशक्त करने एवं उनके जीवन स्तर को सुधारने के लिए हमारी प्रतिबद्धता की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम है. ई-कॉमर्स उन्हें अपने उत्पादों को अधिक लोगों तक पहुंचाने में सक्षम बनाएगा. यह रणनीतिक गठजोड़ हमारी समृद्ध सांस्कृतिक विरासत को संरक्षित करते हुए आर्थिक एवं सामाजिक विकास को गति देने के गुजरात सरकार के लक्ष्य के ही अनुरूप है."

इस गठजोड़ को लेकर सहकारिता, नमक उद्योग, प्रिंटिंग एवं स्टेशनरी, प्रोटोकॉल (सभी स्वतंत्र प्रभार), सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम, कुटीर, खादी एवं ग्रामोद्योग, नागरिक उड्डयन राज्य मंत्री जगदीश पांचाल ने कहा, "हमें भारत के घरेलू ई-कॉमर्स मार्केटप्लेस फ्लिपकार्ट के साथ साझेदारी की खुशी है. यह साझेदारी राज्य के स्थानीय कारीगरों, बुनकरों और छोटे उद्यमों के विकास के हमारे प्रयासों की दिशा में महत्वपूर्ण कदम है. ई-कॉमर्स की क्षमता का लाभ लेते हुए हम उन्हें अपने शिल्प एवं उत्पादों को राष्ट्रीय स्तर पर ज्यादा से ज्यादा लोगों तक पहुंचाने का अवसर देने के लिए प्रतिबद्ध हैं. यह रणनीतिक गठजोड़ राज्य में आर्थिक एवं सामाजिक विकास को गति देने और सांस्कृतिक विरासत को संरक्षित करते हुए एमएसएमई के लिए अनुकूल माहौल बनाने के हमारे लक्ष्य के अनुरूप है."

फ्लिपकार्ट ग्रुप के चीफ कॉरपोरेट अफेयर्स ऑफिसर रजनीश कुमार ने कहा, "भारत के आर्थिक विकास में योगदान की अथक प्रतिबद्धता के साथ फ्लिपकार्ट लाखों स्थानीय कारोबारियों को ई-कॉमर्स को अपनाने के उनके सफर में सहयोग देने के लिए समर्पित है. हम गुजरात के कुटीर एवं ग्रामोद्योग आयुक्त से गठजोड़ करने और फ्लिपकार्ट की क्षमता एवं विशेषज्ञता का लाभ लेते हुए विकास के नए आयाम गढ़ने को लेकर उत्साहित हैं. साथ मिलकर हम ऐसी राह पर बढ़ेंगे जिससे कारोबारी सशक्त होंगे, विकास की मानसिकता को बढ़ावा मिलेगा और गुजरात के ग्रामीण समुदायों के जीवन पर सकारात्मक प्रभाव पड़ेगा. अपनी फ्लिपकार्ट समर्थ पहल के माध्यम से हमने सरकार के मेक इन इंडिया और आत्मनिर्भर भारत अभियान को अपनाया है और देशभर में लाखों कारीगरों, बुनकरों और शिल्पकारों की आजीविका को सकारात्मक तरीके से प्रभावित किया है."

कुटीर एवं ग्रामोद्योग विभाग के साथ फ्लिपकार्ट की साझेदारी से निम्नलिखित लक्ष्य साधे जाएंगे:

  • कारीगरों एवं बुनकरों के जीवन स्तर को सुधारना और रोजगार के अवसर सृजित करना

  • गुजरात में एक साझा मूल्य सृजित करना, जिसमें कारीगरों एवं बुनकरों के लिए बाजार तक अतिरिक्त पहुंच, लिंकेज और कारोबारी समावेशन को केंद्र में रखा जाएगा

  • स्थानीय कारीगरों को वेयरहाउस, अकाउंट मैनेजमेंट, कैटलॉगिंग और अन्य सेवाओं के माध्यम से सहयोग करना, जिससे प्लेटफॉर्म के माध्यम से उनका कारोबार आगे बढ़ सके

  • स्थानीय कारोबारों को डिजिटल करने के लक्ष्य के साथ फ्लिपकार्ट समर्थ पहल के लिए मजबूत आधार बनाना, उत्पादों को बढ़ावा देने के लिए रणनीतिक जानकारियां प्रदान करना और कारीगरों एवं बुनकरों के लिए राष्ट्रीय स्तर पर बाजार तक पहुंच सुनिश्चित करना

  • फ्लिपकार्ट और गुजरात के विक्रेता समुदाय के बीच साझेदारी को मजबूती देना और बुनकरों एवं कारीगरों के विकास के लिए प्रशिक्षण एवं अन्य लाभ देते हुए टाइम-बाउंड सपोर्ट प्रदान करना
यह भी पढ़ें
ITO 2023: दुनिया के 10,000 स्कूलों के 3 लाख शिक्षकों के भाग लेने का अनुमान